myjyotish

6386786122

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Blogs Hindi ›   Shadashtak Yoga: Sun and Rahu will form an inauspicious yoga called Shadashtak, know for whom this time will b

Shadashtak Yog: सूर्य - राहु के साथ बनाएगा षडाष्टक नामक अशुभ योग, जानिए किसके लिए होगा ये समय खास

Myjyotish Expert Updated 10 Sep 2022 10:30 AM IST
षडाष्टक योग : सूर्य - राहु के साथ बनाएगा षडाष्टक नामक अशुभ योग, जानिए किसके लिए होगा ये समय खास
षडाष्टक योग : सूर्य - राहु के साथ बनाएगा षडाष्टक नामक अशुभ योग, जानिए किसके लिए होगा ये समय खास - फोटो : google

षडाष्टक योग : सूर्य - राहु के साथ बनाएगा षडाष्टक नामक अशुभ योग, जानिए किसके लिए होगा ये समय खास 


ज्योतिष शास्त्र में कुछ योग बदलाव के लिए काफी महत्वपूर्ण होते हैं. इन योग के कारण आस-पास की स्थिति काफी परेशानी देने वाला होगा. इस योग के प्रभाव से सामाजिक, राजनीतिक, भोगौलिक रुप से जीवन में काफी चीजों के लिए उत्तरदायी बन जाता है. इस समय कशमकश की स्थिति अधिक परेशानी देने वाली होती है.

विरोधाभास और संघर्ष अधिक बना रहता है.  इस में एक योग जो षडाष्टक योग के नाम से चर्चित रहा है वह भी इसी तरह के परिणाम देता है. इस समय सूर्य-राहु का षडाष्टक योग अभी सूर्य के राशि बदलाव के साथ इस योग का निर्माण होगा. 

मात्र रु99/- में पाएं देश के जानें - माने ज्योतिषियों से अपनी समस्त परेशानियों का हल

कब बनेगा षडाष्टक योग 
17 सितंबर को सूर्य कन्या राशि में प्रवेश करेगा. सूर्य और राहु के साथ षडाष्टक योग बनेगा. कन्या राशि में गोचर कर राहु के साथ सबसे अशुभ योग बनाएंगे. अब इस योग में सूर्य देव के द्वारा, जानिए किसको होगा फायदा या कौन झेल सकता है अधिक परेशानी. ज्योतिष में सूर्य ग्रह को शक्ति, सम्मान, पिता, उच्च पद, अधिकार का कारक ग्रह माना गया है. सूर्य हर एक महीने के बाद राशि बदलता है. सूर्य स्व राशी सिंह से निकलकर शनिवार 17 सितंबर 2022 को 7.11 बजे बुध कन्या राशि में प्रवेश करेगा. सूर्य एक माह तक कन्या राशि में रहेगा. उसके बाद 17 अक्टूबर को तुला राशि में गोचर करेंगे.

राहु-सूर्य मिलकर बना रहे हैं षडाष्टक योग
पंचांग के अनुसार जब सूर्य कन्या राशि में बुध का गोचर करेगा तो मेष राशि में राहु के साथ एक बहुत ही खतरनाक षडाष्टक योग बनेगा. ज्योतिष शास्त्र में दो ग्रहों की युति से बनने वाले सबसे अशुभ योगों में षडाष्टक योग की गणना की जाती है. राहु और सूर्य के इस संबंध के कारण किसी देश में किसी बड़े व्यक्तित्व या नेता की मृत्यु हो सकती है. कोई बड़ी प्राकृतिक आपदा आ सकती है. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई देशों के बीच तनाव की संभावना बन रही है.

इन राशियों पर होगा प्रभाव 

मेष राशि - सूर्य के गोचर के प्रभाव से आपके सभी कार्य पूरे होंगे. सेहत में सुधार होगा. जो छात्र प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं. सूर्य का कन्या राशि में यह गोचर उनके लिए अनुकूल समय लेकर आएगा.

जन्मकुंडली ज्योतिषीय क्षेत्रों में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है

कर्क राशि - सूर्य के कन्या राशि में गोचर का प्रभाव आपके स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव डालेगा. इससे आपका स्वास्थ्य ठीक रहेगा. आपकी शारीरिक और मानसिक परेशानियां खत्म होंगी. करियर के क्षेत्र में आपको हर काम में सफलता मिलेगी. ऑफिस में सहकर्मियों और उच्चाधिकारियों का पूरा सहयोग मिलेगा.

कन्या राशि - कन्या राशि के लिए इस समय काम के क्षेत्र में वृद्धि बनी रह सकती है. अभी जल्दी के फैसले से बचना होगा. जितना संभव हो काम में अपनी उतनी ही क्षमता दिखाएं, जितना आवश्यक हो. किसी भी प्रकार की नीतियों को नियम के अनुसार माने, बदलाव का अच्छा समय होगा. 

वृश्चिक राशि -  इससे आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा. आर्थिक समस्या का समाधान होगा, आमदनी में वृद्धि होगी इससे अच्छा पैसा कमाने की प्रबल संभावना है. पारिवारिक जीवन में सुख-शांति बनी रहेगी. आपके आसपास का वातावरण सुखद और शांतिपूर्ण रहेगा.
 

ये भी पढ़ें

  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support


फ्री टूल्स

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X