myjyotish

6386786122

   whatsapp

6386786122

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Blogs Hindi ›   Navratri 2023: Know how worshiping Goddess Kushmanda brings victory to the devotees.

Navratri 2023: जानिए माँ कूष्मांडा का पूजन कैसे दिलाता है भक्तों को विजय

my jyotish expert Updated 18 Oct 2023 10:07 AM IST
maa kushmanda
maa kushmanda - फोटो : my jyotish
विज्ञापन
विज्ञापन
मां कुष्मांडा पूजन से भक्तों को मिलता है विजय का आशीर्वाद. नवरात्रि के पूजन में देवी कुष्मांडा की भक्ति को करते हुए भक्त सिद्धियों की शक्ति में प्रवेश करता है. माता की आठ भुजाएं होने के कारण उन्हें अष्टभुजा वाली भी कहा जाता है. नवरात्रि के दौरान देवी मां के चौथे स्वरूप की पूजा की जाएगी. देवी कुष्मांडा आदिशक्ति का चौथा रूप हैं. देवी भागवत पुराण में बताया गया है कि सृष्टि की रचना से पहले जब चारों ओर अंधकार था और सृष्टि पूर्णतया शून्य थी, तब आदिशक्ति मां दुर्गा ने अंडे के रूप में ब्रह्मांड की रचना की. माता की मुस्कान एवं उनके स्वरुप का आलौक ही सभी को प्रकाशमान करता है. इसी कारण से देवी के चौथे स्वरूप को कुष्मांडा कहा गया.

कामाख्या देवी शक्ति पीठ में शारदीय नवरात्रि, सर्व सुख समृद्धि के लिए करवाएं दुर्गा सप्तशती का विशेष पाठ : 15 अक्टूबर- 23 अक्टूबर 2023 - Durga Saptashati Path Online

माता का ये रुप भक्तों की सभी मनोकामनाओं को पूर्ण करने वाला होता है. देवी के हाथों में कमंडल, धनुष-बाण, कमल अमृत से भरा कलश, चक्र और गदा होता है. माता जप की माला धारण किए होती है. शारदीय नवरात्रि के चौथे दिन देवी कुष्मांडा की पूजा की जाती है.

इस शारदीय नवरात्रि कराएं खेत्री, कलश स्थापना 9 दिन का अनुष्ठान , माँ दुर्गा के आशीर्वाद से होगी सभी मनोकामनाएं पूरी - 15 अक्टूबर- 23 अक्टूबर 2023

भक्तों का समस्त सुख है देवी की भक्ति में निहित 
देवी कुष्मांडा को आदिशक्ति के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि वह ब्रह्मांड की निर्माता हैं. माता ग्रहों को शुभ कर देने वाली नक्षत्रों को अपने अनुसार चलाने वाली हैं. मान्यता है कि इनकी शक्ति से साधक के सभी रोग नष्ट हो जाते हैं और व्यक्ति को शक्ति और स्वास्थ्य की प्राप्ति होती है. पूजा में पान एवं मिठाई का भोग लगाना चाहिए. नवरात्रि के चौथे दिन पर माता को कुम्हड़े की बलि भी दी जाती है. यह वस्तु माता को अत्यंत प्रिय है. 

विंध्याचल में कराएं शारदीय नवरात्रि दुर्गा सहस्त्रनाम का पाठ पाएं अश्वमेघ यज्ञ के समान पुण्य : 15 अक्टूबर - 23 अक्टूबर 2023 - Durga Sahasranam Path Online

माँ कुष्मांडा मंत्र साधना 
मां कुष्मांडा की पूजा में मंत्र साधना द्वारा शक्तियों की प्राप्ति होती है. माता को प्रणाम करते हुए इन मंत्र का ध्यान करने से देवी अत्यंत प्रसन्न होती हैं तथा भक्तों की मनोकामनाओं को पूर्ण करती हैं. 

'ऊं ऐं ह्रीं क्लीं कुष्मांडायै नम:'

ऐसे करें पूजा

या देवी सर्वभूतेषु मां कूष्माण्डा रूपेण संस्थिता.
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:..

शारदीय नवरात्रि स्पेशल - 7 दिन, 7 शक्तिपीठ में श्रृंगार पूजा : 15 अक्टूबर- 23 अक्टूबर 2023

कुष्माण्डा मंत्र 

वन्दे वांछित कामर्थे चन्द्रार्घकृत शेखराम्.
सिंहरूढ़ा अष्टभुजा कूष्माण्डा यशस्वनीम्॥
भास्वर भानु निभां अनाहत स्थितां चतुर्थ दुर्गा त्रिनेत्राम्.
कमण्डलु, चाप, बाण, पदमसुधाकलश, चक्र, गदा, जपवटीधराम्॥
पटाम्बर परिधानां कमनीयां मृदुहास्या नानालंकार भूषिताम्.
मंजीर, हार, केयूर, किंकिणि रत्नकुण्डल, मण्डिताम्॥
प्रफुल्ल वदनांचारू चिबुकां कांत कपोलां तुंग कुचाम्.
कोमलांगी स्मेरमुखी श्रीकंटि निम्ननाभि नितम्बनीम्॥

स्त्रोत पाठ

दुर्गतिनाशिनी त्वंहि दरिद्रादि विनाशनीम्.
जयंदा धनदा कूष्माण्डे प्रणमाम्यहम्॥
जगतमाता जगतकत्री जगदाधार रूपणीम्.
चराचरेश्वरी कूष्माण्डे प्रणमाम्यहम्॥
त्रैलोक्यसुन्दरी त्वंहिदुःख शोक निवारिणीम्.
परमानन्दमयी, कूष्माण्डे प्रणमाभ्यहम्॥
 
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support
विज्ञापन
विज्ञापन


फ्री टूल्स

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X