myjyotish

6386786122

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Blogs Hindi ›   Success Mantra: Bad company is like coal, even after leaving, there is soot in hand

Success Mantra : कोयले के समान होती है बुरी संगत, छोड़ने के बाद भी हाथ में कालिख लगा जाती है

Myjyotish Expert Updated 07 Nov 2022 12:33 PM IST
Success Mantra : कोयले के समान होती है बुरी संगत, छोड़ने के बाद भी हाथ में कालिख लगा जाती है
Success Mantra : कोयले के समान होती है बुरी संगत, छोड़ने के बाद भी हाथ में कालिख लगा जाती है - फोटो : google

Success Mantra : कोयले के समान होती है बुरी संगत, छोड़ने के बाद भी हाथ में कालिख लगा जाती है


गरम तवे पर गिरी पानी की बूंद मिट जाती है लेकिन जब वही बूंद सीप पर गिरती है तो वो मोती में बदल जाती है. जीवन में संगति के मायने समझने के लिए पढ़ें ये लेख. कोयले के समान होती है बुरी संगत, छोड़ने के बाद भी हाथ में कालिख लगा जाती है संगति पर प्रेरक वाक्य,

मात्र रु99/- में पाएं देश के जानें - माने ज्योतिषियों से अपनी समस्त परेशानियों 

जीवन में साथ के बड़े मायने होते हैं. संगति अच्छी हो या फिर बुरी, उसका असर इंसान पर जरूर पड़ता है. यदि आप बुरे व्यक्ति का साथ करते हैं तो आप उसके उसके साथ रहने वाले कलंक से नहीं बच पाएंगे. इसी प्रकार यदि आप किसी संत या भले मानुष के साथ रहते हैं तो उसकी अच्छी बातों का कुछ न कुछ असर जरूर पड़ेगा, लेकिन कुछ लोग कमल के पत्ते के समान भी होते हैं, जिसमें कीचड़  की यदि बूंछ भी गिर जाए तो वह उस पर नहीं टिकती है.

रहीमदास जी ने अपने दोहे के माध्यम से स्पष्ट करते हुए कहा है कि जिस तरह चंदन के पेड़ पर लिपटे सर्प भी उसकी शीतलता को दूर नहीं कर पाते हैं, उसी प्रकार सज्जन व्यक्तियों पर दुर्जन लोगों का कोई असर नहीं पड़ता है. आइए जीवन में संगति का क्या प्रभाव होता है:

अच्छी या बुरी संगति का असर व्यक्ति के जीवन में पड़ता है। गलत लोगों की संगत करने पर कुछ समय के लिए तो सुख मिलता है लेकिन बाद में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। यह बात खनैताधाम में आयोजित हो रही भागवतकथा के पहले दिन खनैता महंत रामभूषणदास महाराज ने कही।

इससे जुड़े 5 अनमोल वाक्यों के माध्यम से जानते हैं:

बुरी संगत उस मीठे जहर के समान होती है जो शुरुआत में तो मीठी लगती है, लेकिन अंत में हमारे लिए जानलेवा साबित होती है.

जन्मकुंडली ज्योतिषीय क्षेत्रों में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है

बुरी संगत उस मीठे जहर के समान होती है जो शुरुआत में तो मीठी लगती है, लेकिन अंत में हमारे लिए जानलेवा साबित होती है.

जिस व्यक्ति को बुरी संगत लग गई हो, उसे किसी दुश्मन की जरूरत नहीं होती है. कहने का मतलब ये कि बुरी संगत उसे धीरे-धीरे बर्बाद करके ही छोड़ती है.

जीवन में संगति का बहुत ज्यादा असर होता है. मंथरा की संगति के कारण कैकेयी हमेशा के लिए बदनाम हो गई तो वहीं संतों और सज्जनों की संगति के कारण विभीषण का उद्धार हो गया.

बेईमान व्यक्ति की संगति करने पर आपके भीतर बेईमानी की भावना उत्पन्न होगी, लेकिन जब वही बेईमान व्यक्ति अच्छी संगति से जुड़ता है तो उसकी दिशा-दशा ही बदल जाती है.

कबीरदास जी के अनुसर संतों की संगति कभी भी बेकार नहीं जाती है, बिल्कुल वैसे ही जैसे मलयगिरि की सुगंधी उड़कर लगने से नीम भी चन्दन हो जाता है, फिर उसे कभी कोई नीम नहीं कहता है.
 

ये भी पढ़ें

  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support


फ्री टूल्स

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X