myjyotish

7678508643

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Blogs Hindi ›   sawan month mangla gauri vrat significance

सावन महीने का आखिरी मंगला गौरी व्रत, जानिए महत्व व पूजा विधि

my jyotish expert Updated 17 Aug 2021 03:27 PM IST
sawan manla vrat 2021
sawan manla vrat 2021 - फोटो : google
सावन का महीना  (sawan month) भगवान भोलेनाथ (Lord Shiva) को समर्पित dedicated  है।  साथ ही सावन के हर मंगलवार को महिलाएं  मंगला गौरी का व्रत रखती हैं । सावन का पूरा माह (Month) शिव-  शक्ति को समर्पित (Dedicated) रहता है। आपको बताते चलें 17 अगस्त को सावन महीने का आखिरी मंगलवार( last tuesday) है । इस व्रत के पुण्य से महिलाओं को अखंड सौभाग्यवती होने का वरदान (blessing) मिलता है । जिस प्रकार सावन सोमवार (Monday) का व्रत शिव जी को प्रिय हैं , उसी प्रकार सावन मंगलवार का दिन मां गौरी (maa gauri) को अत्यंत प्रिय (favorite) है । माना जाता है मां पार्वती ने भगवान शिव को पाने के लिए बहुत कठिन परिश्रम, (hard work) आराधना व यह व्रत भी किया था तब जाके भगवान भोलेनाथ ने उन्हें अपनी धर्मपत्नी के रूप में स्वीकार  (accept) किया था। इस व्रत को विधि-विधान करने से निसंतान  दूर होती है और संतान   की प्राप्ति जल्द मिलती है। वहीं अगर किसी की कुंडली में मंगल दोष रहता है तो इस व्रत को करने से वह दोष धीऱे-धीरे कम हो जाता है। 

कहाँ निवेश करना होगा सिंह राशि के जातकों के लिए शुभ, जानिए यहाँ क्लिक करके


व्रत महत्व 

पौराणिक कथाओं में लिखित है कि जब एक बार राजा (king)को कोई संतान नहीं हो रही थी , तब उन्होंने अपनी पत्नी (Wife) सहित माता मंगला गौरी का व्रत धारण किया था । वरदान स्वरूप उन्हें पुत्र की प्राप्ति हुई लेकिन उसकी अल्पआयु बताई गई थी। ज्योतिष की सलाह से उन्होंने अपने पुत्र की शादी उस कन्या से कराई जो माता मंगला गौरी का व्रत रखती हो क्योंकि उससे अखंड सौभाग्यवती वरदान प्राप्त होता है । इसी प्रकार उसके पति की आयु माँ पार्वती की कृपा से बढ़ जाती है । यह व्रत प्रत्येक महिलाओं को करना चाहिए इससे उनका शादीशुदा जीवन अच्छा चलता है और खुशियों का आगमन भी बना रहता है । साथ ही इस व्रत Fast को अविवाहित कन्याएं (unmarried girls) भी कर सकती हैं ,अगर कहीं उनकी शादी में कोई अर्चन/ विवधा (problems) समाप्त हो जाती है और मां गौरी की कृपा से उसे मनचाहा पति जल्द मिलता है। 

मंगला गौरी व्रत विशेष रूप से विवाहित महिलाओं द्वारा देवी गौरी से वैवाहिक आनंद प्राप्त करने के लिए मनाया जाता है। इस व्रत को आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और शेष दक्षिण भारत में श्री मंगला गौरी व्रतम के नाम से भी जाना जाता है। हिंदू भक्तों के लिए यह व्रत बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि इस महीने में पूरे मन से देवी गौरी की पूजा करने से लोगों को सुख, सफलता और समृद्धि मिलती है। पवित्र महीने के दौरान सभी मंगलवार को उपवास रखने से भगवान शिव की पत्नी प्रसन्न होती है।

पूजा विधि-

इस व्रत को करने के लिए आपको सूर्योदय (before sunrise) से पहले उठकर स्नान( wash) करके साफ वस्त्र पहनकर तैयार हो जाना चाहिए और किसी ऊंचे स्थान पर लाल चुनरी बिछा कर मां मंगला की मूर्ति  idol of maa mangla स्थापित करें । और उनसे अपने व्रत को स्वीकारने की प्रार्थना करें। फिर मां को वस्त्र, सुहाग संबंधित सामग्रियां, सोलह सिंगार ,16 चूड़िया,16 सूखे मेवे ,नारियल, फल, फूल ,इलायची ,सुपारी , लौंग ,चांदी का सिक्का व मिठाइयां चढ़ाएं और आटे का दीपक बनाकर घी का दिया जलाएं । फिर अच्छे मन से उनकी कथा सुने और माता गौरी की आरती करें । तत्पश्चात, सभी लोगों को प्रसाद वितरित करें । मां गौरी से हाथ जोड़कर भूली- भटकी  चीजों के लिए माफी मांगे। ।
 इस व्रत को रखने वाला व्यक्ति  दिन में सिर्फ एक बार ही अन्न खा सकता है।
 
इस मंत्र का करे जाप 
1. सर्व मंगल मांगल्ए शिवे सर्वार्थ साधिके
         शरण्ए त्र्यंबके गौरी नारायणी नमोस्तुते।।
2.  '' मम श्रीमंगलागौरीप्रीत्यर्थं पुत्रापौत्रासौभाग्यवृद्धये श्रीमंगलागौरीप्रीत्यर्थं पंचवर्षपर्यन्तं मंगलागौरीव्रतमहं करिष्ये ।


जानिए शुक्र के राशि परिवर्तन से किन राशियों पर होगा प्रभाव
आपके स्वभाव से लेकर भविष्य तक का हाल बताएगी आपकी जन्म कुंडली, देखिए यहाँ
किसी भी शुभ कार्य को करने से पूर्व बात कीजिए ज्योतिषी से
 
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support


फ्री टूल्स

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X