myjyotish

6386786122

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Blogs Hindi ›   Masik Durga Ashtami: Worship with this method on Masik Durgashtami, all the wishes will be fulfilled.

Masik Durga Ashtami : मासिक दुर्गाष्टमी पर इस विधि से करें पूजा, सभी मनोकामनाएं होंगी पूरी

my jyotish expert Updated 22 Sep 2023 12:26 PM IST
Masik Durga Ashtami 2023
Masik Durga Ashtami 2023 - फोटो : my jyotish
हर माह आने वाली दुर्गा पूजा को मासिक दुर्गा अष्टमी के रुप में मनाया जाता है. प्रत्येक माह में आने वाली अष्टमी तिथि के दिन देवी दुर्गा की पूजा का विधान रहा है. अष्टमी के दौरान मासिक दुर्गाष्टमी का पूजन किया जाता है. देवी दुर्गा शिव की पत्नी आदिशक्ति का एक रूप माना गया है. देवी के इस स्वरुप का हिंदू धर्म में विशेष स्थान है. हिंदू पंचांग के अनुसार, अष्टमी हर महीने में दो बार आती है, लेकिन मासिक दुर्गाष्टमी अष्टमी व्रत केवल शुक्ल पक्ष में पड़ने वाली अष्टमी के दिन ही मनाया जाता है. इस व्रत को करने से साधक की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं. मां दुर्गा अपने भक्तों के सभी कष्ट दूर करती हैं. इसलिए लोग सच्चे मन से देवी मां की पूजा करते हैं ताकि उनकी परेशानियां दूर हो सकें. दुर्गा अष्टमी का व्रत हर महीने शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है.

काशी दुर्ग विनायक मंदिर में पाँच ब्राह्मणों द्वारा विनायक चतुर्थी पर कराएँ 108 अथर्वशीर्ष पाठ और दूर्बा सहस्त्रार्चन, बरसेगी गणपति की कृपा ही कृपा सितंबर 2023

मासिक दुर्गाष्टमी तिथि मुहूर्त 
इस साल भादो माह का दुर्गाष्टमी व्रत 23 सितंबर 2023 को रखा जाएगा. आइए जानते हैं इसकी पूजा विधि और तिथि पूजन समय. मासिक दुर्गाष्टमी तिथि 22 सितंबर भाद्रपद, शुक्ल अष्टमी
का आरंभ 13:35 पर आरंभ होगी. इस की समाप्ति 23 सितंबर को 12:17 पर होगी.  दुर्गा अष्टमी के दिन कई शुभ योगों का निर्माण होगा तथा इस दिन पर राधा अष्टमी, ज्येष्ठ गौरी विसर्जन, रवि योग जैसे शुभ योग होने से दिन की शुभता में वृद्धि होगी.

गणपति स्थापना और विसर्जन पूजा : 19 सितंबर से 28 सितंबर 2023

मासिक दुर्गाष्टमी पूजा विधि
मासिक दुर्गाष्टमी के दिन साधक को सुबह जल्दी उठकर स्नान करने के बाद लाल वस्त्र धारण करना चाहिए. पूरे घर में गंगा जल छिड़क कर शुद्ध करें. इसके बाद चौकी पर लाल रंग का कपड़ा बिछाकर मां दुर्गा की मूर्ति या फोटो स्थापित करनी चाहिए. इसके बाद देवी मां को जल चढ़ाएं और उन्हें लाल चुनरी और सोलह श्रृंगार, लाल रंग के फूल, माला और अक्षत आदि चढ़ाना चाहिए भक्ति भाव के साथ माता को भोग अर्पित करना चाहिए.  मासिक दुर्गाष्टमी के दिन देवी दुर्गा की पूजा करने से व्यक्ति के पारिवारिक जीवन में सुख, समृद्धि और खुशहाली आती है. साथ ही उसे मनवांछित फल भी मिलता है और उसके जीवन में चल रही समस्याओं का समाधान भी हो जाता है. मां दुर्गा अपने भक्तों को सुरक्षा प्रदान करती हैं. दुर्गाष्टमी की विधि-विधान से पूजा करने से करियर में तरक्की, धन-संपदा में समृद्धि और जीवन में सफलता मिलती है.

मात्र रु99/- में पाएं देश के जानें - माने ज्योतिषियों से अपनी समस्त परेशानियों 
 
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support


फ्री टूल्स

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X