myjyotish

6386786122

   whatsapp

6386786122

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Astrology Services ›   Puja ›  

Birthday Pooja Sukh Samrddh Evan Saphal Jeevan Ke Lie

बर्थडे पूजा : सुख - समृद्ध एवं सफल जीवन के लिए | Birthday Puja Online

By: Myjyotish Expert

Rs. 5,100
Buy Now

बर्थडे पूजा के लाभ :-
1. स्वास्थ सदैव अच्छा रहता है।
2. शरीर सभी प्रकार के रोगों से मुक्त हो जाता है।
3. छात्रों के शैक्षणिक प्रदर्शन में सुधार होता है।
4. खुशहाल पारिवारिक जीवन की प्राप्ति होती है।
5. दुर्भाग्य से बचाव करता है।

बर्थडे पूजा का महत्व


प्रत्येक व्यक्ति के लिए उसका जन्मदिन बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। यह वर्ष का वह दिन होता है जब वह अपने जन्म के ईश्वर को सच्चे मन से धन्यवाद करता है। आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए और इशा या अपने पसंदीदा भगवान को धन्यवाद देने के लिए एक बर्थडे पूजा या जन्मदिन पूजा की जाती है। जन्मदिन पूजा ज्योतिष में सबसे महत्वपूर्ण उपचारात्मक उपायों में से एक माना जाता है, जिसके आधार पर कुंडली में अपने पुरुष ग्रहों को शांत करने के लिए समर्पित कुछ प्रमुख अनुष्ठानों का पालन एक युगान्तरित पंडित के मार्गदर्शन में किया जाता है।

यह जन्म दिन पूजा बाधाओं को दूर करने और एक समृद्ध वर्ष होने के लिए किया जाता है। जन्मदिन की पूजा आम तौर पर जन्म तिथि पर आयोजित की जाती है ।क्यूंकि मान्यताओं के अनुसार इस दिन पूजा करने से व्यक्ति की आयु वृद्धि होती है। यह भी कहा जाता है कि जब आप इस पूजा का संचालन करते हैं, तो समृद्धि आपके रास्ते में आने की संभावना बन जाती है तथा आपके जीवन में खुशी भर देती है। इस पूजा से करियर और पढ़ाई के मामले में वृद्धि होने की भी संभावना होती है।जन्मदिन की पूजा से ग्रहों के दुष्प्रभाव भी दूर हो जाते है। सभी प्रकार के कष्टों से छुटकारा मिलता है। इस पूजा से जीवन में आ रही बाधाएं भी दूर हो जाती है।

यह बर्थडे पूजा कैसे की जाएगी?

  • आपके  माय ज्योतिष .कॉम  पर इस पूजा को ऑर्डर करने के पश्चात्, हम आपको पूजा के दौरान पालन करने वाले नियमों की सूची भेजेंगें।
  • निश्चित तिथि पर वैदिक कर्मकांड और परंपराओं का सख्ती से पालन करने वाले हमारे अनुभवी पंडित आपकी ओर से पूजा  संपन्न करेंगे।
  • हम आपको एक लिंक भेजेंगें जिसके माध्यम से आप इस पूजा को ऑनलाइन लाइव देख सकते हैं।

बर्थडे पूजा के पश्चात भेजा जाएगा यह प्रसाद:

  • पंचमेवा
  • पूजा के दौरान सक्रिय की गयी मौली 
  • भभूत (मौली को सीधे हाथ की कलाई पर बांधे तथा ११ दिनों तक स्नान के पश्चात भभूत का टीका  मस्तक, कंठ एव नाभि में लगाएं)

जानिये हमारे पंडित जी के बारे में

ये भी पढ़ें




Ratings and Feedbacks


अस्वीकरण : myjyotish.com न तो मंदिर प्राधिकरण और उससे जुड़े ट्रस्ट का प्रतिनिधित्व करता है और न ही प्रसाद उत्पादों का निर्माता/विक्रेता है। यह केवल एक ऐसा मंच है, जो आपको कुछ ऐसे व्यक्तियों से जोड़ता है, जो आपकी ओर से पूजा और दान जैसी सेवाएं देंगे।

X