myjyotish

6386786122

   whatsapp

6386786122

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Blogs Hindi ›   Masik Durga Ashtami,Masik Durga Ashtami 2024

Masik Durga Ashtami : ज्येष्ठ माह की मासिक दुर्गाष्टमी फिर न मिलेगा दुर्लभ मौका ? जानिए क्यों है खास

Myyotish Expert Updated 13 Jun 2024 02:33 PM IST
मासिक दुर्गाष्टमी
मासिक दुर्गाष्टमी - फोटो : myjyotish

खास बातें

Masik Durgashtami 2024 Date ज्येष्ठ मास की मासिक दुर्गाष्टमी का पर्व 14 जून 2024 को रखा जाएगा। इस दिन मासिक दुर्गाष्टमी के दिन ही धूमावती जयंती का पूजन भी होगा। शुभ योगों में माता का पूजन करने से भक्तों की सभी मनोकामनाएं होती हैं पूर्ण। 
 
विज्ञापन
विज्ञापन
Masik Durgashtami 2024 Date ज्येष्ठ मास की मासिक दुर्गाष्टमी का पर्व 14 जून 2024 को रखा जाएगा। इस दिन मासिक दुर्गाष्टमी के दिन ही धूमावती जयंती का पूजन भी होगा। शुभ योगों में माता का पूजन करने से भक्तों की सभी मनोकामनाएं होती हैं पूर्ण। 

Durga Ashtami 2024 Upay: ज्येष्ठ माह की मासिक दुर्गाष्टमी के दिन किए जाने वाले कुछ उपाय देंगे हर प्रकार की सफलता का सुख। इसी के साथ मासिक दुर्गाष्टमी पूजा से मिलेंगी करियर और जीवन में सफलता की गारंटी। 

पंचांग अनुसार हर महीने आने वाली दुर्गाष्टमी को मासिक दुर्गाष्टमी के रुप में पूजा जाता है।  मान्यता है कि इस दिन व्रत रखने से मां दुर्गा प्रसन्न होती हैं। अगर मासिक दुर्गाष्टमी के दिन भक्ति भाव से पूजा की जाए तो माता हर कमियों को दूर करके भक्त को अपना आशीर्वाद देती है। आइए जानते हैं मासिक दुर्गाष्टमी पर क्या करें और पूजा के कुछ विशेष उपाय। 
 

ज्येष्ठ मासिक दुर्गाष्टमी पूजा मुहूर्त 2024 

ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि 13 जून 2024 को रात 08:03 बजे से शुरू होगी। साथ ही, यह 14 जून को रात 10:33 बजे समाप्त होगी। इस अनुसार मासिक दुर्गाष्टमी का पर्व 14 जून को मनाया जाएगा। इस दिन माता धूमावती का पूजन भी किया जाएगा। अगर जीवन परेशानियों से घिरा है, तो मासिक दुर्गाष्टमी के दिन जरूर करें ये माता की पूजा मां अम्बे की कृपा से दूर होंगी हर बाधा। 
 

मासिक दुर्गाष्टमी उपाय दिलाएंगे सफलता का सुख 


मासिक दुर्गाष्टमी का पर्व हर माह की शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है। इसके साथ ही शुभ फल पाने के लिए व्रत भी किया जाता है।  इस दिन मां दुर्गा की पूजा की जाती है। साथ ही प्रिय चीजों का भोग लगाया जाता है। इससे पूजा का पूरा फल मिलता है। सनातन धर्म में माता का पूजन बहुत ही चमत्कारी माना जाता है। शास्त्रों के अनुसार मासिक दुर्गाष्टमी के दिन माता का पूजन करने से कार्य स्वत: ही सफल होने लगते हैं। 

इस माह आने वाली दुर्गाष्टमी के दिन करें दस महाविद्या में से एक धूमावती माता का पूजन। माता के पूजन के द्वारा भक्तों के जीवन में कष्टों का समापन होगा। आर्थिक लाभ पूर्ण होंगे। इसी के साथ इस दिन पर यदि दुर्गा बीसा यंत्र घर लाएं और इसका पूजन करें तो मिलेगा विशेष फल। 

मासिक दुर्गाष्टमी के दिन सुबह स्नान आदि से निवृत्त होकर मां दुर्गा की पूजा करनी चाहिए और व्रत का संकल्प लेना चाहिए। मासिक दुर्गाष्टमी की पूजा में लाल, पीले और सफेद रंग के कपड़े पहनने चाहिए। ऐसा करना शुभ माना जाता है। धूमावती पूजन में माता को श्वेत पुष्प अवश्य अर्पित करें। कार्यों में आ रही बाधाएं दूर होंगी। 

मासिक दुर्गाष्टमी के दिन मंदिर में माता की प्रतिमा को स्थापित करके खीर, फल और मिठाई आदि का भोग लगाना चाहिए। मासिक दुर्गाष्टमी के दिन व्रत करने वाले को भोजन नहीं करना चाहिए, काले कपड़े पहनने की भी मनाही होती है इस समय लाल केसरिया रंग के वस्त्र शुभ माने गए हैं। व्रत के दौरान किसी से गलत बात नहीं करनी चाहिए और न ही किसी के बारे में गलत श्ब्द बोलने चाहिए।

इस दिन कन्याओं को भोजन अवश्य कराना चाहिए छोटी कन्याओं को भोजन कराने के साथ दक्षिणा भी अवश्य देनी चाहिए। 

मान्यता है कि इस दिन व्रत रखने से मां दुर्गा प्रसन्न होती हैं। मासिक दुर्गाष्टमी के दिन अगर भक्ति भाव से पूजा की जाए तो मां सभी कमियों को दूर कर भक्त पर कृपा करती हैं। मासिक दुर्गाष्टमी के दिन माता के मंत्र जाप एवं आरती के साथ इस दिन को व्यतीत करना चाहिए। माता की भक्ति भाव से की गई पूजा दिलाती है विशेष सुख दूर होती है सभी बाधाएं। 
 
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support
विज्ञापन
विज्ञापन


फ्री टूल्स

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
X