myjyotish

6386786122

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Blogs Hindi ›   Bhairava Ashtami 2023: Do these things on Bhairava Ashtami, you will get relief from enemies.

Bhairava Ashtami 2023: भैरव अष्टमी पर करें ये कार्य मिलेगी शत्रुओं से राहत

Acharyaa RajRani Updated 05 Dec 2023 10:30 AM IST
kalsashtami
kalsashtami - फोटो : my jyotish
शास्त्रों के अनुसार भैरव पूजन द्वारा बड़े से बड़े पाप ग्रह भी शांत हो जाते हैं व्यक्ति को अपने शत्रुओं पर विजय प्राप्त होती है. ऐसा माना जाता है कि जो व्यक्ति काल भैरव की पूजा करता है भगवान उसे वरदान देते हैं. भैरव जी अपने भक्तों की हर मनोकामना पूरी करते हैं. काल भैरव उनके जीवन से किसी भी प्रकार की समस्या हो उससे उन्हें मुक्ति प्रदान करते हैं. 

कालभैरव जयंती पर दिल्ली में कराएं पूजन एवं प्रसाद अर्पण, बनेगी बिगड़ी बात -05 दिसंबर 2023

जीवन में मौजूद भय, रोग इत्यादि कष्ट को दूर हो जाते हैं. मान्यताओं के अनुसार भैरव अष्टमी के दिन भगवान भैरव की पूजा करने से जीवन के अनेक दोष दूर होते हैं, ऐसा इसलिए क्योंकि यह दिन बाबा काल भैरव को समर्पित है. हिंदू मान्यताओं के अनुसार, भगवान काल भैरव को भगवान भैरव का भयानक रूप यानी रुद्र का अवतार बताया गया है. ऐसा माना जाता है कि कालभैरव अष्टमी के दिन भैरव बाबा का नाम लेने मात्र से सभी नकारात्मक शक्तियां नष्ट हो जाती हैं.

आपके स्वभाव से लेकर भविष्य तक का हाल बताएगी आपकी जन्म कुंडली, देखिए यहाँ

भगवान भैरव की पूजा के चमत्कारी लाभ 

भैरव बाब की पूजा करने से भक्तों को सभी तरह के दुखों से मुक्ति मिलती है. जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में शत्रुओं से मुक्ति भी मिलती है. इसके अलावा जीवन के ही हर क्षेत्र में विजय प्राप्त दिलाने वाला होता है. ऐसा माना जाता है कि भगवान भैरव के भक्तों की कभी हार नहीं होती.

भगवान भैरव की पूजा करने से भक्तों को किसी भी प्रकार का दोष नहीं लगता है किसी भी प्रकार का शोक नहीं होता है. भैरव भक्त उनकी कृपा से रोगों से मुक्त रहते हैं क्योंकि वे सभी नकारात्मकता को दूर करके जीवन को सुख प्रदान करते हैं.

अनुभवी ज्योतिषाचार्यों द्वारा पाएं जीवन से जुड़ी विभिन्न परेशानियों का सटीक निवारण

भगवान भैरव की पूजा करने से भक्तों का आत्मविश्वास बढ़ता है. इतना ही नहीं, व्यक्ति को अद्भुत ऊर्जा, शक्ति और साहस का एहसास होता है. विजय का सुख भी इनके पूजन द्वारा प्राप्त होता है. व्यक्ति के समक्ष कोई दुष्ट प्रवृत्तियां स्थिर नहीं रह पाती हैं.

कहा जाता है कि भगवान भैरव जयंती के दिन हर प्रकार के नजर दोष की शांति संभव होती हैं. इसके अलावा भगवान भैरव की पूजा करने से कभी भी मृत्यु का भय नहीं रहता है. ऐसा माना जाता है कि भैरव की पूजा करने वाले की कभी अकाल मृत्यु नहीं होती.
 
जन्मकुंडली ज्योतिषीय क्षेत्रों में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है

भगवान भैरव की पूजा करने से गृहस्थ जीवन में अनुकूलता आती है और गृहस्थ जीवन हमेशा खुशहाल रहता है. ग्रह कष्टों और ग्रह शांति के लिए भगवान भैरव की पूजा करनी चाहिए.आर्थिक संकट से भी मुक्ति मिलती है. भैरव के भक्त को जीवन में कभी भी आर्थिक समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ता है.
 
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support


फ्री टूल्स

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X