myjyotish

6386786122

   whatsapp

6386786122

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Astrology Blog ›   Baglamukhi Jayanti: Know about Maa Baglamukhi Devi, in whose court big leaders apply.

Baglamukhi Jayanti: जानिए मां बगलामुखी देवी के बारे में, जिनके दरबार में बड़े-बड़े नेता लगाते हैं अर्जी।

my jyotish expert Updated 27 Apr 2023 10:55 AM IST
Baglamukhi Jayanti: जानिए मां बगलामुखी देवी के बारे में, जिनके दरबार में बड़े-बड़े नेता लगाते हैं अर
Baglamukhi Jayanti: जानिए मां बगलामुखी देवी के बारे में, जिनके दरबार में बड़े-बड़े नेता लगाते हैं अर - फोटो : google
विज्ञापन
विज्ञापन
मां बगलामुखी उन दस महाविद्याओं में से एक हैं, जिन्हें तंत्र से जुड़ी सबसे बड़ी देवी माना गया है. मां बगलामुखी के बारे में मान्यता है कि उनके दरबार में जाने वाले हर छोटे-बड़े व्यक्ति की मनोकामना जरूर पूरी होती है. माता बगुलामुखी को जीत का वरदान दिलाने वाली देवी के रूप में भी पूजा जाता है. 

आज ही करें बात देश के जानें - माने ज्योतिषियों से और पाएं अपनीहर परेशानी का हल

यही कारण है कि देश में जहां कहीं भी उनका पावन पीठ है, वहां पर नेतागण जीत का आशीर्वाद पाने के लिए जरूर पहुंचते हैं. जिस मां बगलामुखी की पूजा सभी कष्टों को दूर करके कामनाओं को पूरा करने वाली मानी गई है, उनकी जयंती इस साल 29 अप्रैल 2023 को मनाई जाएगी.

बगलामुखी जयंती का शुभ मुहूर्त
पंचांग के अनुसार मां बगलामुखी जयंती हर साल वैशाख मास के शुक्लपक्ष की अष्टमी तिथि को मनाई जाती है. इस साल यह तिथि 28 अप्रैल 2023, शुक्रवार को पड़ने जा रही है. 

पंचांग के अनुसार इस दिन माता बगलामुखी की पूजा के लिए सबसे उत्तम मुहूर्त प्रात:काल 11:58 से लेकर दोपहर 12:49 बजे तक रहेगा. इसके अलावा यदि आप चाहें तो पूर्वाह्न 03:57 से 04:41 बजे भी बगलामुखी की विशेष साधना-आराधना कर सकते हैं.

कैसा है मां बगुलामुखी का स्वरूप
हिंदू मान्यता के अनुसार सभी संकटों से पलक झपकते उबारेन वाली मां बगुलामुखी ने अपने बाएं हाथ से शत्रु की जीभ का अगला हिस्सा और दाएं हाथ में मुद्गर पकड़ा हुआ है. माता का यह दिव्य स्वरूप सभी प्रकार के शत्रु और बाधा से मुक्ति दिलाने वाला है. हिंदू मान्यता के अनुसार माता बगुलामुखी में इतना ज्यादा तेज और बल है कि वे अपने आशीर्वाद से लिखे हुए भाग्य को भी बदल देती हैं.

कैसे करें मां बगलामुखी की पूजा
विजय का वरदान देने वाली मां बगलामुखी की पूजा में पीले रंग का बहुत ज्यादा धार्मिक महत्व है. मान्यता है कि जो साधक माता के प्रिय पीले रंग के वस्त्र धारण कर पीले आसन पर बैठकर विधि-विधान से पूजा करता है, उस पर देवी की बहुत जल्दी कृपा बरसती है. ऐसे में इस बगलामुखी जयंती के दिन देवी कृपा पाने के लिए उनके भक्तों को माता को विशेष रूप से एक पीले कपड़े में कुछ फूल-फल आदि के साथ थोड़ी सी हल्दी चढ़ानी चाहिए.

जन्मकुंडली ज्योतिषीय क्षेत्रों में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है

मां बगलामुखी की पूजा का महाउपाय
मान्यता है कि जो भक्त बगलामुखी जयंती के दिन माता को हल्दी की माला अर्पित करके उनके मंत्र ॐ बगलामुखी देव्यै ह्लीं ह्रीं क्लीं शत्रु नाशं कुरु का जप करता है, उसकी मनोकामना शीघ्र ही पूरी होती है. पूजा के इस उपाय को करने पर कोर्ट-कचहरी के मामलों में जल्द ही विजय प्राप्त होती है और शत्रुओं का नाश होता है.
 
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support
विज्ञापन
विज्ञापन


फ्री टूल्स

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
X