myjyotish

6386786122

   whatsapp

6386786122

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Blogs Hindi ›   Masik Shivratri 2023: Surefire remedy for Shivratri, if you do it, all troubles will go away and worship will

Masik Shivratri 2023: शिवरात्रि का अचूक उपाय, जिसे करते ही कटेंगे सारे कष्ट और पूर्ण होगी पूजा

Acharya RajRani Updated 13 Sep 2023 10:07 AM IST
Masik Shivratri
Masik Shivratri - फोटो : my jyotish
विज्ञापन
विज्ञापन
प्रत्येक माह में आने वाली शिवरात्रि को मासिक शिवरात्रि के रुप में मनाया जाता है. यह समय शिव पूजन के लिए अति शुभ होता है. भाद्रपद माह में आने वाली शिवरात्रि भाद्रपद मासिक शिवरात्रिके रुप में पूजी जाती है. इस दिन सभी भक्त भगवान का पूजन करते हैं तथा स्नान दान कार्यों के द्वारा शुभ फलों को पाते हैं. पंचांग के अनुसार भाद्रपद माह में आने वाली शिवरात्रि सुख प्रदान करने वाली होती है.

काशी दुर्ग विनायक मंदिर में पाँच ब्राह्मणों द्वारा विनायक चतुर्थी पर कराएँ 108 अथर्वशीर्ष पाठ और दूर्बा सहस्त्रार्चन, बरसेगी गणपति की कृपा ही कृपा 19 सितंबर 2023

मासिक शिवरात्रि व्रत भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाया जाता है. ऐये जानते हैं इस दिन सौभाग्य पाने के लिए किन उपायों से मिलता है लाभ और पूजा का महत्व. 

मासिक शिवरात्रि पूजन 
 हर माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मासिक शिवरात्रि व्रत रखा जाता है. यह व्रत भगवान शिव को समर्पित होता है. इस दिन भगवान शिव की पूजा के साथ-साथ कुछ ज्योतिषीय उपाय भी विशेष फलदायी माने जाते हैं. इस दिन व्रत रखने से भक्तों को शुभ फल की प्राप्ति होती है. यह समय ग्रह दोषों से होने वाली परेशानियों से भी राहत दिलाता है. शिवरात्रि के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान करना चाहिए. 

गणपति स्थापना और विसर्जन पूजा : 19 सितंबर से 28 सितंबर 2023

शिवलिंग पर जलाभिषेक करना चाहिए.  दूध, दही, गंगाजल, शहद से भगवान का अभिषेक करना चाहिए. शिवलिंग पर बेलपत्र, भांग, धतूरा, जरूर चढ़ाने चाहिए. इस दिन शाम को सूर्यास्त के बाद प्रदोष काल में शिव परिवार की विधि-विधान से पूजा करनी चाहिए. शिवरात्रि के दिन श्रद्धा के अनुसार शिव स्त्रोत या शिव अष्ट स्त्रोत का पाठ करना शुभ होता है. इस दिन शिवरात्रि होने के कारण शाम के समय चंद्र देव का पूजन भी अवश्य करना चाहिए. 

शिवरात्रि उपाय 
ज्योतिष अनुसार चंद्रमा मन का कारक है. चंद्रमा के कमजोर होने से मन अशांत रहता है. साथ ही किसी भी काम में रुचि नहीं रहती है. इसलिए चंद्रमा का मजबूत होना जरूरी है. कुंडली में मौजूद चंद्र दोष को दूर करने के लिए शिवरात्रि के व्रत एवं पूजा को बहुत शुभ माना गया है.

मात्र रु99/- में पाएं देश के जानें - माने ज्योतिषियों से अपनी समस्त परेशानियों 

इसके अलावा विवाह संबंधी परेशानी एवं दोष शांत होते हैं.  शिवरात्रि के दिन भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा करने से व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं. इसके साथ ही शिवरात्रि  के दिन चंद्र देव की पूजा भी की जाती है. शिवरात्रि के दिन शिव पार्वती परिवार सहित चंद्र देव की पूजा करने से न केवल दोष दूर होता है, तथा जीवन में सुख समृद्धि का वास होता है.
 
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support
विज्ञापन
विज्ञापन


फ्री टूल्स

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X