myjyotish

6386786122

   whatsapp

6386786122

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Blogs Hindi ›   Which Rudraksha is auspicious for whom

Rudraksha: जानिए कौन सा रुद्राक्ष आपके लिए है उपयुक्त, आज ही करें धारण और पाएं जीवन में सुख-समृद्धि

Nisha Thapaनिशा थापा Updated 01 Jul 2024 04:21 PM IST
कौन सा रुद्राक्ष आपके लिए लाभकारी है?
कौन सा रुद्राक्ष आपके लिए लाभकारी है? - फोटो : My Jyotish

खास बातें

Rudraksha: यदि आप रुद्राक्ष धारण करना चाहते हैं, तो उससे पहले आपको रुद्राक्ष के बारे में जानकारी होनी चाहिए कि कौन सा रुद्राक्ष आपके लिए लाभकारी हो सकता है। तो आइए इस लेख में जानते हैं कि कौन सा रुद्राक्ष आपके लिए लाभकारी हो सकता है।
विज्ञापन
विज्ञापन

Rudraksha: हमारी सनातन संस्कृति में रुद्राक्ष को बेहद ही पवित्र माना गया है, क्योंकि रुद्राक्ष का सीधा संबंध भगवान शिव से है, इसलिए इसे धारण करना जातक के लिए लाभकारी सिद्ध होता है। रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शिव के नेत्रों से गिरे आंसुओं से हुई है। इसलिए जो भी व्यक्ति रुद्राक्ष को धारण करता है उसके जीवन से नकारात्मक ऊर्जा दूर चली जाती है। लेकिन इसका लाभ तभी है जब आप अपनी राशि के अनुसार रुद्राक्ष को धारण करते हैं, साथ ही रुद्राक्ष धारण करने से पहले आपको उसके प्रभावों के विषय में भी जानकारी होनी चाहिए। क्योंकि रुद्राक्ष कई मुखी होते हैं और हर अक रुद्राक्ष का विभिन्न प्रभाव होता है। लेकिन इसे धारण करने से पूर्व आपको कुछ नियमों के बारे में पता होना बेहद जरूरी है और उन नियमों का पालन करने पर ही आपको रुद्राक्ष धारण करने का लाभ प्राप्त हो सकता है। तो आइए इस लेख के जरिए जानते हैं कि रुद्राक्ष कितने प्रकार के होते हैं और उन्हें पहनने से क्या लाभ प्राप्त होता है।
 

कितने प्रकार के होते हैं रुद्राक्ष (Types of Rudraksha)


शिवपुराण में कुल 14 प्रकार के रुद्राक्ष के बारे में बताया गया है। 14 प्रकार के रुद्राक्ष 1 से लेकर 14 मुख वाले होते हैं। 

एक मुखी रुद्राक्ष, सिंह राशि के जातकों के लिए बेहद लाभकारी माना जाता है। यदि जातक एक मुखी रुद्राक्ष धारण करते हैं तो उनके जीवन से नकारात्मकता दूर होती है। साथ ही जिन जातकों के जीवन में सूर्य ग्रह से संबंधित कोई समस्या उत्पन्न हो रही है तो उन्हें एक रुद्राक्ष को धारण करना चाहिए।

दो मुखी रुद्राक्ष, कर्क राशि के जातकों के लिए अति उत्तम माना गया है। यह अर्धनारीश्वर का स्वरूप भी माना जाता है। दो मुखी रुद्राक्ष धारण करने से जातक के आत्मविश्वास में वृद्धि होती है और मन शांत रहता है।

तीन मुखी रुद्राक्ष, तेज और अग्नि का स्वरूप माना जाता है। तीन मुखी रुद्राक्ष को मेष और वृश्चिक राशि की जातकों को धारण करना चाहिए, क्योंकि यह उनके लिए उत्तम माना गया है। इसके अलावा तीन मुखी रुद्राक्ष को मंगल दोष निवारण के लिए भी धारण किया जाता है।

चार मुखी रुद्राक्ष, कन्या और मिथुन राशि के जातकों के लिए लाभकारी माना जाता है। चार मुखी रुद्राक्ष ब्रह्मा का स्वरूप है, इसके साथ ही यदि आप किसी भी प्रकार के मानसिक रोग या फिर अपनी एकाग्रता शक्ति से परेशान हैं, तो आपको चार मुखी रुद्राक्ष अवश्य अवश्य ही धारण करना चाहिए।

