myjyotish

6386786122

   whatsapp

6386786122

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Blogs Hindi ›   Mala Jaap: Know the importance of different mala chanting and its benefits

Mala Jaap: विभिन्न माला जाप का महत्व और जानें उसके लाभ

Nisha Thapaनिशा थापा Updated 01 Jul 2024 12:10 PM IST
माला जाप का महत्व एवं लाभ
माला जाप का महत्व एवं लाभ - फोटो : My Jyotish

खास बातें

Mala Jaap: माला जाप के कई फायदे होते हैं, इससे न सिर्फ हम आधात्म से जुड़ते हैं, बल्कि हमारी एकाग्रता शक्ति भी स्थिर होती है। तो आइए इस लेख में जानते हैं कि विभिन्न प्रकार की माला की जाप से कौन से देवी- देवताओं को स्मरण किया जाता है और इसका क्या लाभ होता है। 
विज्ञापन
विज्ञापन

Mala Jaap: हमारे घर के बड़े-बुजुर्ग माला का जाप करते हैं और माला में जितने दाने होते हैं उतनी बार भगवान का स्मरण करते हैं, अक्सर यह गिनती 108 बार की होती है। हिंदू धर्म में माला जाप का अत्यंत महत्वपूर्ण स्थान है। यह एक प्राचीन परंपरा है जो हजारों वर्षों से चली आ रही है। माला का उपयोग मंत्रों का जाप और भगवान को स्मर करने के लिए किया जाता है। लेकिन यदि आपने ध्यान दिया हो तो कुछ लोग माला जाप रुद्राक्ष से तो कुछ लोग तुलसी की माला से करते हैं, लेकिन ऐसा क्यों है इस लेख में जानते हैं।
 

विभिन्न माला के जाप का महत्व

 

रुद्राक्ष की माला का जाप भगवान शिव को स्मरण करने के लिए किया जाता है, क्योंकि रुद्राक्ष की उत्पत्ति ही स्वयं भगवान शिव के आंसुओं से हुई है। कहा जाता है कि रुद्राक्ष माला के द्व्रारा ओम नमः शिवाय या फिर महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना चाहिए।  इससे भगवान शिव की कृपा सदैव जातक पर बनी रहती है।

स्टफिक माला का जाप मां लक्ष्मी, मां सरस्वती और भगवान गणेश को स्मरण करने के लिए किया जाता है। स्टफिक माला  माता लक्ष्मी, माता सरस्वती और गणेश जी के मंत्रों का जाप किया जाता है।

हमारी सनातन संस्कृति में हल्दी को शुभ माना जाता है और हल्दी का उपयोग हर एक धार्मिक कार्य में किया जाता है। इसी प्रकार से हल्दी की माला जाप से शत्रुओं का नाश होता है। हल्दी की माला से बगलामुखी मंत्रों का जाप करते हैं, इसके साथ ही हल्दी की माला से गणेश जी के मंत्रों का भी जाप किया जाता है।

तुलसी का पौधा भगवान विष्णु को समर्पित होता है और इसके दानों की माला पहनने से भगवान विष्णु की कृपा सदैव भक्तजनों पर पड़ती है। इसी प्रकार से तुलसी माला के जाप से भी भगवान विष्णु और उनके समस्त अवतार की उपासना की जाती है।

चंदन की लकड़ी का उपयोग धार्मिक कार्यों के लिए किया जाता है, इसके साथ ही चंदन की माला का उपयोग देवी मित्रों देवी मां को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है।
 

माला जाप के लाभ


आध्यात्मिक उन्नति: माला जाप को मन को शांत करने, एकाग्रता बढ़ाने और आध्यात्मिक चेतना को ऊंचा उठाने का एक शक्तिशाली साधन माना जाता है। मंत्रों के कंपन मन और आत्मा पर सकारात्मक प्रभाव डालते हैं, जिससे नकारात्मक विचारों को दूर करने और आंतरिक शांति प्राप्त करने में मदद मिलती है।
ईश्वर से जुड़ाव: माला जाप भक्त को ईश्वर या देवी-देवताओं से जुड़ने का एक माध्यम प्रदान करता है। मंत्रों का जाप करते समय, व्यक्ति का ध्यान ईश्वर पर केंद्रित होता है, जिससे भक्तिभाव और आत्मसमर्पण की भावना बढ़ती है।
मनोकामना पूर्ति: ऐसा माना जाता है कि माला जाप से मनोकामनाएं पूरी होती हैं। यदि आप श्रद्धा और विश्वास के साथ मंत्रों का जाप करते हैं, तो आपकी इच्छाएं अवश्य ही पूरी होंगी।
नकारात्मक कर्मों का नाश: माला जाप से पापों और नकारात्मक कर्मों का नाश होता है। मंत्रों के जाप से आत्मा शुद्ध होती है और मोक्ष प्राप्ति का मार्ग प्रशस्त होता है।
तनाव और चिंता से मुक्ति: माला जाप तनाव और चिंता से मुक्ति दिलाने में भी कारगर है। मंत्रों का जाप मन को शांत करता है और नकारात्मक विचारों को दूर करता है, जिससे व्यक्ति को मानसिक शांति और प्रसन्नता प्राप्त होती है।

माला जाप सनातन धर्म संस्कृति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह आध्यात्मिक उन्नति, मनोकामना पूर्ति, तनावमुक्ति और ईश्वर से जुड़ने का एक शक्तिशाली माध्यम है। यदि आप नियमित रूप से माला जाप करते हैं, तो आप निश्चित रूप से इसके सकारात्मक प्रभावों का अनुभव करेंगे। यदि आप इससे संबंधित अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो हमारे ज्योतिषाचार्यों से संपर्क करें।

  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support
विज्ञापन
विज्ञापन


फ्री टूल्स

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
X