myjyotish

6386786122

   whatsapp

6386786122

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Blogs Hindi ›   Adhik Maas Amavasya 2023: When is Adhik Maas Amavasya and why was there confusion? know the right time

Adhik Maas Amavasya 2023: कब है अधिकमास की अमावस्या और क्यों बना कन्फ्यूजन? जानें सही समय

my jyotish expert Updated 12 Aug 2023 10:07 AM IST
Adhik Maas Amavasya 2023: कब है अधिकमास की अमावस्या और क्यों बना कन्फ्यूजन? जानें सही समय
Adhik Maas Amavasya 2023: कब है अधिकमास की अमावस्या और क्यों बना कन्फ्यूजन? जानें सही समय - फोटो : google
विज्ञापन
विज्ञापन
अधिकमास की अमावस्या का समय बेहद विशेष होता है. यह तीन वर्ष बाद आने वाला समय है जो कुछ खास कार्यों हेतु बेहद अच्छे फल प्रदान करता है. अधिक मास अमावस्या के दिन के साथ ही अधिकमास की समाप्ति भी होगी. इसके साथ ही आरंभ होगा सावन का शुद्ध माह जब आने वाले समय में सावन पूर्णिमा ओर राखी का पर्व मनाया जाएगा.  इस वर्ष अधिक मास अमावस्या तिथि 15 अगस्त को दोपहर 12.42 बजे शुरू होगी जिसके चलते अमावस्या को मनाने को लेकर भी दुविधा भी है कि यह कब अमावस्या मनाई जाएगी. तो इसे लेकर परेशान होने की आवश्यकता नहीं है. आइये जानते हैं कब मनाई जाएगी अमावस्या और कब किए जा सकेंगे पितृ तर्पण से जुड़े कार्य. 

सौभाग्य पूर्ण श्रावण माह के सावन पर समस्त इच्छाओं की पूर्ति हेतु त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंगं में कराए रूद्र अभिषेक - 31 जुलाई से 31 अगस्त 2023

सावन अधिक मास अमावस्या कृष्ण पक्ष के समय पर आती है, इस वर्ष अधिक मास अमावस्या तारीख को लेकर कुछ असमंजस की स्थिति पैदा हो गई है. अमावस्या के दिन स्नान और दान करने का विधान है. अधिक मास अमावस्या को मलमास समाप्त होगा और अगले दिन से सावन का शुक्ल शुद्ध पक्ष शुरू हो जाएगा.  अमावस्या के दिन पितरों को संतुष्ट करने के लिए तर्पण, पिंडदान आदि कामों को किया जाता है. ऎसा करने से पितृ संतुष्ट होते हैं तथा उन्हें मुक्ति मिलती है. आइये जानते हैं अधिक मास अमावस्या की सही तिथि और शुभ मुहूर्त क्या है?

सावन शिवरात्रि पर 11 ब्राह्मणों द्वारा 11 विशेष वस्तुओं से कराएं महाकाल का सामूहिक महारुद्राभिषेक एवं रुद्री पाठ 2023

अधिक मास अमावस्या 2023 तिथि
हिंदू पंचांग के अनुसार, अधिक मास की अमावस्या तिथि 15 अगस्त को दोपहर 12:42 बजे शुरू होगी और 16 अगस्त को दोपहर 03:07 बजे समाप्त होगी. इस आधार पर इस बार 15 अगस्त, मंगलवार को अधिक मास दर्श अमावस्या है और 16 को अधिकमास अमावस्या होगी. 

त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंगं पर कालसर्प दोष निवारण पूजा कराएं -Kaal Sarp Dosh Nivaran Puja at Trimbakeshwar Jyotirlinga Online

दर्श अमावस्या 
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, दर्श अमावस्या के दिन चंद्र देव के दर्शन नहीं होते हैं, लेकिन इस दिन आप जो भी प्रार्थना करते हैं, चंद्र देव उसे सुनते हैं और उसे पूरा करते हैं. इसी कारण से लोग चंद्र दोष को दूर करने के लिए दर्श अमावस्या के दिन चंद्रमा की पूजा करते हैं. यह भी माना जाता है कि दर्श अमावस्या के दिन पूर्वज धरती पर आते हैं और अपने परिवार के सदस्यों को आशीर्वाद देते हैं, इसलिए उनके लिए पूजा की जाती है.

लंबी आयु और अच्छी सेहत के लिए इस सावन सोमवार उज्जैन महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक 04 जुलाई से 31अगस्त 2023

अधिकमास अमावस्या  
अधिक मास अमावस्या 16 अगस्त को मनाई जाएगी ओर इसी दिन तर्पण से जुड़े कार्य भी संपन्न होंगे. अधिक मास अमावस्या 16 अगस्त, बुधवार को है. इस दिन अमावस्या स्नान और दान किया जाएगा. इस दिन पितरों के लिए तर्पण, श्राद्ध, पिंडदान, दान, ब्राह्मण भोज आदि किये जाते हैं. 
 
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support
विज्ञापन
विज्ञापन


फ्री टूल्स

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
X