myjyotish

6386786122

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Live ›   Blogs Hindi ›   Ramzan 2022 LIVE Updates : know details about ramzan month

Ramzan 2022 LIVE Updates : रमजान,प्रार्थना एवं पवित्र महीने के उपवास के दिन

Myjyotish Expert Updated 03 May 2022 12:57 PM IST
Ramzan 2022 LIVE Updates : know details about ramzan month
रमजान,प्रार्थना एवं पवित्र महीने के उपवास के दिन - फोटो : Myjyotish

खास बातें

LIVE Ramzan 2022, रमज़ान : यह पवित्र महीना माना जाता है जब अल्लाह मुसलमानों पर अपना अत्यधिक आशीर्वाद देता है। व्रत रखने की रस्म महीने में सबसे महत्वपूर्ण घटना है। मुसलमान किसी भी तरह की कुप्रथा में शामिल होने से खुद को दूर रखते हैं। इस्लामी धर्म बुराई को क्रोध, ईर्ष्या, लालच, वासना, द्वेष, गपशप आदि के रूप में सख्ती से परिभाषित करता है। उपवास की अवधि के दौरान संभोग निषिद्ध है। शारीरिक और मानसिक स्तर पर भी पवित्रता बनी रहती है। उपवास की रस्म का नाम हैसवमी, जो फिर से एक अरबी शब्द है।

लाइव अपडेट

12:56 PM, 03-May-2022
क्यों चांद देख कर मनाई जाती है ईद

रमजान के महीना 30 दिन का होता है। इस महीने में सभी मुस्लिम लोग रोज़े रखते है और अपने भगवान की इबादत करते है। लेकिन ईद मनाने से पहले चांद जरूर देखा जाता है जिस दिन चांद दिखता है उसके अगले दिन ही ईद मनाई जाती है क्योंकि इस्लामिक मान्यताओं के अनुसार मुहम्मद साहब ने चांद के दिखने और गायब होने पर महीनों और दिन का हिसाब तय किया था। इसलिए मुस्लिम समुदाय के लोग चांद देखने के बाद ही ईद मनाते है।

इस बार की ईद रही बेहद ख़ास

आज पूरे भारत मे ईद-उल-फितर का आरव मनाया जा रहा है। इस बार की ईद मुस्लिम समुदाय के लोगों के लिए बेहद खास रही है। क्योंकि इस बार पूरे 30 रोज़े रखे गए है वरना कई बार चांद का दीदार पहले हो जाने के कारण 29 रोज़े ही रखे जाते है।

अधिक जानकारी के लिए आप Myjyotish के अनुभवी ज्योतिषियों से बात करें।
12:34 PM, 03-May-2022
जानें किस तरह मनाते हैं ईद

मुस्लिम समुदाय के सबसे बड़े त्योहार ईद पर घरों में मीठे पकवान, खासतौर पर सेवई बनाई जाती है. इस पकवान का नाम शीर-कोरमा है. इस्लाम धर्म का यह त्योहार गिले शिकवे भूल कर आपस में भाईचारे का संदेश देता है। 

ईद के दिन सभी लोग जल्दी उठकर नहा-धोकर नए कपड़े पहनते हैं और ईद की पहली नमाज़ सलात अल फज्र पढ़ी जाती है. मुस्लिम समुदाय के हर व्यक्ति के लिए रमज़ान में यानी ईद के पहले फितरा देना फर्ज़ होता है. जिसमें हर व्यक्ति गरीबों को पौने दो किलो अनाज या उतनी कीमत देता है.

ईद पर अपने प्रियजनों को भेजें यह शुभकामना संदेश
11:54 AM, 03-May-2022
ईद के दिन की शुरुआत 

मुस्लिम समुदाय के लोगों के लिए ईद का त्योहार मुख्य त्योहारों में से एक है. रमजान के पाक महीने के आखिरी दिन जब चांद का दीदार होता है तो उसके अगले दिन ईद मनाई जाती है. इसे मीठी ईद के नाम से भी जाना जाता है. वहीं ईद को रमजान महीने के अंत का प्रतीक भी माना जाता है. मुस्लिम समुदाय के लोग इस दिन धर्मार्थ काम जैसे गरीबों को दान देना, किसी भूखे को खाना खिलाना आदि करते हैं.

