myjyotish

7678508643

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Blogs Hindi ›   Subramanian Swamy Janam Kundali and Horoscope Analysis

जानिए डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी के जन्मदिन पर उनका कुंडली विश्लेषण

my jyotish expert Updated 14 Sep 2021 07:18 PM IST
dr subramanian swamy birthday
dr subramanian swamy birthday - फोटो : google
डॉ स्वामी, 15 सितंबर, 1939 को चेन्नई, तमिलनाडु में पैदा हुए, भारत में एक सार्वजनिक व्यक्ति, पांच बार (1974-99) संसद सदस्य चुने गए और दो बार केंद्र सरकार में कैबिनेट पदों पर रहे, पहले वाणिज्य मंत्री के रूप में , कानून और न्याय (1990-91) और बाद में श्रम मानक और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार आयोग (1994-96) के कैबिनेट रैंक के साथ अध्यक्ष के रूप में। डॉ स्वामी एक विपुल लेखक हैं। पत्रिकाओं, पत्रिकाओं और समाचार पत्रों में कई लेखों के अलावा, वह दस पुस्तकों के लेखक हैं। डॉ.स्वामी भारत में आपातकाल के सत्तावादी अधिरोपण (1975-77) के खिलाफ अपने संघर्ष के लिए प्रसिद्ध हैं। चीन के साथ संबंधों को सामान्य बनाने में अग्रणी भूमिका निभाने के लिए उनका सम्मान किया जाता है, उन्होंने १९८१ में चीनी नेता देंग शियाओपिंग को तिब्बत में कैलाश-मानसरोवर तीर्थ मार्ग खोलने के लिए राजी किया। डॉ.स्वामी भारत की इज़राइल की मान्यता के लिए भी प्रचार कर रहे हैं। वह 1990 से जनता पार्टी के अध्यक्ष हैं, जिसकी स्थापना 1977 में जयप्रकाश नारायण ने आपातकाल के बाद की थी। डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी, जिनके प्रयासों से करोड़ों डॉलर के 2जी घोटाले का पर्दाफाश हुआ था, अब गृह मंत्री (तत्कालीन वित्त मंत्री) पी चिदंबरम के खिलाफ लड़ाई के लिए तैयार हैं। इस चुंबकीय नेता के बारे में ग्रह क्या कह रहा है, आइए एक ज्योतिष में झांकें।

किसी भी शुभ कार्य को करने से पूर्व बात कीजिए ज्योतिषी से

डॉ सुब्रमण्यम स्वामी काम पर और दोस्तों और परिवार के आसपास डॉ सुब्रमण्यम स्वामी के व्यक्तित्व में सद्भाव बनाए रखने के नए तरीके सीख रहे हैं। डॉ सुब्रमण्यम स्वामी मित्रों और डॉ सुब्रमण्यम स्वामी के भाई से लाभान्वित होंगे। डॉ सुब्रमण्यम स्वामी को उच्च अधिकारियों से शाही पक्ष या एहसान से लाभ होगा। डॉ सुब्रमण्यम स्वामी के जीवन में परिवर्तन डॉ सुब्रमण्यम स्वामी के अनुभव को गहराई से महसूस किया जाएगा और स्थायी होगा। डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी स्वस्थ रहेंगे। डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी की मनोकामनाएं पूर्ण होंगी।

जन्म कुंडली (जिसे कुंडली, जन्म कुंडली या कुंडली के रूप में भी जाना जाता है) जन्म के समय स्वर्ग का नक्शा होता है। डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी की कुंडली आपको बताएगी डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी के जन्म के समय की ग्रहीय स्थिति, दशा, राशि कुंडली और राशि आदि। यह शोध-कार्य के लिए आपको डॉ सुब्रमण्यम स्वामी की विस्तृत कुंडली एस्ट्रोसेज क्लाउड में खोलने की सुविधा भी देगा।

आर्थिक लाभ के लिए यह समय अनुकूल नहीं है। डॉ सुब्रमण्यम स्वामी के परिवार में कोई बुरी खबर आ सकती है। पारिवारिक विवाद भी डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी की मानसिक शांति भंग कर सकते हैं। डॉ सुब्रमण्यम स्वामी डॉ सुब्रमण्यम स्वामी के अपने कठोर शब्दों या भाषण के कारण परेशानी में पड़ सकते हैं। व्यापार को लेकर कोई बुरी खबर मिल सकती है। भारी नुकसान के संकेत हैं। स्वास्थ्य समस्या परेशान कर सकती है डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी।

यह अवधि लंबवत विकास और डॉ सुब्रमण्यम स्वामी के करियर में वृद्धि के लिए एक उत्कृष्ट कदम होगा। सहयोगियों/साझेदारों से लाभ मिलने की संभावना है। डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी का झुकाव अन्यायपूर्ण तरीकों से कमाई की ओर हो सकता है। डॉ सुब्रमण्यम स्वामी का आत्म-अनुशासन, आत्म-निगरानी और डॉ सुब्रमण्यम स्वामी की दैनिक दिनचर्या पर नियंत्रण डॉ सुब्रमण्यम स्वामी के लिए फायदेमंद होगा। डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी के वरिष्ठों/अधिकारियों के साथ संबंध बहुत सौहार्दपूर्ण रहेंगे और कभी-कभी डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी के व्यापार मंडल में वृद्धि होगी। स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी की मानसिक शांति भंग कर सकती हैं।

डॉ सुब्रमण्यम स्वामी के लिए यह बहुत पर्याप्त अवधि नहीं है। डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी के विरोधी डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी की प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाने की कोशिश करेंगे। डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी को लाभहीन कार्यों में शामिल होना पड़ सकता है। कार्ड पर अचानक आर्थिक नुकसान हो सकता है। जोखिम लेने की प्रवृत्ति पर अंकुश लगाया जाना चाहिए क्योंकि यह डॉ सुब्रमण्यम स्वामी के लिए बहुत सामंजस्यपूर्ण अवधि नहीं है। रिश्तेदारों और दोस्तों के साथ छोटी-छोटी बातों पर विवाद कार्ड पर है। बड़े फैसले न लें अन्यथा डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी मुश्किल में पड़ जाएंगे। इसके अलावा, डॉ सुब्रमण्यम स्वामी को कृतज्ञताहीन नौकरी में शामिल होना पड़ सकता है। यह अवधि महिलाओं को मासिक धर्म की परेशानी, पेचिश और आंखों की परेशानी का संकेत देती है।



इस पितृ पक्ष गया में कराएं श्राद्ध पूजा, मिलेगी पितृ दोषों से मुक्ति : 20 सितम्बर - 6 अक्टूबर 2021
सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज एक साथ प्रसन्न -6 अक्टूबर 2021
जीवन के संकटों से बचने हेतु जाने अपने ग्रहों की चाल, देखें जन्म कुंडली
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support


फ्री टूल्स

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X