myjyotish

6386786122

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Blogs Hindi ›   Gupt Navratri Remedies: On the first day of Gupt Navratri, all eyesight defects will be removed by worshiping Mahavidya Kali

Gupt Navratri Remedies: गुप्त नवरात्रि के पहले दिन महाविद्या काली पूजन से दूर होंगे सभी नजर दोष

Myjyotish Expert Updated 01 Jul 2022 06:18 PM IST
गुप्त नवरात्रि के पहले दिन महाविद्या काली पूजन से दूर होंगे सभी नजर दोष  
गुप्त नवरात्रि के पहले दिन महाविद्या काली पूजन से दूर होंगे सभी नजर दोष   - फोटो : google

गुप्त नवरात्रि के पहले दिन महाविद्या काली पूजन से दूर होंगे सभी नजर दोष  


"काली काली महाकाली कलिके पापनाशिनी"
खडगहस्ते मुंडाहस्ते काली काली नमस्तुते"


गुप्त नवरात्रि के पहले दिन महाविद्या काली का पूजन होता है.देवताओं में सबसे उग्र, देवी मां काली सभी दस महत्वपूर्ण दस महाविद्याओं में प्रमुख स्थान रखती हैं. काली नाम संस्कृत शब्द काल से आया है, जिसका अर्थ है समय, मृत्यु. दस महाविद्याओं में देवी काली को तंत्र साधना में प्रमुख रुप से स्थान प्राप्त है. देवी की साधना में तामसिक स्वरुप अधिक दिखाई देता है. देवी काली अहंकार का नाश करने वाली होती हैं. 

मात्र रु99/- में पाएं देश के जानें - माने ज्योतिषियों से अपनी समस्त परेशानियों का हल 

गुप्त नवरात्रि के पहले दिन काली का पूजन करने से सभी प्रकार की बुरी शक्तियों का नाश होता है. इस दिन देवी का पूजन करने से बुरी नजर दोष भी शांत होता है. इस दिन देवी के पूजन में शहद का भोग देवी को अर्पित करते हुस श्रीफल अर्पित करना चाहिए ऎसा करने से सभी प्रकार के रोग दोषों की शांति होती है. महाकाली भगवान शिव का स्त्री रूप है. महाकाली भगवान शिव के भीतर से समाहित है. इस अभिव्यक्ति को अर्धनारीश्वर के नाम से जाना जाता है.

वे सृष्टि के रचयिता हैं. आगम शास्त्र ने उन्हें सर्वोच्च शक्ति के रूप में दर्शाया है. महाकाली को अर्धरात्रि के नाम से भी जाना जाता है.  वह कोई भी रूप धारण कर सकती है. वह बुराइयों के विनाश के लिए जानी जाती है. देवी महाकाली को भगवान शिव के शव पर विराजमान देखा जा सकता है. उसकी चार भुजाएँ विनाश को दर्शाती हैं, जो बुराइयों को नष्ट करने के लिए उठाई गई हैं. उसकी दूसरी भुजा में कटा हुआ सिर है और तीसरा हाथ राक्षसों से सुरक्षा को दर्शाता है. जो उसकी पूजा करता है वह राक्षसों और बुराइयों से सुरक्षित रहता है.

काली स्वरुप 

काली को चार भुजाओं के साथ चित्रित किया जाता है. दो हाथों में, वह एक तलवार और एक में कटा हुआ सिर पकड़े दिखाई देती हैं. देवी उस भयंकर युद्ध का प्रतिनिधित्व करती है जिसमें उसने राक्षस रक्तबीज को नष्ट कर दिया था. अन्य दो हाथ उसके भक्तों को आशीर्वाद देते हुए हैं, उन्हें इस जीवन में और अगले जन्म में मुक्ति प्रदान करती हैं. 

काली 52 खोपड़ियों की माला और खंडित भुजाओं को धारण किए हुए होती हैं. देवी काली की गहरी नीली त्वचा उस गर्भ का प्रतिनिधित्व करती है जिससे सारी सृष्टि का जन्म हुआ है.  जिसमें सारी सृष्टि अंततः वापस आ जाएगी. वह शुद्ध  ऊर्जा, आदिशक्ति है. देवी काली को भगवान शिव पर एक पैर रखने का चित्रण किया गया है, जो शुद्ध निराकार जागरूकता सत-चित-आनंद हैं. 

जन्मकुंडली ज्योतिषीय क्षेत्रों में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है

काली पूजन से सिद्धियों की प्राप्ति होती है 

देवी काली को प्रसन्न करने से सभी अष्ट सिद्धियों का आशीर्वाद प्राप्त किया जा सकता है. काली साधना लंबी बीमारी, लाइलाज बीमारियों, बुरी आत्मा और काला जादू, कर्ज, पेशेवर ठहराव और अनिश्चितता, नियमित और आवर्ती समस्याओं और अज्ञात कारणों से उत्पन्न होने वाली बदनामी और शनि ग्रह के बुरे प्रभाव से जातक की रक्षा कर सकती है.

इन मंत्रों से पूर्ण होगी सभी कामनाएं

ओम ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै:
एकवेणी जपाकर्णपूरा नग्ना खरास्थिता, लम्बोष्टी कर्णिकाकर्णी तैलाभ्यक्तशरीरिणी।
वामपादोल्लसल्लोहलता कण्टकभूषणा, वर्धनमूर्धध्वजा कृष्णा कालरात्रिर्भयङ्करी
 

ये भी पढ़ें

  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support


फ्री टूल्स

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X