myjyotish

9818015458

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

जन्मकुंडली

जन्मकुंडली, आपके जन्म की तिथि व समय पर ग्रहों की स्थिति के आधार पर तैयारी की गई रिपोर्ट होती है । जन्मकुंडली के द्वारा आपके जीवन के सभी पहलुओं पर भविष्यवाणी व जीवन की सारी मुश्किलों के उपाय जाने जाते हैं ।

Enter your details and get your Free Janam Kundli

आगे बढ़ते हुए, आप हमारे नियमों और शर्तों और गोपनीयता नीति से सहमत होते हैं और वांछित सेवा प्रदान करने के लिए हमें अपने सहयोगियों के साथ अपनी जानकारी साझा करने की अनुमति देते हैं।
Powered by : VedicRishi

FAQ

Janam Kundali

Janam Kundali plays a very vital role in the astrological segments especially when it comes to Vedic astrology. It signifies the career, education, love life, personality and aura of the person through analyzing the movements of stars and planets in a particular's life. It has the solution to all the problems. To every person the Janam Kundali is a soul string through which the upcoming problems in his life can be solved. The Janam Kundali is been made according to the birth time and date of a person that gives validation to the results.



What is Janam Kundali?

A Janam Kundali is an astrological chart that is created based on the time and date of birth of a person. Through this, that person can become aware of every situation happening in his life. It is basically based on Vedic astrology. In this, the conditions of the planets, stars formed at the time of the birth of the person are analyzed. It has 12 different expressions. It is easy to know the position of the planets, the condition of the planets, the faults and good and bad terms formed, and also their remedies through a Janam Kundali.



How is Janam Kundali useful?

We all want that we should always walk on the path of success, but do not think it necessary to know the importance of who will guide this path of success. It is very important to have the right time to adopt any opportunity, otherwise, the work is also spoiled. To proceed on the path of success, it is highly important to know the position and condition of the planets in your Janam Kundali. Planets can be interpreted through Janam Kundali. It helps, a person knows a lot about his important decisions such as marriage, career, education, job, and business.



When should a Janam Kundali be made?

A Janam Kundali helps a person to make major decisions in his life. Through this, he can be prepared for his future. Decisions taken by him according to Janam Kundali directs him to heights of success in life resulting in him never-failing any task. If a person has any type of defect and negativity in his kundali, then he can get a solution to this problem only through Janam Kundali. He can lead a happy life by observing fasts, performing poojas, and chanting mantras based on the solutions to his problems in the direction of the Janam Kundali. So it is said that it should be made as soon as possible.



जन्मकुंडली

 जन्मकुंडली ज्योतिषीय क्षेत्रों में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है , खासकर जब वैदिक ज्योतिष की बात आती है । यह जीवन में सितारों और ग्रहों की चाल के विश्लेषण के माध्यम से व्यक्ति के करियर, शिक्षा, प्रेम जीवन, व्यक्तित्व और आभा को दर्शाता है। इसके पास सभी समस्याओं का समाधान है। प्रत्येक व्यक्ति के लिए जन्मकुंडली एक ऐसी महत्वपूर्ण पत्री है जिसके माध्यम से उसके जीवन में आने वाली समस्याओं को हल किया जा सकता है । जन्मकुंडली को उस व्यक्ति के जन्म समय और तिथि के अनुसार बनाया जाता है जो परिणामों को मान्यता देता है ।



जन्मकुंडली क्या है?

जन्मकुंडली एक पत्रिका है जिसे एक व्यक्ति के जन्म के समय व तिथि के आधार पर बनाया जाता है। इसके माध्यम से वह व्यक्ति अपने जीवन में होने वाली प्रत्येक स्थिति का जानकार बन सकता है । यह मूल रूप से वैदिक ज्योतिष शास्त्र पर आधरित होता है। इसमें व्यक्ति के जन्म के समय उस समय बन रही ग्रहों की दशा का संचालन किया जाता है। इसमें 12 विभिन्न भाव होते है । सरलता से जाने तो इसमें ग्रहों की स्थिति , दशा विश्लेषण, कुंडली में बनने वाले दोष व उनके उपायें का समावेश किया जाता है।



क्यों जरुरी है जन्मकुंडली?

हम सभी चाहतें है की हमें सदैव सफलता के मार्ग पर चले परन्तु यह मार्ग दर्शन कौन करेगा यह जानना जरुरी नहीं समझतें। किसी भी मौकें को अपनाने के लिए सही समय का होना बहुत जरुरी है नहीं तो बनते कार्य भी बिगड़ जातें है। सफलता के रास्तें पर आगे बढ़ने के लिए अपनी कुंडली में ग्रहों की स्थिति व दशा को जानना अतिआवश्यक होता है । जन्मकुंडली के माध्यम से ग्रहों का विवेचन किया जा सकता। इसकी सहायता है व्यक्ति अपने महत्वपूर्ण निर्णय जैसे की विवाह , करियर ,पढ़ाई ,नौकरी और व्यापार के बारें में भी बहुत कुछ जान सकता है।



जन्मकुंडली कब बनवानी चाहिए?

जन्मकुंडली व्यक्ति को अपने जीवन के प्रमुख निर्णय को लेने में सहायक होता है। इसके माध्यम से वह अपने भविष्य के लिए तैयार हो सकता है। जन्मकुंडली द्वारा लिए गए निर्णय व्यक्ति को उच्चाईओं की और लेकर जातें है। वह कभी किसी कार्य में असफल नहीं होता। यदि किसी व्यक्ति के कुंडली में किसी प्रकार का दोष व नकारात्मकता का वास है तो उसे इस समस्या का समाधान भी जन्मकुंडली के माध्यम से ही मिल सकता है। वह जन्मकुंडली के आधार पर बताये गए व्रत , उपाए , पूजा -पाठ व जाप करके सुखी जीवन व्यतीत कर सकता है।इसलिए इसे जितना जल्दी हो सकें बनवा लेना चाहिए।




Ratings and Feedbacks

Terms & Conditions:
  • जन्मकुंडली रिपोर्ट सिस्टम जनरेटेड हैं।
  • Myjyotish.com, जन्मकुंडली रिपोर्ट की सटीकता की गारंटी नहीं लेता ।
  • उपभोक्ताओं का विवेक आपेक्षित है ।
  • रिपोर्ट्स में आने वाली किसी भी दावे के लिए myjotish.com उत्तरदायी नहीं होगा ।

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X