वहीं अल्लाह की इबादत कर नमाज भी पढ़ते हैं. इसके बाद खजूर या कुछ मीठा खाते हैं। इसके साथ ही ये सद्भाव और खुशियों का त्योहार शुरू हो जाता है। लोग एक दूसरे के गले मिलते हैं और उपहार देते हैं। सभी रिश्तेदार और दोस्त एक दूसरे के घर जाते हैं। घरों में तरह-तरह के व्यंजन बनाए जाते हैं। 

ईद पर अपने प्रियजनों को भेजें यह शुभकामना संदेश
11:24 AM, 03-May-2022
ईद उल-फितर और ईद उल-अजहा का महत्व 

इस्लामी कैलेंडर के भीतर, दो अलग-अलग ईद त्योहार हैं, जिनमें से प्रत्येक कुछ अलग उत्सव में है. इन त्योहारों को ईद उल-फितर और ईद उल-अज़हा के नाम से जाना जाता है. ईद उल-फितर रमजान के पवित्र महीने के अंत और शव्वाल की शुरुआत को दर्शाता है, जो इस्लामी कैलेंडर में 10 वां महीना है. ईद उल-फितर उपवास के अंत को चिह्नित करने के लिए तीन दिवसीय उत्सव होता है. एक को मीठी ईद कहा जाता है और दूसरी को बकरीद के नाम से जाना जाता है. ईद का पर्व प्रेम करने का संदेश देती है, तो बकरीद अपना फर्ज निभाने का और अल्लाह पर भरोसा रखने का संदेश है 

ईद उल-फितर का क्या मतलब है

तो ईद क्या है? ईद का अनुवाद "उपवास तोड़ने का त्योहार" है, जो इसे रमजान के महीने भर के उपवास के अंत के उत्सव के रूप में मनाया जाता है. यह त्यौहार दुनिया भर में मुसलमानों के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण समय है, जिससे परिवारों को एक साथ शामिल होने और उत्सव में भाग लेते हुए देखा जाता है. एक महीने के संयम और अल्लाह के प्रति समर्पण के बाद, त्योहार मुसलमानों को खुद को उसकी पूजा को पूरा करने की अनुमति देता है जो विश्वास और आस्था के साथ संपन्न होता है. 

जन्मकुंडली ज्योतिषीय क्षेत्रों में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है
11:01 AM, 03-May-2022
ईद का इतिहास

ईद की शुरुआत मदीना नगर से उस वक्त हुई थी, जब मोहम्मद मक्का से मदीना आए थे। मोहम्मद साहब ने कुरान में दो पवित्र दिनों को ईद के लिये निर्धारित किया था। इस तरह से साल में दो बार ईद मनाई जाती है। जिसे ईद-उल-फितर और ईद-उल-अजहा कहा जाता है।
 
10:29 AM, 03-May-2022
ईद-उल-फितर का महत्व

मुस्लिम समुदाय के लिए ईद-उल-फितर बेहद खास है। ये अल्लाह का शुक्रिया अदा करने का दिन है। इस्लामिक चंद्र कैलेंडर में नौवां महीना रमजान का है। वहीं दसवां महीना शव्वाल है। शव्वाल का पहला दिन दुनिया भर में ईद-उल-फितर के त्योहार के रूप में मनाया जाता है। शव्वाल का अर्थ है, 'उपवास तोड़ने का त्योहार।'

ईद पर अपने प्रियजनों को भेजें यह शुभकामना संदेश
09:52 AM, 03-May-2022
रमज़ान के महीने में सिर्फ अल्लाह की इबादत का हुक्म है इसलिए इस महीने में किसी भी प्रकार की फिल्मे और म्यूज़िक न ही देखना चाहिए और न ही सुनना चाहिए। 

रोज़ा रखने के बाद टूथब्रश नही करना चाहिए। आप चाहें तो रोज़ा रखने से पहले और रोज़ा खुलने के बाद आप टूथब्रश कर सकते हैं। 

रोज़ा बहुत पाक चीज़ है इसलिए इस महीने में शारीरिक संबंध नही बनाने चाहिए क्योकि रोज़े के दौरान शारीरिक संबंध बनाने से व्यक्ति नापाक हो जाता है और उसका रोज़ा टूट जाता है।

जन्मकुंडली ज्योतिषीय क्षेत्रों में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है
09:31 AM, 03-May-2022
रमज़ान के पाक महीने में क्या न करें 

