Kaal Bhairav Puja Online | कालभैरव मंदिर में पूजा कराए | Online Pooja In Kaal Bhairav Mandir Delhi
myjyotish
हेल्पलाइन नंबर

9818015458

  • login

    Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Astrology Services ›   Puja ›  

Iss Kaalashtami Pracheen Kaal Bhairav Mandir Delhi Meinn Puja Aur Prasad Arpan Se Banegi Bigri Baat

इस कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात : 14 -मई - 2020

By: माई ज्योतिष विशेषज्ञ

Rs. 2,100
Buy Now

पूजा के शुभ फल :-

  • रुकावटों के कारण असफल कार्यों की पूर्ति होती है। 
  • नकारात्मक शक्ति व दोष का विनाश होता है। 
  • वित्तीय क्षेत्र में लाभ प्रमाणित होतें है। 
  • कष्ट व पाप का निवारण होता है। 
  • आय व संसाधनों की प्राप्ति होती है।

पौराणिक हिन्दू कथाओं के अनुसार प्रत्येक माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को कालाष्टमी पर्व के रूप में मनाया जाता है। कालाष्टमी के दिन भगवान शिव के रौद्र स्वरुप कालभैरव की उपासना की जाती है। महादेव को संहार का देवता माना गया है अर्थात संसार में जो कुछ भी है उसकी आदि से लेकर अनंत काल तक के लिए भोलेनाथ ही जिम्मेदार है। इस पर्व को भैरवाष्टमी के नाम से भी जाना जाता है। यह पर्व शिव के रूद्र अवतार कालभैरव की जन्म के उत्सव के रूप  में मनाया जाता है। भैरव बाबा को तांत्रिकों का देवता भी कहा जाता है। 
इनकी आराधना से भक्तों के आसाध्य कार्यों की पूर्ति है। बहुत समय से जिन मनोकानाओं की पूर्ति नहीं हो पा रही थी ,इनकी पूजा से वह समस्त इच्छाओं की भी पूर्ति होती है। कालभैरव का रूप भयावय है परन्तु अपने भक्तों के लिए वह दयालु एवं कल्याणकारी है। कालाष्टमी के दिन उनकी पूजा व उन्हें प्रसाद अवश्य अर्पण करना चाहिए तथा यदि यह पूजा दिल्ली के कालभैरव मंदिर में हो तो उसका विशेष महत्व रहता है। यह मंदिर कालभैरव के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है जिसकी महिमा की गाथाएं भारतवर्ष में प्रचलित है।

हमारी सेवाएं :-
अनुष्ठान से पहले हमारे युगान्तरित पंडित जी द्वारा फ़ोन पर आपको संकल्प करवाया जाएगा। श्री भैरवनाथ भगवान की पूरे विधिविधान से पूजा की जाती है । जिसमें उन्हें शराब का प्रसाद चढ़ाया जाता है ।अनुष्ठान संपन्न होने के बाद प्रसाद भी भिजवाया जाएगा ।

प्रसाद :

  • सूखा मेवा
  • एनर्जाइज्ड काला धागा (गले में 21 दिन पहनें उसके बाद इसे बहते पानी में बहा दें )

पूजा का प्रसाद लॉकडाउन के बाद भिजवाया जाएगा।

जानिये हमारे पंडित जी के बारे में

अस्वीकरण : myjyotish.com न तो मंदिर प्राधिकरण और उससे जुड़े ट्रस्ट का प्रतिनिधित्व करता है और न ही प्रसाद उत्पादों का निर्माता/विक्रेता है। यह केवल एक ऐसा मंच है, जो आपको कुछ ऐसे व्यक्तियों से जोड़ता है, जो आपकी ओर से पूजा और दान जैसी सेवाएं देंगे।

  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support

Recent Blogs



Ratings and Feedbacks

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X