myjyotish

6386786122

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Blogs Hindi ›   Such a Hanuman temple where miracles happen every day, the broken bones of the patients themselves are added

Hanuman Temple: ऐसा हनुमान मंदिर जहाँ रोज होता है चमत्कार, खुद जुड़ जाती है मरीजों की टूटी हुई हड्डी

Myjyotish Expert Updated 14 Mar 2022 02:40 PM IST
ऐसा हनुमान मंदिर जहाँ रोज होता है चमत्कार, खुद जुड़ जाती है मरीजों की टूटी हुई हड्डी
ऐसा हनुमान मंदिर जहाँ रोज होता है चमत्कार, खुद जुड़ जाती है मरीजों की टूटी हुई हड्डी - फोटो : Google
ऐसा हनुमान मंदिर जहाँ रोज होता है चमत्कार, खुद जुड़ जाती है मरीजों की टूटी हुई हड्डी

पूरे भारत मे कई चमत्कारी मंदिर है। कभी कभी इन चमत्कारों के दर्शन भक्त स्वयं भी कर पाते है। लेकिन क्या आप जानते है मध्य प्रदेश में हनुमान जी का एक ऐसा मंदिर है जहां हर रोज भक्त स्वयं होने वाले चमत्कार के साक्षी बनते है। यहां होने वाला चमत्कार बहुत ही अद्भुत और अविश्वशनिय है। इस चमत्कार से डॉक्टर भी हैरान है। ऐसा इसलिए क्योंकि इस मंदिर में लोगो की टूटी हुई हड्डी ठीक हो जाती है। यहां के स्थानीय लोग बताते है कि कई मरीज तो ऐसे भी आते है जिन्हें स्ट्रेचर और एम्बुलेंस में लाया जाता है। लेकिन यहां पर मिलने वाली औषधि के प्रसाद को खाकर वो ठीक हो जाते है।

होली पर वृंदावन बिहारी जी को चढ़ाएं गुजिया और गुलाल - 18 मार्च 2022

यह मंदिर मध्य प्रदेश के कटनी जिले से 35 किलोमीटर दूर मोहास गांव में स्थित है। यह हनुमान जी का मंदिर है। जो भी भक्त इस मंदिर में। आता है वह कभी भी खाली हाथ नही लौटता है। 
आपको बता दे इस मंदिर में जो भी भक्त दर्शन करने आते है उनकी टूटी हुई हड्डी ठीक हो जाती है। जिसके कारण यहां पर जितने भी भक्त दर्शन करने आते है उनमें मरीजों की संख्या ज्यादा होती है। यह हनुमान जी का मंदिर है इसलिए यहां पर मंगलवार और शनिवार को खासी भीड़ रहती है। कहते है यहां पर जो भी मरीज आता है हनुमान जी उनकी सभी मनोकामनाये पूरी करते है। 

हनुमान जी का यह मन्दिर हड्डी जोड़ने वाले हनुमान मंदिर के नाम से भी प्रसिद्ध है। इस मंदिर में जो भी मरीज आते है उन्हें मंदिर परिसर में प्रवेश करते ही राम नाम का जप करने के लिए कहा जाता है। जब भक्त राम नाम मे मगन हो जाता है तब वहां के पुजारी आते है और मरीज को औषधि खिलाते है। मरीज को इस औषधि को चबा चबा के खाने के लिए कहा जाता है। यह औषधि कई प्रकार की जड़ी बूटी को मिलाकर बनाई जाती है। और मुख्यतौर पर इसमें हनुमान जी का आशीर्वाद होता है।

होली पर वृंदावन बिहारी जी को चढ़ाएं गुजिया और गुलाल - 18 मार्च 2022

औषधि खाने के बाद मरीज को घर जाने के लिए कह दिया जाता है। औषधि के प्रभाव से और हनुमान जी के आशीर्वाद और कृपा से मरीज की किसी भी प्रकार की टूटी हुई हड्डी जुड़ जाती है। जो अपने आप मे किसी चमत्कार से कम नही है।
सबसे अहम बात यह है की इस मंदिर में यह औषधि मुफ्त में खिलाई जाती है। कई भक्त अपनी इच्छा से दान पेटी में चढ़ावा चढ़ा जाते है। अन्यथा यहां किसी प्रकार का कोई शुल्क नही लिया जाता है। वैसे तो यह औषधि हर दिन खिलाई जाती है लेकिन मंगलवार और शनिवार के दिन का विशेष महत्व मानते है।

अधिक जानकारी के लिए, हमसे instagram पर जुड़ें ।

अधिक जानकारी के लिए आप Myjyotish के अनुभवी ज्योतिषियों से बात करें।
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support


फ्री टूल्स

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X