myjyotish

6386786122

   whatsapp

6386786122

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Blogs Hindi ›   Chanakya Niti: Love is the basis of every relationship, this thing of Chanakya has special importance for love

Chanakya Niti: प्यार हर रिश्ते का आधार होता है, चाणक्य की इस बात का प्रेमियों के लिए है विशेष महत्व

Myjyotish Expert Updated 20 Mar 2023 11:14 AM IST
Chanakya Niti: प्यार हर रिश्ते का आधार होता है, चाणक्य की इस बात का प्रेमियों के लिए है विशेष महत्व
Chanakya Niti: प्यार हर रिश्ते का आधार होता है, चाणक्य की इस बात का प्रेमियों के लिए है विशेष महत्व - फोटो : google
विज्ञापन
विज्ञापन

प्यार हर रिश्ते का आधार होता है, चाणक्य की इस बात का प्रेमियों के लिए है विशेष महत्व 

चाणक्य की गिनती भारत के श्रेष्ठ विद्वानों में होती है. चाणक्य को आचार्य चाणक्य और कौटिल्य के नाम से भी जाना जाता है. चाणक्य के बारे में कहा जाता है कि उन्हें शास्त्र और शस्त्र दोनों के प्रयोग का गहरा ज्ञान था. उनके पास दृष्टि थी. चाणक्य ने अपनी पुस्तक चाणक्य नीति में हर विषय पर राय दी है. चाणक्य ने प्यार से जुड़ी कुछ अहम बातें भी बताई जरूर जानना और समझना चाहिए-

मात्र रु99/- में पाएं देश के जानें - माने ज्योतिषियों से अपनी समस्त परेशानियों

चाणक्य नीति के अनुसार किसी भी रिश्ते में तब तक अपनेपन और समर्पण की भावना पैदा नहीं हो सकती जब तक उसमें प्रेम की भावना न हो. जब प्यार का जन्म होता है तभी रिश्ते में मजबूती आती है. इसलिए अगर रिश्ते को मजबूत और लंबे समय तक बनाए रखना है तो उसमें प्यार की भावना को कभी भी कम नहीं होने देना चाहिए.

चाणक्य के अनुसार प्यार के साथ-साथ सम्मान और सम्मान भी बहुत जरूरी है. हर रिश्ते का सम्मान करना चाहिए और जितना हो सके उतना सम्मान देना चाहिए. प्यार पर आधारित रिश्ते में कभी भी आदर और सम्मान की कमी नहीं होनी चाहिए. अहंकार और स्वयं को श्रेष्ठ समझने की भूल के कारण मान-सम्मान में कमी आ जाती है. इससे बचना चाहिए. प्रेम में अहंकार का भाव नहीं होना चाहिए. इससे रिश्ता कमजोर होता है.

जन्मकुंडली ज्योतिषीय क्षेत्रों में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है

चाणक्य नीति के अनुसार रिश्ते प्यार के साथ-साथ भरोसे पर भी टिके होते हैं. भरोसा बनाना बहुत मुश्किल है. भरोसा बनाने में समय लगता है, लेकिन उसे तोड़ने में एक पल भी नहीं लगता. किसी भी रिश्ते की पवित्रता बनाए रखने में भरोसा अहम भूमिका निभाता है. भरोसा तभी घटता है जब रिश्ते में झूठ की एंट्री होती है. आपसी संबंधों में झूठ के लिए कोई जगह नहीं होनी चाहिए.

चाणक्य नीति के अनुसार जहां प्रेम हो वहां क्रोध से बचना चाहिए. संयम और विनम्रता से क्रोध को नष्ट किया जा सकता है. करीबी लोग भी गुस्से वाले व्यक्ति से दूरी बना लेते हैं. क्रोधित व्यक्ति अपना ही नहीं दूसरों का भी नुकसान करता है.
 

ये भी पढ़ें

  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support
विज्ञापन
विज्ञापन


फ्री टूल्स

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X