myjyotish

6386786122

   whatsapp

6386786122

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Blogs Hindi ›   Know the personality of people with Bhagyank 1 and the process of calculating bhagyank

Bhagyank 1: जानें भाग्यांक 1 वाले जातकों का व्यक्तित्व कैसा होता है और इसकी गणना की प्रक्रिया

Nisha Thapaनिशा थापा Updated 11 Jul 2024 11:44 AM IST
भाग्यांक 1 वाले लोग कैसे होते हैं?
भाग्यांक 1 वाले लोग कैसे होते हैं? - फोटो : My Jyotish

खास बातें

Bhagyank 1: जानें भाग्यांक की गणना कैसे की जाती है और भाग्यांक 1 वाले जातकों का व्यक्तित्व कैसा होता है। 
विज्ञापन
विज्ञापन

Bhagyank 1 : ज्योतिष शास्त्र की तरह ही अंक ज्योतिष का काफी अधिक महत्व माना गया है। अंक ज्योतिष के अनुसार हमारा जन्म का समय और जन्म की तारीख हमारे बारे में बहुत कुछ बताती है। अंक ज्योतिष में, भग्यांक का बहुत महत्व होता है। इसे जन्मपथ संख्या भी कहा जाता है। यह किसी व्यक्ति के भाग्य और उसकी जीवन यात्रा के बारे में बहुत कुछ बताता है। तो आइए इस लेख के जरिए जानते हैं कि भाग्यांक क्या होता है और इसकी गणना कैसे की जाती है, इसके साथ ही हम इस लेख में भाग्यांक 1 वाले की चर्चा करेंगे।
 

भाग्यांक की गणना कैसे होती है? (How to calculate Bhagyank?)

 

जिस प्रकार से मूलांक की गणना के लिए जातक की जन्म की तारीख को देखा जाता है, ठीक इसी प्रकार से भाग्यांक की गणना करने के लिए जन्म तिथि, जन्म माह और जन्म वर्ष के अंकों को जोड़ा जाता है। उदाहरण के लिए, यदि किसी व्यक्ति का जन्म 7-1-2000 को हुआ है, तो हमें सभी अंकों को जोड़ना होगा। 

7 + 0 + 1 + 2 + 0 + 0 + 0 = 10

अब, चूंकि 10 एक मुख्य अंक (मास्टर नंबर) है औक मूलांक की तरह ही भाग्यांग के लिए अंत में केवल एक ही अंक आना चाहिए। इसलिए इसे आगे जोड़ने पर 1 +0 = 1 हो जाएगा और इसका भाग्यांक अंत में 1 हुआ। इसी प्रकार से आप अपनी जन्म तिथि को इस प्रकार से जोड़कर अपना भाग्यांक निकाल सकते हैं।

यह माना जाता है कि भग्यांक हमारे जीवन की दिशा को प्रभावित करता है और हमारे अनुभवों को आकार देता है। यह हमारे लक्ष्यों, चुनौतियों और जीवन में मिलने वाले अवसरों को भी दर्शाता है। हालाँकि, यह निश्चित भविष्यवाणी नहीं है, बल्कि यह हमारे जीवन पथ पर चलने में मार्गदर्शन का काम करता है। अपने भग्यांक को समझने से हमें अपनी क्षमताओं को पहचानने और अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद मिल सकती है।
 

 भाग्यांक 1 वाले लोग  (Bhagyank 1 people personality)


सूर्य ग्रह का प्रभाव: भग्यांक 1 वाले जातकों पर सूर्य ग्रह का प्रभाव माना जाता है। 
सूर्योपासना: भग्यांक 1 वालों के लिए सूर्योपासना लाभदायक मानी जाती है। सूर्य की रोशनी में कुछ समय बिताना इनके लिए शुभ माना जाता है।
स्वतंत्रता और नेतृत्व: भग्यांक 1 वाले जातक स्वतंत्रता और नेतृत्व के लक्षण रखते हैं। ये महत्वाकांक्षी होते हैं और सफलता प्राप्त करने के लिए कठोर परिश्रम करने में भी पीछे नहीं हटते। 
सम्मान और अनुशासन: इनमें अपने पिता के प्रति अत्यधिक सम्मान होता है और वे अपने पिता को सफलता का प्रतीक मानते हैं। साथ ही, इनमें अनुशासन का भाव भी पाया जाता है। 
सहायक हाथ: ऐसे लोगों को जीवन में कई मददगार मिलते हैं, जो उनकी सफलता में योगदान देते हैं।
राज करना ही नियति: ज्योतिष के अनुसार, भग्यांक 1 जातकों की नियति दूसरों पर राज करने की होती है, ना कि दूसरों के अधीन रहने की। 
शुभ दिन और रंग: इनके लिए रविवार शुभ दिन माना जाता है। वहीं, रविवार के दिन नारंगी रंग के कपड़े पहनना इनकी किस्मत को और भी बल प्रदान करता है। 
सरकारी नौकरी की चाह: अक्सर भग्यांक 1 वाले जातक अपने जीवन में सरकारी नौकरी करना पसंद करते हैं। 
करियर विकल्प: इनके लिए प्रशासनिक सेवा (IAS), पुलिस सेवा (IPS), राजनीति या सरकारी क्षेत्र से जुड़े अन्य क्षेत्र उपयुक्त कैरियर विकल्प हो सकते हैं। 

तो इस प्रकार से भाग्यांक 1 वाले जातकों को व्यक्तित्व ऐसा होता है। यदि आप इससे संबंधित अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो हमारे ज्योतिषाचार्यों से संपर्क करें।

  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support
विज्ञापन
विज्ञापन


फ्री टूल्स

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
X