myjyotish

6386786122

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Blogs Hindi ›   Panchak 2024: Mrityu Panchak will start from the day of Lohri, know its effect.

Panchak 2024 : लोहड़ी के दिन से शुरु होगा मृत्यु पंचक जान लें इसका प्रभाव

Acharya Rajrani Sharma Updated 10 Jan 2024 02:07 PM IST
Panchak 2023: शुरू हो रहा है पंचक, अगले पांच दिनों तक बिल्कुल न करें ये काम
Panchak 2023: शुरू हो रहा है पंचक, अगले पांच दिनों तक बिल्कुल न करें ये काम - फोटो : my jyotish

खास बातें

Panchak 2024 : लोहड़ी के दिन से शुरु होगा मृत्यु पंचक जान लें इसका प्रभाव 
 
Panchak And Its Effect 13 जनवरी 2024 को शनिवार के दिन से पंचक का आरंभ होगा. इस साल लोहड़ी के पर्व के दिन पंचक की स्थिति बनी रहने वाली है. यह साल का पहला पंचक भी होगा जो शनिवार के दिन  से शुरू हो रहा है और इसे मृत्यु पंचक के रुप में जाना जाएगा. 

Panchak 2024 : लोहड़ी के दिन से शुरु होगा मृत्यु पंचक जान लें इसका प्रभाव 

Panchak And Its Effect 13 जनवरी 2024 को शनिवार के दिन से पंचक का आरंभ होगा. इस साल लोहड़ी के पर्व के दिन पंचक की स्थिति बनी रहने वाली है. यह साल का पहला पंचक भी होगा जो शनिवार के दिन  से शुरू हो रहा है और इसे मृत्यु पंचक के रुप में जाना जाएगा. 

Panchak according to astrology ज्योतिष अनुसार कुछ विशेष नक्षत्रों के मेल से बनने वाले विशेष योग को पंचक कहा जाता है. यह योग चंद्रमा के गोचर से संभव होता है. जब चंद्रमा कुंभ और मीन राशि पर रहता है तो उस समय को पंचक कहा जाता है. 

ज्योतिष अनुसात जब चंद्रमा इन राशियों में होते हुए कुछ विशेष नक्षत्रों में विचरण करता है तो पंचक की स्थिति बनती है. चंद्रमा का प्रवेश जब इन नक्षत्रों, धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वा भाद्रपद, उत्तरा भाद्रपद और रेवती पर होता है तो पंचक की स्थिति बनती है. ज्योतिष अनुसार इन समय को पंचक कहा जाता है . प्राचीन ज्योतिष शास्त्र में आमतौर पर यह माना जाता है कि पंचक में कुछ कार्य नहीं किए जाते हैं .
 
panchak in lohri festival इस वर्ष लोहड़ी पर्व के समय के दिन ही साल के पहले पंचक का आरंभ हो रहा है. पंचक को हिंदू कैलेंडर में एक ऐसा नक्षत्र कहा जाता है जो एक विशेष समय माना गया है. इस समय के दौरान कई कामों को न करने की बात कही जाती है. जिसमें शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं . 

मकरसंक्रांति पर स्वस्थ, समृद्ध और सुखद जीवन के लिए हरिद्वार में करवाएं, माँ गंगा और सूर्य की आरती 15 जनवरी 2024
 

पंचक क्या होते हैं 

what is panchak  ज्योतिष के अनुसार पंचक को एक ऎसा समय कहा गया है जिसे शुभ नहीं माना जाता है. पंचक को अशुभ नक्षत्रों का योग माना जाता है. कुछ नक्षत्रों के मेल से बनने वाले विशेष योग को पंचक कहा जाता है . जब चंद्रमा कुंभ और मीन राशि पर रहता है तो उस समय को पंचक कहा जाता है. ज्योतिष अनुसात जब चंद्रमा कुछ विशेष नक्षत्रों में विचरण करता है तो पंचक की स्थिति बनती है. चंद्रमा का प्रवेश जब इन नक्षत्रों, धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वा भाद्रपद, उत्तरा भाद्रपद और रेवती पर होता है तो पंचक की स्थिति बनती है. ज्योतिष अनुसार इन समय को पंचक कहा जाता है . प्राचीन ज्योतिष शास्त्र में आमतौर पर यह माना जाता है कि पंचक में कुछ कार्य नहीं किए जाते हैं .
 

साल का पहला पंचक होगा मृत्यु पंचक  

दिक ज्योतिष में ग्रहों और नक्षत्रों का बहुत ध्यान रखा जाता है . इनमें पंचक का भी बहुत महत्वपूर्ण स्थान है . पंचक के दौरान कई कार्य वर्जित होते हैं जिन्हें न करने की बत कही गई है. वैदिक ज्योतिष के अनुसार चंद्रमा एक राशि में ढाई दिन तक रहता है . जब चंद्रमा कुंभ और मीन राशि में गोचर करता है तो यह अवधि ढाई और पांच दिन की हो जाती है . इन पांच दिनों में धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वाभाद्रपद, उत्तराभाद्रपद और रवेती नक्षत्र होते हैं और इस पांच दिन की अवधि को पंचक कहा जाता है .ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सभी पंचकों का प्रभाव अलग-अलग होता है. 

कौन सा पंचक क्या प्रभाव देगा, यह इस बात के अनुसार तय होता है कि पंचक किस दिन प्रारंभ हुआ है. शनिवार से शुरू होने वाला पंचक मृत्यु पंचक कहलाता है.

मकरसंक्रांति पर कराएं 108 आदित्य हृदय स्रोत पाठ - हवन एवं ब्राह्मण भोज, होगी दीर्घायु एवं सुखद स्वास्थ्य की प्राप्ति - 15 जनवरी 2024 – शिप्रा घाट उज्जैन
 

पंचक में किन बातों का रखा जाता है ध्यान what things are kept in mind in panchak

पंचक में दक्षिण दिशा की ओर यात्रा करना,  लकड़ी, भूसा,  पीतल, तांबा  का भंडारण करना, घर की छत डालना, खाट, कुर्सी, चटाई आदि बुनना मना होता है. पंचकों में पांच गुना हानि-लाभ और रोग-मृत्यु आदि की संभावना रहती है इसी कारण से इस समय को अनुकूल नहीं माना गया है.
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support


फ्री टूल्स

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X