 
रमज़ान का महीना अल्लाह की इबादत का पाक महीन् है। इस महीने में क्या करना चाहिए यह तो सब जानते है जैसे की इस पाक महीने के 30 दिन रोज़े रखें जाते और पांच वक्त की नमाज़ पढ़ते है। यह महीना अल्लाह की इबादत के लिए सबसे अच्छा महीना है। इस महीने में की गई अल्लाह की इबादत का 70 गुना सवाब मिलता है। लेकिन कुछ कार्य ऐसे भी हैं जिन्हें इस महीने में नही करना चाहिए।  

रोज़ा रखने वाला व्यक्ति कुछ खा-पी नहीं सकता है यह बात सभी जानते है लेकिन क्या आप जानते है की रोज़ा रखने वाले व्यक्ति को दवाई खाने की भी मनाही है। यदि आप बिना दवाई खाये नही रह सकते है तो ऐसे में आप रोज़ा न रखें। 

ईद पर अपने प्रियजनों को भेजें यह शुभकामना संदेश
06:51 PM, 02-May-2022
रोजा़, आध्यात्मिक और सामाजिक उद्देश्यों को करता है पूरा  

रमजान मुस्लिमों का पवित्र महीना है, जिसे, दुनिया के मुसलमान किसी न किसी रूप में इसका पालन करते हैं. मुसलमानों के लिए रमजान साल का सबसे पवित्र महीना है. कहा जाता है कि जब रमजान का महीना शुरू होता है, तो स्वर्ग के द्वार खोल दिए जाते हैं और नरक के द्वार बंद कर दिए जाते हैं और शैतानों को जंजीर से बांध दिया जाता है. इस महीने के दौरान कुरान के पहले इस्लाम के पवित्र पाठ, मोहम्मद को "द नाइट ऑफ पावर" के रूप में जाना जाता है.

रमजान के पूरे महीने में मुसलमान रोज सुबह से सूर्यास्त तक रोजा रखते हैं. यह आध्यात्मिक अनुशासन का समय होता है. ईश्वर के साथ अपने संबंधों के चिंतन, प्रार्थना, दान, उदारता, और कुरान का गहन अध्ययन करने का समय होता है.प्रियजनों के साथ बिताने के लिए यह उत्सव और आनंद का समय है. रमजान के अंत में ईद अल-फितर रोजे एक बड़ा उत्सव होता है. यह एक धार्मिक अवकाश है जहां हर कोई परिवार और दोस्तों के साथ होते हैं एक दूसरे को उपहारों का आदान-प्रदान किया जाता है यह एक बहुत ही शुभ समय होता है. 

ईद पर अपने प्रियजनों को भेजें यह शुभकामना संदेश
06:13 PM, 02-May-2022
रमज़ान में क्यों किया जाता है खजूर का ज्यादा इस्तेमाल? पढ़ें हैरान करने वाले फायदे


1. रमज़ान का पाक महीना चल रहा है। इस महीने में खजूर का उपयोग बढ़ जाता है लेकिन क्या आप जानते है की ऐसा क्यों होता है। ऐसा इसमें पायें जाने वाले गुणों के कारण है। आज हम आपको इससे जुड़ी कुछ जरुरी बातें बतायेंगे जिन्हें पढ़कर आप भी खजूर का सेवन आरंभ कर देंगे। 

2. खजूर में कई प्रकार के पोषक तत्व पायें जाते है जैसे की केलशियम, मेगनिशयम, फ़ोसफोऱस के साथ-साथ प्रोटिन, फाईबर, आयरन और कई तरह के विटामिन भी इसमें पाये जाते है।
 
3. इसके सेवन से आंखों की रोशनी तेज़ होती है,  हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत रखता है और साथ ही इसके सेवन से पाचन तंत्र ठीक रहता है और यह हृदय को भी स्वस्थ रखता है।

4. खजूर के सेवन से व्यक्ति खुद को तरोताज़ा महसूस करता है इसलिए रोज़ा में खजूर का सेवन किया जाता है ताकि व्यक्ति पूरे दिन खुद को तरोताज़ा और जोशिला महसूस करें।

अधिक जानकारी के लिए आप Myjyotish के अनुभवी ज्योतिषियों से बात करें।
05:48 PM, 02-May-2022
ईद-उल-फितर इतिहास और महत्व:

माना जाता है कि पैगंबर मुहम्मद को पवित्र कुरान का पहला रहस्योद्घाटन रमजान के पवित्र महीने के दौरान ही हुआ था. ईद-उल-फितर का समय विशेष प्रार्थना और सभी नकारात्मक कार्यों, विचारों और शब्दों से दूरी रखते हुए पवित्रता एवं शांति का पर्व है और यह अल्लाह के प्रति प्रेम एवं सम्मान प्रकट करने का समय होता है. दुनिया भर के मुसलमान ईद-उल-फितर की नमाज़ में हिस्सा लेते हैं.

