myjyotish

9873405862

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Blogs Hindi ›   Narada Jayanti 2021: know auspicious time, worship method and importance

Narada Jayanti 2021: आज नारद जयंती, जानें शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व

myjyotish expert Updated 27 May 2021 10:56 AM IST
आज नारद जयंती, जानें शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व
आज नारद जयंती, जानें शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व - फोटो : google

हिंदू पंचांग के अनुसार आज यानी गुरुवार के दिन नारद जयंती है। देश में इसे अलग-अलग रूपों में मनाया जाता है।  
हिंदू धर्म के अनुसार, नारद, देवताओं के दूत या देवर्षि का हिंदू पौराणिक कथाओं के सभी कथाओं और पुराणों में उल्लेख है। वह अकेला ऐसा व्यक्ति था जो किसी विशिष्ट दुनिया तक सीमित नहीं था। नारद स्वतंत्र रूप से किसी भी लोक की यात्रा कर सकते थे, अर्थात देव लोक, पृथ्वी लोक या पाताल लोक अपनी  वीणा को  बजाते हुए और संदेश पहुँचाते थे। नारद मुनि भगवान विष्णु के परम भक्त थे और हर युग में महत्वपूर्ण महत्व रखते हैं। कहते है कि इसलिए हर साल बुद्ध पूर्णिमा के बाद हिंदू नारद की जयंती मनाते हैं। हिंदू कैलेंडर के अनुसार, नारद जयंती हिंदू कैलेंडर के तीसरे महीने कृष्ण प्रतिपदा तिथि में जैष्ठ के पहले दिन आती है।

क्या आपको चाहिए अनुभवी एक्सपर्ट की सलाह ?

SUBMIT


दक्षिण भारतीय कैलेंडर के अनुसार, नारद जयंती वैशाख महीने में कृष्ण प्रतिपदा तिथि में आती है, हालांकि, उत्तर और दक्षिण भारतीय कैलेंडर दोनों में तारीख समान है। इस वर्ष, नारद जयंती पूरे देश में 27 मई, 2021 को मनाई जाएगी यानी की आज।

तिथि और शुभ मुहूर्त
तिथि: 27 मई, गुरुवार यानी आज के दिन।
शुभ मुहूर्त शुरू: 4 बजकर 43 मिनट, 26 मई से।
शुभ मुहूर्त समाप्त: 27 मई यानी आज दोपहर 1:02 बजे तक

पूजा का समय: 27 मई यानी आज सुबह 11:50 बजे से दोपहर 12:50 बजे तक, दोपहर 2:42 बजे से शाम 4:07 बजे तक रहेगा। 28 मई को सुबह 4:09 से सुबह 4:57 बजे तक।

नारद जयंती पूजा विधिः

सुबह सूर्योदय से पहले उठकर स्नान करें।
 साफ और अच्छे कपड़े पहनें।
पूजा सामग्री जैसे फूल, तुलसी के पत्ते, चंदन, अगरबत्ती आदि एकत्रित करें।
नीरद जी को चंदन और कुमकुम से तिलक करें, फूल और तुलसी के पत्ते चढ़ाएं।
इस दिन भगवान विष्णु की पूजा करें, क्योंकि नारद जी  नारायण के परम भक्त थे और साथ ही विष्णु सहस्रनाम का पाठ का जाप करें और इसी के साथ  भगवान विष्णु की आरती करके अपनी पूजा समाप्त करें।

अधिक जानने के लिए हमारे ज्योतिषियों से संपर्क करें

नारद जयंती  उपवास अनुष्ठान

आज के दिन व्रत रखने का भी विधान है।
तो आइए जानते है कि आज के दिन व्रत में किन सूचीबद्ध अनुष्ठानों का पालन करना चाहिए:

व्रत भक्त पूरे दिन दूध उत्पादों और फलों का सेवन करना चाहिए। अनाज या दाल का सेवन नहीं करना चाहिए
जो भक्त व्रत रखते है उन्हें रात को नहीं सोना चाहिए और साथ ही भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए विष्णु मंत्रों का जाप करना चाहिए।
किसी भी अपशब्दों के प्रयोग करने से  बचें ।
आज के दिन प्याज, लहसुन, मांसाहारी या शराब का सेवन न करें ।
मान्यता है कि नारद जयंती पर दान करना अत्यधिक लाभदायक माना जाता है। इसलिए भक्तों को ब्राह्मणों और जरूरतमंद लोगों को कपड़े, भोजन, धन आदि का दान करना चाहिए।

इन्हें जरूर पढ़ें:
राहु, केतु और शनि की बिगड़ी दशा के लिए लाल किताब के नुस्खे
वास्तु शास्त्र के अनुसार ऐसा घर बनवाए
विवाह में आ रही हो कठिनाई तो करें ये अचूक उपाए





 
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support


फ्री टूल्स

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X