myjyotish

6386786122

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Blogs Hindi ›   Lord Shiva Puja: Keep these important things in mind while worshiping Lord Shiva

Lord Shiva Puja: भगवान शिव की पूजा करते समय ध्यान रखें ये जरूरी बातें,

Acharya RajRani Updated 09 Jan 2023 01:41 PM IST
भगवान शिव की पूजा करते समय ध्यान रखें ये जरूरी बातें,
भगवान शिव की पूजा करते समय ध्यान रखें ये जरूरी बातें, - फोटो : google

भगवान शिव की पूजा करते समय ध्यान रखें ये जरूरी बातें


भगवान शिव पूजन द्वारा समस्त सुख एवं समृद्धि की प्राप्ति होती है. शिव पूजन के लिए प्रत्येक दिन ही शुभ है, इसके आलावा अगर सोमवार के दिन सच्चे मन से भगवान शिव की पूजा की जाए तो सभी संकटों से मुक्ति मिलती है और सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं. शिव हमेशा अपने भक्तों पर कृपा बरसाते हैं. मान्यता है कि भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए सुबह जल्दी उठकर स्नान करके भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए.

इस दिन भगवान शंकर के साथ माता पार्वती और नंदी को गंगाजल अर्पित करना चाहिए. साथ ही इस दिन भगवान शिव को विशेष रूप से चंदन, अक्षत, बिल्व पत्र, धतूरा या आंकड़े के फूल चढ़ाने चाहिए. ये सभी चीजें भगवान शिव को प्रिय हैं. इन्हें चढ़ाने पर भोलेनाथ प्रसन्न होकर अपनी कृपा बरसाते हैं. सोमवार के दिन भगवान शिव को घी, शक्कर और गेहूं के आटे का प्रसाद चढ़ाना चाहिए.

मात्र रु99/- में पाएं देश के जानें - माने ज्योतिषियों से अपनी समस्त परेशानियों 

इसके बाद धूप-दीप से आरती करनी चाहिए. इसके बाद गुरुजनों, बड़ों और परिवार, मित्रों सहित प्रसाद ग्रहण करें. मान्यता है कि सोमवार के दिन महामृत्युंजय मंत्र का 108 बार जाप करने से भगवान शिव की विशेष कृपा प्राप्त होती है. सोमवार के दिन शिवलिंग पर कच्ची गाय का दूध चढ़ाने से भगवान शिव की कृपा हमेशा बनी रहती है. इसके अलावा भगवान के अन्य मंत्रों का जाप करने से भी भगवान की कृपा बरसती है. 

शिव पूजा में इन बातों का रखें विशेष ध्यान
शिव पूजा में कई ऐसी चीजें चढ़ाई जाती हैं जो किसी अन्य देवता को नहीं चढ़ाई जातीं, जैसे आक, बिल्वपत्र, भांग आदि. इसी प्रकार शिव पूजन में कुछ ऎसी चीजों की मनाही होती है जो अन्य देवताओं को अप्रित की जाती हैं लेकिन शिव को नहीं. इसमें कुछ नाम इस प्रकार हैं. भगवान शिव की पूजा में हल्दी नहीं चढ़ाई जाती है. हल्दी का इस्तेमाल मुख्य रूप से सौंदर्य प्रसाधनों में किया जाता है.

शास्त्रों के अनुसार शिवलिंग पुरुषत्व का प्रतीक है, इसीलिए महादेव को हल्दी नहीं चढ़ाई जाती है. फूल के रुप में शिव को केतकी और केवड़े के फूल चढ़ाना वर्जित है. शास्त्रों के अनुसार भगवान शिव को कुमकुम और रोली नहीं लगाया जाता है. शिव पूजा में शंख वर्जित है, शंख भगवान विष्णु को अत्यंत प्रिय है, लेकिन भगवान शिव ने शंखचूड़ नामक राक्षस का वध किया था, इसलिए भगवान शिव की पूजा में शंख वर्जित माना गया है.

जन्मकुंडली ज्योतिषीय क्षेत्रों में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है

अधिकांश लोग जीवन में सफल नहीं हो पा रहे हैं क्योंकि जीवन नकारात्मकता से भरा हुआ है. भगवान शिव की पूजा करने से आपके जीवन से हर तरह की नकारात्मकता खत्म हो जाती है. चाहे वह मानसिक हो या शारीरिक, वह आपको एक सकारात्मक जीवन की ओर ले जाएगा. अगर आपको लगता है कि आप अपनी आंतरिक शक्ति को खो रहे हैं और अपने बारे में आश्वस्त महसूस नहीं करते हैं, तो भगवान शिव की पूजा करने का आश्रय लेना चाहिए. वह खोया हुआ आत्मविश्वास वापस पाने के लिए आपका मार्गदर्शन करता है और भीतर से पहले से कहीं ज्यादा मजबूत बना देगा.
 

ये भी पढ़ें

  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support


फ्री टूल्स

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X