myjyotish

7678508643

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Blogs Hindi ›   shani sade sati and dhaiya effects on these 5 zodiac signs know important things

इन 5 राशियों के लोगों पर है शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या का प्रभाव, जानें अन्य महत्वपूर्ण जानकारी

My Jyotish expert Updated 19 Aug 2021 03:40 PM IST
Shani sade sati and dhaiya effects
Shani sade sati and dhaiya effects - फोटो : google

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रहों का हमारे जीवन पर बहुत प्रभाव होता है। इनकी दशा बदलते ही हमारे जीवन की दिशा भी बदल जाती है। हर ग्रह समय-समय पर अपना स्थान परिवर्तन करते हैं। ये एक राशि से निकलकर दूसरी राशि में प्रवेश कर जाते हैं। ये जब भी किसी अन्य राशि में प्रवेश करते हैं तो उसका प्रभाव सभी 12 राशियों और उनके जातकों पर पड़ता है। ये प्रभाव शुभ होगा या अशुभ ये उस राशि और ग्रह के स्थान पर निर्भर करता है। ज्योतिष शास्त्र में सभी ग्रहों की अपनी विशेषता बताई गई है। बात करें शनि की तो इसे सबसे क्रूर ग्रहों में से एक माना जाता है। 

आपके स्वभाव से लेकर भविष्य तक का हाल बताएगी आपकी जन्म कुंडली, देखिए यहाँ

यदि आप पर शनि का बुरा प्रभाव है तो ये आपको बहुत भारी पड़ सकता है। यहां तक कि कई बार तो बात व्यक्ति के जीवन पर भी आ जाती है। ज्योतिष की दृष्टि से शनि की साढ़ेसाती और शनि की ढैय्या दोनों ही व्यक्ति के लिए बहुत हानिकारक मानी जाती है। हर व्यक्ति को अपने जीवनकाल में इन दोनों के प्रभाव को सहना ही पड़ता है। शनि जब भी अपना स्थान बदलते हैं तब कुछ राशियों पर इसका प्रभाव पड़ता है कुछ राशियां इनके प्रभाव से मुक्त हो जाती है। फिलहाल मिथुन राशि, मकर राशि, धनु राशि, तुला राशि और कुंभ राशि को पर इसका प्रभाव चल रहा है। आइए जानते हैं कि आखिर शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या का असल में क्या अर्थ होता है।

शनि की साढ़ेसाती और शनि की ढैय्या क्या होती है?

जब शनि किसी जातक की राशि से चौथे या आंठवे स्थान की राशि में प्रवेश करते हैं तब इन राशियों पर शनि की ढैय्या का प्रभाव शुरू हो जाता है। अब क्योंकि शनि अपना राशि परिवर्तन करने के लिए ढाई वर्ष का समय लेते हैं इसलिए शनि की ढैय्या का प्रभाव किसी भी राशि के ऊपर ढाई वर्ष तक रहता है। इसके पश्चात जैसे ही शनि दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं इनपर से ये प्रभाव खत्म हो जाता है। शनि की ढैय्या एक समय पर दो राशि के जातकों पर प्रभाव डालती है। 

दूसरी ओर जब शनि किसी जातक के जन्म राशि से प्रथम, द्वितीया या द्वादश स्थान पर हो तो उसपर शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव होता है। शनि की साढ़ेसाती के प्रभाव एक समय पर तीन राशियों पर होता है। प्रत्येक राशि के जातक को शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव साढ़े सात वर्ष तक झेलना पड़ता है। शनि की साढ़ेसाती और शनि की ढैय्या दोनों ही व्यक्ति के जीवन को बर्बाद कर सकती है। जब व्यक्ति पर इनमें से किसी एक का भी प्रभाव रहता है तब उस व्यक्ति की किस्मत भारी हो जाती है। उसके जीवन में मुसीबतें आती है और हर कार्य में बाधाएं आती हैं।

वर्तमान में किन राशियों पर हैं इनका प्रभाव?

अभी की बात करें तो मिथुन राशि और तुला राशि के जातकों पर शनि की ढैय्या का प्रभाव है। वहीं दूसरी ओर धनु राशि, मकर राशि और कुंभ राशि के जातकों को शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव झेलना पड़ रहा है। शनि इस वर्ष कोई भी राशि परिवर्तन नहीं करने वाले हैं। शनि अपना अगला राशि परिवर्तन 29 अप्रैल, 2022 को करेंगे। इस दौरान शनि कुंभ राशि में गोचर होंगे। 

इस राशि परिवर्तन के पश्चात मिथुन राशि और तुला राशि के जातक शनि की ढैय्या से राहत मिलेगी। इसके साथ ही कर्क राशि और वृश्चिक राशि के जातकों पर इसका प्रभाव शुरू हो जाएगा। इसके अतिरिक्त शनि के स्थान बदलने से धनु राशि के जातक शनि की साढ़ेसाती से मुक्त हो जाएंगे। दूसरी ओर मीन राशि के जातकों पर शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव शुरू होगा जो अगले साढ़े सात वर्ष तक बना रहेगा।

ये भी देखें:

जानिए शुक्र के प्रभाव से वृषभ राशि को कैसे होगी आय में बढ़ोत्तरी

हस्तरेखा ज्योतिषी से जानिए क्या कहती हैं आपके हाथ की रेखाएँ

सर्वार्थ सिद्धि योग में नवग्रह पूजन से बनेंगे आपके सभी रुके हुए काम, मुफ़्त में पूजन हेतु रजिस्टर करें

 

  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support


फ्री टूल्स

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X