myjyotish

6386786122

   whatsapp

6386786122

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Blogs Hindi ›   Lord Shiva Puja: Keep these things in mind while worshipping Lord Shiva

Lord Shiva Puja : भोलेनाथ की पूजा में इन बातों का रखें ख्याल वर्ना रुठ जाएंगी माँ पार्वती

Acharya RajRani Updated 17 Jun 2024 11:27 AM IST
भगवान शिव
भगवान शिव - फोटो : myjyotish

खास बातें

Shiv Puja Ke Niyam: भोलेनाथ की पूजा नहीं है इतनी आसान जितना भक्त मान लेते हैं। क्योंकि अगर हो जाएगी भूल तो देवी पार्वती भी आपसे हो जाएंगी दूर। इसलिए भगवान शिव पूजा में खास बातों का हमेशा रखें ख्याल 
 
विज्ञापन
विज्ञापन
Shiv Puja Ke Niyam: भोलेनाथ की पूजा नहीं है इतनी आसान जितना भक्त मान लेते हैं। क्योंकि अगर हो जाएगी भूल तो देवी पार्वती भी आपसे हो जाएंगी दूर। इसलिए भगवान शिव पूजा में खास बातों का हमेशा रखें ख्याल 

Shiva Puja : भगवान शिव जो भोलेनाथ भी हैं जिनकी पूजा को सबसे सरल और साधारण रुप से कर लेने पर भी वह शीघ्र प्रसन हो जाते हैं। लेकिन इस साधारण पूजा में भी कई बार हम कर बैठते हैं कुछ गलतियां जिनका भुगतान शक्ति के रुठ जाने के रुप में भक्त को भोगना पड़ सकता है। इसलिए विधि-विधान से करें भगवान शिव की पूजा,और इन बातों का रखें विशेष ध्यान। 
 

भगवान शिव के साथ है शक्ति का स्थान 

महादेव की कृपा पाने के लिए यदि विधि-विधान से करें भगवान शिव की पूजा तो घर पर बरसती है महादेव की कृपा। इसी के साथ मिलता है शक्ति का आशीर्वाद। भगवान शिव के साथ सदैव शक्ति का वास माना गया है। इसलिए जब शिव को पूजें तो शक्ति का स्मरण अवश्य करना चाहिए।  भगवान शिव को दूध, फूल और बेलपत्र चढ़ाए जाते हैं तो साथ में देवी को भी लाल वस्त्र एवं अन्य प्रकार की सामग्री अवश्य अर्पित करनी चाहिए। 
 

समय पर आरंभ करें पूजन 

हिंदू धर्म में भगवान शिव की पूजा का बहुत महत्व है। शास्त्रों के अनुसार भगवान शिव जितने भोले हैं, उतनी ही शक्ति भी भोली हैं किंतु वह महादेव की पूजा में कमी से शीघ्र क्रोधित भी हो सकती हैं। हिंदू धर्म में सभी देवी-देवताओं की पूजा एक विशेष नियम रहता है। शास्त्रों के अनुसार हर दिन भगवान शिव को समर्पित होता है। लोग नियमित भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए  व्रत रख सकते हैं, भगवान शिव की पूजा का विशेष महत्व है।

कहा जाता है कि भगवान शिव की पूजा करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। ऎसे में पूजा हेतु सुबह जल्दी उठकर स्नान करना चाहिए। इस दिन मंदिर में जाकर भगवान शिव के शिवलिंग पर जल और दूध चढ़ाना चाहिए ऎसा करने से भगवान शिव ही नहीं बल्कि माता भी होती हैं प्रसन्न 

भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा जरूर करनी चाहिए। जल, दूध, बेलपत्र, फूल मिष्ठान आदि अर्पित करना चाहिए। इसके बाद भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा और आरती करनी चाहिए। शाम को भी भगवान की पूजा की जाती है और आरती की जाती है। भगवान शिव की कृपा से जीवन के हर संकट और कष्ट दूर होते हैं। मन की मुरादें पूरी होती हैं। भगवान शिव की पूजा के कुछ नियम हैं, जिनका पालन करना जरूरी है। नियमित पूजा करने से शिव की कृपा जल्द ही प्राप्त होती है। भगवान शिव को बेलपत्र चढ़ाना हो, जल से अभिषेक करना हो या शिवलिंग की परिक्रमा करनी हो, हर चीज के अपने नियम होते हैं।  


शिव पूजा के महत्वपूर्ण नियम

जब भी शिव पूजा करें तो सबसे पहले आचमन आदि से शुद्धि करनी चाहिए।  शुद्ध होकर ही पूजा करनी चाहिए। शिव पूजा में तुलसी, सिंदूर, हल्दी, नारियल, शंख, केतकी के फूल आदि का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि ये सभी चीजें शिव पूजा में वर्जित हैं। पूर्व दिशा की ओर मुख करके भगवान का जलाभिषेक करना चाहिए बैठकर या झुककर शिवलिंग का जलाभिषेक करना चाहिए। सीधे खड़े   होकर जलाभिषेक नहीं करना चाहिए।

शिव पूजा के दौरान कभी भी शिवलिंग की पूरी परिक्रमा नहीं करनी चाहिए। शिवलिंग की बाईं ओर से परिक्रमा शुरू करें और अर्धवृत्ताकार स्थिति में जाकर वापस अपने स्थान पर आ जाएं। शिवलिंग की जलाभिषेक यानी अभिषेक के दौरान उस स्थान को पार नहीं करना चाहिए जहां से जल नीचे की ओर गिरता है। इस कारण हमेशा शिवलिंग की आधी परिक्रमा करनी चाहिए भगवान शिव को तीन पत्तों वाला एक पूरा बेलपत्र अर्पित करना चाहिए इसके अलावा बेलपत्र के अलावा आप भांग, धतूरा, आक या मदार का फूल, शमी के पत्ते आदि भी चढ़ा सकते हैं।

ज्योतिषाचार्यों से बात करने के लिए यहां क्लिक करें- https://www.myjyotish.com/talk-to-astrologers 
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support
विज्ञापन
विज्ञापन


फ्री टूल्स

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
X