myjyotish

6386786122

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Blogs Hindi ›   Shani Jayanti 2022: All Shani Dosh are away from the mere darshan in Shani Dham

Shani Jayanti 2022: शनि धाम में दर्शन मात्र से दूर होते है सभी शनि दोष

MyJyotish Expert Updated 27 May 2022 10:36 AM IST
शनि धाम में दर्शन मात्र से दूर होते है सभी शनि दोष
शनि धाम में दर्शन मात्र से दूर होते है सभी शनि दोष - फोटो : google

शनि धाम में दर्शन मात्र से दूर होते है सभी शनि दोष


किसी के भी जीवन में शनि की साढ़े साती या ढईया आती ही हैं . इंसान बड़ा या छोटा नहीं देखता है सबके राशियों के हिसाब से आना ही है. शनि देव को नवग्रह का न्यायाधीश कहा जाता है . वो कर्मफल दाता है सबको अपने अपने कर्म के अनुसार दंडित करते है . देवी देवता भी इनसे नहीं बच पाए है . ऐसा माना जाता है जब शनि का दोष चल रहा होता है तो इंसान अनेकों तरह के मानसिक परेशानियों से गुजरता हैं .   उस समय इंसान सोचता हैं कि ऐसा हम क्या करे की हमको शनि दोष से छुटकारा मिले , उपायों के लिए शनि देव के मन्दिर भी जाता है . आइए उसमे में से कुछ मंदिर के दर्शन करते है  ...

 शिंगणापुर मन्दिर, महाराष्ट्र 
 

 ये अहमदनगर जिले के शिंगणापुर गांव में है.  शनि देव की कृपा  हर जगह होती है बस हमको श्रद्धा से पूजा अर्चना करना चाहिए . ऐसी ही ये एक जगह है यहां  शनि देव  संगमरमर के  है. यहां के किसी भी घर के दरवाजे में ताला नहीं लगता हैं  और न ही कभी चोरी होता हैं .ऐसी मान्यता है कि  अगर जो चोरी करता है तो अगले दिन उसकी मृत्यु हो जाती हैं या उसका कोई भी अंग खराब हो जाता है . यहाँ शनि जयंती के दिन प्रसिद्ध ब्राह्मणों को बुलाकर लघुरद्रभिषेक करवाया जाता है ।

शनि जयंती पर शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक 

तरूनल्लरू मन्दिर, तामिलनाडु 

ये तमिलनाडु के तंजवुर  जिले में है . ये दो नदियों के बीच स्तिथ है . शनि देव की यहा विशेष महिमा है  , मान्यता है की यहा के पूजा से राशियों को बदला जा सकता है . ये ऐसी मंदिर है जहा शनि देव के साथ शिव जी की भी पूजा होती हैं . यहा दोनों देवताओं की एक साथ कृपा मिलती है ।

कोकिलावन धाम मथुरा , यूपी 

  यह  मथुरा में कोसी कलां  में  प्रसिद्ध है  शनि देव का मन्दिर । यह मन्दिर जंगलों के बीच घिरा हुआ है . ऐसी मान्यता है की सात शनिवार सरसों का तेल चढ़ाने से शनि दोष खत्म हो जाता है . यहा शनि देव के मंदिर के साथ साथ इनके गुरु बरखंडी बाबा का भी प्राचीन मन्दिर है .माना जाता है की भगवान श्री कृष्ण ने शनि देव को इसी जगह पर कोयले के रूप में दर्शन दिए थे .  इस जगह पर शनि देव के साथ– साथ  राधा रानी और श्री कृष्ण की भी पूजा अर्चना होती है ।

प्रसिद्ध ज्योतिषियों से मिलेगा आपकी हर परेशानी का समाधान, आज ही करें बात 

शनि धाम मन्दिर, नई दिल्ली 

यह मन्दिर दिल्ली की राजधानी छतरपुर में है . यह एक अच्छा पर्यटक स्थल भी है . यहा पर शनि देव की मूर्ति विश्व में सबसे ऊंचा है प्राकृतिक मूर्ति है जो इसे देवता के रूप में पूजा जाता है । ऐसी  मान्यता है की यहा शनिवार को पूजा अर्चना करने से शनि कष्ट दूर होती हैं ।

शनि मन्दिर तुमकुर कर्नाटक  

यहां शनि देव कौआ पर विराजमान है . यहां देव को पूजा कुछ अलग ही की जाती है , मान्यता है की शनि देव को कला तिल और तेल चढ़ाने से हमारे कष्टों का निवारण होता है . ये मंदिर कर्नाटक के तुमकुर जिले में है  . कहते है की यहां पर शनि देव की विधि विधान से पूजा करने से सभी प्रकार के दोषो से मुक्त हो जाता हैं ।
 

ये भी पढ़ें


जन्मकुंडली ज्योतिषीय क्षेत्रों में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है
 
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support


फ्री टूल्स

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X