myjyotish

7678508643

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Photo Gallery ›   Blogs Hindi ›   Very auspicious yoga is being made on Haritalika Teej this year, know date and auspicious time

इस साल हरितालिका तीज पर बन रहा बेहद शुभ योग, जानें तिथि व शुभ मुहूर्त

sonam Rathore my jyotish expert Updated Thu, 09 Sep 2021 11:06 AM IST
hartalika teej
1 of 8
हिन्दू धर्म में करवा चौथ व्रत के पश्चात महिलाओं के लिए सबसे महत्वपूर्ण माना जाने वाला हरितालिका तीज व्रत होता है। वैवाहिक जीवन को सुखमय बनाने के लिए इस दिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए व्रत रखती हैं। इस दिन महिलाएं निर्जला व्रत रहती हैं और माता गौरी से अपने पति के दीर्घायु होने का आशीर्वाद लेती हैं। अधिकतर जगहों पर महिलाएं हरितालिका तीज का व्रत निर्जला रखती है। हरितालिका तीज व्रत कठिन व अति शुभ फलदाई वाला व्रत माना गया है। हरितालिका शब्द 2 शब्दों के योग से बना है हरिण जिसका अर्थ है हरना वही तालिका का अर्थ सखी के मेल से बना है। एक पौराणिक कथा के अनुसार इस दिन देवी माता पार्वती जी की सखियों ने उनके पिता हिमालय के गृह से हरण करके जंगल लेकर गई थी। वहां पर देवी माता पार्वती जी ने कठोर तप किया एवम भगवान भोलेनाथ जी को पति के रूप में प्राप्त किया था। हरतालिका तीज व्रत हर वर्ष भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को ही रखा जाता है। इस दिन महिलाएं निर्जला और निराहार व्रत रखकर भगवान शिव जी और माता पार्वती जी का पूजा अर्चना करती है। तथा सौभाग्यवती होने व पति की लम्बी आयु के लिए व उनके जीवन में सुख और समृद्धि के लिए प्रार्थना करती हैं। इसके पश्चात अगले दिन की पूजा के बाद महिलाएं अपने व्रत का पारण करती हैं हिन्दू पंचांग के अनुसार इस बार हरितालिका तीज व्रत पर 14 साल बाद रवि योग का निर्माण हो रहा है। इस दिन यह अद्भुत संयोग सायं को 4:46बजे से शुरू होगा। वहीं हरतालिका तीज व्रत के पूजन के लिए शुभ मुहूर्त सायं 6:22 बजे से रात्रि के 7:49 बजे तक रहेगा। ऐसे में हरतालिका व्रत की पूजा के समय भी रवियोग रहेगा। ज्योतिष शास्त्र की गणना के अनुसार इस अवसर पर रवियोग का दुर्लभ संयोग हो रहा है।

ज्योतिष शास्त्रों में रवियोग को हर प्रकार के दोषों का विनाश करने वाला माना जाता है। रवि योग बहुत ही प्रभावशाली है। ज्योतिष शास्त्र की मान्यता के अनुसार इस योग में कई अशुभ योगों के प्रभाव को खत्म करने की भी क्षमता है। जिन लोगों के दांपत्य जीवन में कुछ बाधाएं हैं तो उन्हें इस रवि योग में भगवान शिव जी की और देवी मां पार्वती जी की पूजा अर्चना करनी चाहिए। इससे उनके रिश्ते में मजबूती आएगी। जिनकी शादी नही हुई है वे महिलाएं इस योग में भगवान शिव और माता पार्वती जी का पूजा अर्चना करती है तो विवाह में आने वाली हर प्रकार की समस्याएं दूर होती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार हरितालिका तीज व्रत का पूजन रवि योग में करने से सभी प्रकार की  मनोकामनाएं पूर्ण होती है।

हरितालिका तीज की पूजा कैसे करनी चाहिए आइए जानते हैं----

जानिए अपने घर की बनावट का शुभ या अशुभ प्रभाव पूछिए वास्तु विशेषज्ञ से
 

फ्री टूल्स

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X