myjyotish

6386786122

   whatsapp

6386786122

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Blogs Hindi ›   Panchak 2023: Panchak is starting, do not do this work at all for the next five days

Panchak 2023: शुरू हो रहा है पंचक, अगले पांच दिनों तक बिल्कुल न करें ये काम

my jyotish expert Updated 02 Aug 2023 12:01 PM IST
Panchak 2023: शुरू हो रहा है पंचक, अगले पांच दिनों तक बिल्कुल न करें ये काम
Panchak 2023: शुरू हो रहा है पंचक, अगले पांच दिनों तक बिल्कुल न करें ये काम - फोटो : my jyotish
विज्ञापन
विज्ञापन
हिंदू धर्म में पंचक को अशुभ माना जाता है, पांच दिनों तक चलने वाले पंचकों में कुछ काम करना शुभ होता है, लेकिन ऐसे कई काम हैं जिन्हें पंचक के दौरान करने की मनाही है, हिंदू धर्म में कोई भी शुभ या मांगलिक कार्य शुरू करने से पहले शुभ और अशुभ समय जरूर देखा जाता है. मान्यताओं के अनुसार ऐसा माना जाता है कि शुभ मुहूर्त में किए गए कार्यों में सफलता अवश्य मिलती है. इसी कारण से  पंचक समय में कई तरह के काम करने की मनाही होती है. पंचांग के अनुसार हर महीने में पांच दिन ऐसे होते हैं जिनमें कई जरूरी कार्य वर्जित होते हैं, इन दिनों के मेल को पंचक कहा जाता है, जानिए अगस्त में पंचक के दौरान कौन से काम करना वर्जित है,
 
सावन शिवरात्रि पर 11 ब्राह्मणों द्वारा 11 विशेष वस्तुओं से कराएं महाकाल का सामूहिक महारुद्राभिषेक एवं रुद्री पाठ 2023

हिंदू कैलेंडर के अनुसार, पंचक 2 अगस्त से शुरू होता है और 6 अगस्त को समाप्त होता है, जानिए इस दौरान कौन से काम करना वर्जित है. इस समय कोई भी काम शुरू करने से पहले शुभ और अशुभ मुहूर्त, राहुकाल का ध्यान जरूर रखा जाता है, इन दौरान काम की वृद्धि होने लगती है. अधिक मास के दौरान आने वाला पंचम भक्ति के लिए शुभ होता है. इस समय पर दान कार्य करना अनुकूल होता है. अगस्त का महीना शुरू हो चुका है और इस महीने की शुरुआत से ही पंचक शुरू हो रहा है, जो पांच दिन रहेंगे. बुधवार से शुरू होने के कारण ये पंचक अशुभ नहीं होंगे,

सावन माह पर सरसों के तेल का अभिषेक दिलाएगा कर्ज मुक्ति, शत्रु विनाश और मुकदमों में जीत 04 जुलाई से 31अगस्त 2023

पंचक क्या होता है
हिंदू कैलेंडर के अनुसार, पंचक के दौरान चंद्रमा लगभग पांच दिनों के लिए कुंभ राशि से मीन राशि तक जाता है, इस अवधि को पंचक कहा जाता है, पंचक पांच नक्षत्रों से मिलकर बनता है, जो हैं धनिष्ठा, पूर्वाभाद्रपद, शतभिषा, उत्तराभाद्रपद और रेवती नक्षत्र,

कब लग रहा है पंचक 
हिंदू कैलेंडर के अनुसार, पंचक 2 अगस्त को रात 23.26 बजे शुरू हो रहा है, जो 6 अगस्त को सुबह 01.44 बजे समाप्त हो रहा है. 

लंबी आयु और अच्छी सेहत के लिए इस सावन सोमवार उज्जैन महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक 04 जुलाई से 31अगस्त 2023

पंचक में किन कार्यों को करने से बचें 
हिंदू पंचांग के अनुसार, पंचक का नाम दिन के अनुसार रखा जाता है और प्रत्येक पंचक अलग-अलग परिणाम देता है, सोमवार से शुरू होने वाले पंचक को राज पंचक, मंगलवार को अग्नि पंचक, शुक्रवार को चोर पंचक, शनिवार को मृत्यु पंचक और रविवार को रोग पंचक कहा जाता है, बुधवार और गुरुवार के पंचक को अशुभ नहीं माना जाता है,

पंचक के दौरान लकड़ी इकट्ठी नहीं करनी चाहिए और न ही खरीदनी चाहिए, यदि आप घर बनवा रहे हैं तो पंचक के दौरान कभी भी छत नहीं डालनी चाहिए, पंचक के दौरान दक्षिण दिशा की यात्रा करने से बचना चाहिए इसी तरह के अनेक कार्य इस समय पर नहीं किए जाते हैं. 

  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support
विज्ञापन
विज्ञापन


फ्री टूल्स

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X