पांच मुखी रुद्राक्ष का संबंध बृहस्पति ग्रह से है और यदि आपके जीवन में बृहस्पति ग्रह से संबंधित कोई समस्या उत्पन्न हो रही है, तो आपको अवश्य ही इस 5 मुखी रुद्राक्ष को धारण करना चाहिए। पांच मुखी रुद्राक्ष को कालाग्नि कहते हैं और यदि आप इसे धारण करते हैं तो आपके ज्ञान में भी वृद्धि होती है।

छह मुखी रुद्राक्ष, शुक्र ग्रह के लिए बेहद लाभकारी माना जाता है। यदि आपके जीवन में धन से संबंधित कोई समस्या उत्पन्न हो रही है या फिर आपकी आर्थिक स्थिति सही नहीं है तो आपका अवश्य ही छह मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए। इसे धारण करने से धन में वृद्धि होती है, साथ ही आपके ज्ञान और आत्मविश्वास में भी वृद्धि होती है। रुद्राक्ष को भगवान कार्तिकेय का स्वरूप ही माना गया है।

यदि आपके जीवन में शनि की साढ़े साती या फिर शनि की कुदृष्टि चल रही है, तो सात मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए, क्योंकि सात मुखी रुद्राक्ष का सीधा संबंध शनिदेव से माना गया है। इसके अलावा इसे सप्तऋषियों का स्वरूप भी माना जाता है। साथ ही सप्त मुखी रुद्राक्ष धारण करने से आर्थिक स्थिति में सुधार होता है।

आपके जीवन में राहु से संबंधित कोई समस्या उत्पन्न हो रही है, तो आपको आठ मुखी रुद्राक्ष अवश्य ही धारण करना चाहिए और अष्ट मुखी रुद्राक्ष को अष्ट देवियों का स्वरूप माना गया है। अष्ट मुखी रुद्राक्ष को धारण करने से अष्टसिद्धियां प्राप्त होती हैं।

नौ मुखी रुद्राक्ष धारण करने से जातक के जीवन में मान सम्मान में वृद्धि होती है, इसके साथ ही धन संपदा और मान सम्मान में बी बढ़ोतरी होती है। जो व्यक्ति 9 मुखी रुद्राक्ष धारण करता है वह व्यक्ति निडर और साहसी बनता है।

यदि आप शारीरिक पीड़ा जैसे कि पेट दर्द, नेत्र संबंधित रोग, दमा, गठिया आदि से परेशान हैं, तो आपको 10 मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए। इसे धारण करने से आपको तुरंत इन बीमारियों से छुटकारा मिलेगा, साथ ही आपके जीवन से नकारात्मक शक्तियां भी दूर होंगी।

11 मुखी रुद्राक्ष धारण करने से जातक में आत्मविश्वास बना रहता है, साथ ही वह किसी भी प्रकार का निर्णय लेने में सक्षम बनता है।

यदि किसी जातक को मानसिक या हृदय रोग या फिर उदर रोग की समस्या है, तो उसे अवश्य ही 12 मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए। साथ ही जो जातक 12 मुखी रुद्राक्ष धारण करता है, उसे सफलता की प्राप्ति होती है। 

यदि आपका वैवाहिक जीवन सुखमय नहीं बीत रहा है, तो आपको 13 मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए। इसे धारण करने से वैवाहिक जीवन खुशहाल बीतता है, साथ में 13 मुखी रुद्राक्ष का संबंध भी शुक्र ग्रह से माना गया है।

14 मुखी रुद्राक्ष धारण करने से जातक की छठी इंद्री जागृत होती है और जातक किसी भी कार्य में सही फैसला लेने में काबिलियत रखता है।

तो इस प्रकार से आप इन जानकारी को पहले से ही जानकारी रुद्राक्ष धारण कर सकते हैं। हालांकि एक बार रुद्राक्ष धारण करने से पूर्व ज्योतिष से परामर्श अवश्य ही लेना चागिए।  इससे संबंधित अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे ज्योतिषाचार्यों से संपर्क करें।

 

  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support
विज्ञापन
विज्ञापन


फ्री टूल्स

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
X