इस दिन लोग नए कपड़े पहनते हैं, गरीबों को ज़कात देते हैं, मिठाइयाँ बाँटते हैं और बिरयानी, हलीम, निहारी, कबाब और सेवइयाँ सहित कई तरह के व्यंजन खाए जाते हैं. इसके अतिरिक्त, बच्चों को बड़ों से उपहार और धन प्राप्त होता है, जिसे ईदी कहा जाता है. 

जन्मकुंडली ज्योतिषीय क्षेत्रों में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है
05:24 PM, 02-May-2022
ईद-उल-फितर कब है?

इस साल, ईद-उल-फितर 2 मई, 2022 से शुरू होने की उम्मीद है, और 3 मई, 2022 को समाप्त होगा. चांद दिखने के अनुसार वास्तविक तारीख भिन्न हो सकती है. ईद-उल-फितर पूरे रमजान में रोजों की समाप्ति और शव्वाल महीने की शुरुआत का प्रतीक होता है. रमजान के पाक महीने में रोजे रखने के बाद रोजेदार ईद मनाते हैं.

मान्यता है कि इस दिन पैगंबर हजरत मुहम्मद साहब ने बद्र के युद्ध में जीत हासिल की थी और इसी जीत की खुशी में इस्लाम के अनुयायी हर साल ईद मनाते हैं. इस बार की ईद इसलिए भी खास है क्योंकि इस बार पूरे 30 रोजे रखे गए. वरना कई बार चांद का दीदार पहले हो जाने पर 29 दिन के ही रोजे हो पाते हैं. 

जन्मकुंडली ज्योतिषीय क्षेत्रों में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है
05:01 PM, 02-May-2022
रमजान : रहमतों से भरा महिना 


ईद-उल-फितर 2022: ईद-उल-फितर रमजान के पवित्र महीने के समापन का प्रतीक होता है. इसे दुनिया भर में मुस्लिम समुदाय द्वारा मनाया जाता है. ईद-उल-फितर, जिसे मीठी ईद के रूप में भी जाना जाता है, एक लम्बे समय से चले आ रहे रोजों की समाप्ति तथा जीवन की शुभता का प्रतीक है, जो रमजान के पूरे महीने में मनाया जाता है. ईद-उल-फितर पर, प्रत्येक  मुसलमान अल्लाह का शुक्रिया अदा करते हैं. इस  दिन नए वस्त्र पहनते हैं, विशेष व्यंजन तैयार करते हैं, जकात(दान) करते हैं, और अपने प्रियजनों के साथ मिलते हैं. यह त्योहार शव्वाल के पहले दिन मनाया जाता है यह वह महीना जो हिजरी कैलेंडर में रमजान के बाद आता है. 


ईद पर अपने प्रियजनों को भेजें यह शुभकामना संदेश
04:36 PM, 02-May-2022
रमजान के बाद

रमजान के महीने का अंत तीन दिनों के लिए मनाया जाता है जिसे ईद-उल-फितर कहा जाता है । रमजान महीने के बाद के पहले दिन को कहा जाता हैशावाल. ईद-उल-फितर चारों तरफ खुशियां और प्यार फैलाना है। मुसलमान अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के घर ईद-उल-फितर की मुबारकबाद देने के लिए ईद मुबारक कहते हैं। ईद वह त्योहार है जब सभी मुसलमान नए कपड़े पहनते हैं और आपस में मिठाइयों और उपहारों का आदान-प्रदान करते हैं और स्वादिष्ट भोजन करते हैं। यह सभी मुसलमानों के लिए एक महीने के उपवास के बाद जश्न मनाने का समय है।
04:16 PM, 02-May-2022
रमजान के दौरान

रमजान, उपवास के महीने में मूल रूप से मुसलमानों की ईश्वर के प्रति भक्ति शामिल है। पूरे रमजान महीने में मुसलमान मस्जिद जाते हैं और इबादत करते हैं। रात के दौरान वे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के घर जाते हैं और अगली सुबह उपवास करते हैं।
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support


फ्री टूल्स

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X