myjyotish

9873405862

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Blogs Hindi ›   CM Yogi Adityanath's Kundali Analysis On The Ocassion Of His Birthday

योगी आदित्यनाथ के जन्मदिन पर जानिए उनकी कुंडली से जुड़ी कुछ खास बातें

My Jyotish Expert Updated 05 Jun 2021 01:59 PM IST
CM Yogi Adityanath Kundali Analysis
CM Yogi Adityanath Kundali Analysis - फोटो : Google
 
उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री व बहुचर्चित एवं लोकप्रिय नेता योगी आदित्यनाथ का मूल नाम अजय सिंह बिष्ट है। इनका जन्म उत्तराखंड के गढ़वाल नामक स्थान पर 5 जून सन् 1972 को दोपहर में लगभग 12 बजे हुआ था। यदि हम योगी आदित्यनाथ की कुंडली की बात करें तो उनकी कुंडली सिंह लग्न की है और लग्नेश सूर्य पूर्ण दिगबली दशम भाव अर्थात कर्म स्थान में विराजित है। जो कि अत्यंत शुभ माना जाता है, सूर्य, सप्तमेश शनि के साथ पारासरी राजयोग भी बना रहे हैं। आपको बता दें कि ज्योतिष शास्त्र में सूर्य की शनि के साथ स्थिति ज्यादा शुभ नहीं मानी जाती। बताया जाता है कि इसी योग के कारण उनके जीवन में पारिवारिक और दाम्पत्य सुख का अभाव है।

क्या आपको चाहिए अनुभवी एक्सपर्ट की सलाह ?

SUBMIT


 अधिक जानने के लिए हमारे ज्योतिषियों से संपर्क करें

योगी आदित्यनाथ की कुंडली से जुड़ी खास बातें (CM Yogi Adityanath Kundali Analysis)

 
- योगी आदित्यनाथ जी की कुंडली में कर्म स्थान में सूर्य के साथ धन और लाभ के स्वामी कहे जाने वाले स्वामी बुध, बुधादित्य योग बना रहे हैं, और यहां दशमेश शुक्र व एकादशेश बुध अद्भुत परिवर्तन राजयोग के योग का निर्माण कर रहे हैं। माना जाता है कि इसी कारण से उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सामाजिक प्रतिष्ठा में प्रत्येक दिन वृद्धि हो रही है।
 
- योगी आदित्यनाथ के जीवन में वर्ष 2021 बहुत महत्वपूर्ण साबित होने वाला है। आकस्मिक धन प्राप्ति के योग बन रहे हैं और सामाजिक प्रतिष्ठा में बढ़ोत्तरी होना निश्चित है। योगी जी की कुंडली में राहु ग्रह छठे भाव मकर राशि में मजबूती से विराजमान है। यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में राहु छठे भाव में होता है तो ऐसा व्यक्ति अपराधियों के काल होता है। यही वजह है कि योगी जी के मुख्यमंत्री बनने के बाद से उत्तरप्रदेश में अपराधियों पर सख्ती बढ़ाई गई व कई अपराधियों का एनकाउंटर हुआ और उनकी नाजायज सम्पत्ति को सरकारी संपत्ति घोषित कर दिया गया।
 
- योगी आदित्यनाथ की कुंडली में वर्ष 2021 में शनि और बृहस्पति का गोचर कुंडली के छठे भाव में स्थित है। इसका सीधा तात्पर्य यह है कि इस बार योगी जी एप्ने विरोधियों को शांत रखने में थोड़े विचलित हो सकते हैं या फिर बेहद परिश्रम करना पड़ सकता है। वहीं अप्रैल माह से लेकर सितम्बर माह तक वह महिलाओं, बच्चों और गरीबों से जुड़े कई अहम फैसले लेंगे जिस कारण उनकी सामाजिक प्रतिष्ठा में और बढ़ोत्तरी होगी।

ये भी पढ़े:
2021 में होंगे 4 ग्रहण, पढ़िए इनकी महत्वता और जानें कैसे बचें इसके गलत असर से
लव राशिफल 4 जून 2021: जानिए कैसा रहेगा आज आपका लव लाइफ
भारत के इस मंदिर में देवी माँ स्वयं देती हैं पूजा के निर्देश
 
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support


फ्री टूल्स

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X