myjyotish

6386786122

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Blogs Hindi ›   Vrishbh Sankranti: Will give success in the works to worship the Sun God on Taurus Sankranti

Vrishbh Sankranti: वृषभ संक्रांति पर सूर्य देव का पूजन दिलाएगा कार्यों में सफलता

MyJyotish Expert Updated 14 May 2022 12:50 PM IST
वृषभ संक्रांति पर सूर्य देव का पूजन दिलाएगा कार्यों में सफलता 
वृषभ संक्रांति पर सूर्य देव का पूजन दिलाएगा कार्यों में सफलता  - फोटो : google

वृषभ संक्रांति पर सूर्य देव का पूजन दिलाएगा कार्यों में सफलता 


पंचांग अनुसार वृषभ संक्रांति का पर्व सौर मास पर आधारित है तथा आने वाले सौर मास के आरंभ को दर्शाता है. वृष संक्रांति 15 मई 2022 को रविवार के दिन मनाई जाएगी. यह समय अतंत महत्वपुर्ण समय होता है क्योंकि यह संक्रमण का समय होता है. सूर्य का संक्रमण एक राशि से दूसरी राशि पर जाना संक्रांति सौर मास कहलाता है. वृषभ संक्रांति त्योहार दूसरे महीने की शुरुआत का प्रतीक होता है. इस दौरान सूर्य का ग्रह मेष राशि से वृषभ राशि में परिवर्तन होता है. सूर्य का यह गोचर मेष राशि से वृष राशि में गोचर के अनुरूप है तथा अनुकूल है.

वृषभ संक्रांति मराठी, कन्नड़, गुजराती और तेलुगु कैलेंडर में 'वैशाख' के महीने में होती है और उत्तर भारतीय पंचांग में, यह हिंदू महीने 'ज्येष्ठ' के दौरान मनाई जाती है. वृषभ संक्रांति दक्षिणी भारत के राज्यों में वृषभ संक्रांति के रूप में भी प्रसिद्ध है और सौर कैलेंडर के अनुसार वृषभ संक्रांति नए मौसम की शुरुआत का प्रतीक है. यह तमिल पंचांग में वैगासी मासम, मलयालम में एडवम मासम और बंगाली कैलेंडर में ज्येष्ठो मश के आगमन का भी प्रतीक है. उड़ीसा राज्य में, इस दिन को 'ब्रष संक्रांति' के रूप में मनाया जाता है. अपने अलग अलग रुपों और नामों से मनाई जाने वाली ये संक्रांति देश भर में बहुत धूम धाम से मनाई जाती है. 

अब हर समस्या का मिलेगा समाधान, बस एक क्लिक से करें प्रसिद्ध ज्योतिषियों से बात 

वृष संक्रांति पर पुण्यकाल समय

पुण्य काल मुहूर्त 15 मई, 5:49 पूर्वाह्न - 15 मई, 12:23 अपराह्न
महा पुण्य काल मुहूर्त 15 मई, 5:49 पूर्वाह्न - 15 मई, 8:01 पूर्वाह्न
संक्रांति क्षण मई 15, 2022 5:35 पूर्वाह्न

वृषभ संक्रांति का पौराणिक महत्व 

संस्कृत में 'वृषभ' शब्द का अर्थ है 'बैल', हिंदू धर्म में, 'नंदी', भगवान शिव के वाहन को एक बैल माना जाता है. धार्मिक ग्रंथ इन दोनों के बीच किसी न किसी रूप में संबंध दिखने को मिलता है, इसलिए वृषभ संक्रांति के उत्सव का हिंदू भक्तों के लिए अत्यधिक धार्मिक महत्व होता है. सुखी और समृद्ध जीवन का आशीर्वाद पाने के लिए लोग इस शुभ दिन पर भगवान विष्णु की पूजा करते हैं. भक्त इस दिन भगवान सूर्य देव का पूजन भक्ति भाव के साथ करते हैं जगत की आत्मा सूर्य है जो जीवन चक्र को सुनिश्चित करती है. जीवन में मुक्ति पाने और मोक्ष प्राप्त करने के लिए भी इस दिन भगवान से प्रार्थना करते हैं. 

बुद्ध पूर्णिमा को सामूहिक ब्राह्मण भोज करवाकर पाएँ ऋण से मुक्ति और पुण्यों में वृद्धि, बढ़ेगा धन-धान्य

वृषभ संक्रांति पर किए जाने वाले कार्य 
  • वृषभ संक्रांति के शुभ दिन पर, हिंदू भक्त दान करते हैं क्योंकि यह बहुत शुभ और पुण्य कर्मों का आधार माना जाता है. वृषभ संक्रांति के दिन किसी वेदपाठी ब्राह्मण को पवित्र गाय दान करने की प्रथा 'गोदान' को बहुत शुभ माना जाता है. 
  • कुछ भक्त इस दिन व्रत भी रखते हैं, जिसे 'वृषभ संक्रांति व्रत' के नाम से जाना जाता. इस दिए किए जाने वाला व्रत रखने से सूर्य देवी की कृपा प्राप्त होती है. इस दिन सूर्योदय से पूर्व उठ कर पवित्र स्नान किया जाता है. सूर्य देव का पूजन होता है. भक्त भगवान शिव के नाम 'ऋषभरुदर' की पूजा करते हैं. भक्त वृषभ संक्रांति पर भगवान विष्णु के मंदिरों में जाते हैं भगवान से प्रार्थना करते हैं कि उन्हें शुभ ज्ञान की प्राप्ति हो. पुरी स्थित भगवान जगन्नाथ मंदिर में इस दिन के लिए विशेष व्यवस्था की जाती है. इस दिन विशेष 'भोग' तैयार करते हैं. भगवान से प्रार्थना करने के बाद, भोग को परिवार के अन्य सदस्यों के साथ बांटा और खाया जाता है. 
  • इस दिन तीर्थ स्थलों पर यात्रियों की भीड़ रहती है क्योंकि भक्त इस दिन संक्रांति स्नान करते हैं. इस पवित्र स्नान को करके वे सूर्य देव और अपने पूर्वजों को भी श्रद्धांजलि देते हैं. वृषभ संक्रांति पर लोग अपने मृत पूर्वजों को शांति प्रदान करने के लिए पितृ तर्पण भी करते हैं

अधिक जानकारी के लिए, हमसे instagram पर जुड़ें ।

अधिक जानकारी के लिए आप Myjyotish के अनुभवी ज्योतिषियों से बात करें।
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support


फ्री टूल्स

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X