शनि साढ़े साती पूजा - Shani Sade Sati Puja Online
myjyotish
हेल्पलाइन नंबर

9818015458

  • login

    Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Astrology Services ›   Puja ›  

Shani Sade Sati Puja Online

शनि साढ़े साती पूजा - Shani Sade Sati Puja Online

By: माई ज्योतिष विशेषज्ञ

Rs. 2,000
Buy Now

शनि की साढ़े साती और ढैय्या से होने वाली समस्याएं :-

  • आर्थिक दिक्कतें
  • मनचाही नौकरी में परेशानियां
  •  व्यापार में उतार चढ़ाव
  • पारवारिक कलह- कलेश
  • विवाह में अड़चन आना
  • स्वास्थ्य खराब रहना
  • भवन निर्माण में रुकावट आना
  • कार्य स्थल पर अपमान का सामना करना

शनि देव को सूर्य पुत्र एवं कर्म फल दाता के रूप में जाना जाता है। यह एक लंबे अंतराल के बाद एक राशि से दूर राशि में प्रवेश करता है। यह एक मात्र ग्रह है जिसकी अनुकम्पा से मोक्ष की प्राप्ति होती है। यदि इसके शुभ प्रभाव किसी पर पड़ जाएं तो उससे भाग्यशाली इस पूरे संसार में कोई नहीं रह जाता। वही दूसरी ओर यदि इसके दुष्प्रभाव किसी पर पड़ जाएं तो उसका सारा जीवन उथल -पुथल हो जाता है। उसके जीवन में परेशानिया बढ़ने लगती है। इन परेशानियों से मुक्ति प्राप्तकर शनि देव की कृपा प्राप्ति के लिए उनका तेल अभिषेक किया जाता है जिससे वह बहुत प्रसन्न होतें है तथा अपने भक्तों के सभी कष्टों को दूर कर देतें है।

कोकिलावन शनिदेव मंदिर मथुरा शहर के नंदगाव स्थित है।मान्यताओं के अनुसार द्वापर युग में श्री कृष्ण के दर्शनों के लिए शनि महाराज ने कठोर तपस्या की थी। शनि की तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान श्री कृष्ण ने कोयल के रुप में शनि महाराज को दर्शन दिया थे। जिसके कारण ही इस स्थान को आज कोकिला वन के नाम से जाना जाता है। कहते हैं जो यहां शनि महाराज की पूजा करते हैं  उन्हें शनि की दशा, साढ़ेसाती और ढैय्या में शनि नहीं सताते।वह भक्त जो यहाँ शनि देव का पूजन करते है उनपर शनि की दृष्टि का वक्र नहीं पड़ता बल्कि उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है। पूर्ण श्रद्धा से उनकी आरधना व तेल अभिषके करवाने से दूर हो जाती है यह दिक्कतें।

हमारी सेवाएं :-
हमारे पंडित जी द्वारा तेल अभिषेक से पहले आपको संकल्प करवाया जाएगा। अभिषेक संपन्न होने के बाद प्रसाद भी भिजवाया जाएगा।
प्रसाद:

  • काला धागा : गले में पहनने हेतु
  • शनि चालीसा
  • शनि छल्ला : शनि  पीड़ा से मुक्ति के लिए

पूजा का प्रसाद लॉकडाउन के बाद भिजवाया जाएगा।

जानिये हमारे पंडित जी के बारे में

अस्वीकरण : myjyotish.com न तो मंदिर प्राधिकरण और उससे जुड़े ट्रस्ट का प्रतिनिधित्व करता है और न ही प्रसाद उत्पादों का निर्माता/विक्रेता है। यह केवल एक ऐसा मंच है, जो आपको कुछ ऐसे व्यक्तियों से जोड़ता है, जो आपकी ओर से पूजा और दान जैसी सेवाएं देंगे।

Benefits of Online Shani Sade Sati Puja

Saturn is the most dreaded as well as the most influential planets in the birth chart of every individual. It plays a very important part in determining the fortune of a person, the position of Saturn, if unfavourable can be a major threat to the peace and happiness of an individual. Shadi Sade Sati puja is a very important part of Indian astrology. It helps a native who may be facing the 7.5 years phase of gloominess due to the unfavourable positioning of shani.With the revolutionary technology being introduced, performing the Shani Sade Sati puja is now possible and accessible even using online media.Various astrological websites provide the service of online Shani Sade Sati puja at the comfort of your homes. All the activities involved under the process take about 5-6 hours and the native is continuously kept in touch with the help of videos of the ritual being conducted by the priests.The Prasad of the puja is delivered to the native through courier service. The delivery of Prasad symbolises the transfer of the good energy and benefits of the Puja to the native.

शनि साढ़े साती पूजा ऑनलाइन कराने के लाभ

शनि नवग्रहों में सर्वश्रेष्ठ माने जातें है। शनि पूजा से शनि के दुष्प्रभावों से मुक्ति मिलती है। शनि न्याय प्रिय देव है , उन्हें कल्याणकारी माना जाता है। उनकी दृष्टि में कोई बड़ा या छोटा नहीं है। सभी के लिए उनके नियमों की सूचि समान रूप से ही बनाई गई है। परन्तु जब शनि किसी से रुष्ट होतें है तो उसे शनि का भारी प्रकोप झेलना पड़ता है। शनि की कुदृष्टि पड़ने का अर्थ है , शनि की साढ़े - साती , शनि ढैय्या जैसे अशुभ प्रभावों के आगमन का नगाड़ा बजना। शनि के शुभ प्रभावों को प्राप्त करने का एक ही उपायें है , सदैव शनि को प्रसन्न रखना। शनि को खुश करने के लिए शनि पूजन बहुत आवश्यक है।  इससे शनि की साढ़े साती एवं ढैय्या से प्रकोप से दुरी बनाने में बहुत लाभ होता है। शनि के प्रभावों का बुरा असर व्यक्ति के जीवन को तहस - नहस कर देता है। शनि पूजा से यह सब कुप्रभाव भी दूर हो जातें है। यदि कोई व्यक्ति शनि के अशुभ प्रभावों से परेशान है और अपने जीवन को इस व्यथा से मुक्त करना चाहता है तो वह ऑनलाइन शनि पूजा का सहारा ले सकता है। इसके माध्यम से घर बैठें सभी ऑनलाइन शनि साढ़े साती पूजा के लाभ उठा सकतें है। जिससे व्यक्ति को कही जाने की जरुरत नहीं , अर्थात घर बैठें वह सरलता से शनि की अशुभ छाया से बाहर आकर अपना सुखद जीवन व्यतीत कर सकेगा।

Ratings and Feedbacks

  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X