myjyotish

6386786122

   whatsapp

6386786122

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Blogs Hindi ›   Ganga Dussehra 2024 : Trigrahi Yoga on Ganga Dussehra Yoga effect

Ganga Dussehra 2024 Yoga: गंगा दशहरा पर त्रिग्रही योग देगा इन कार्यों को करने का तीन गुना लाभ

Acharya RajRani Updated 14 Jun 2024 07:46 PM IST
गंगा दशहरा
गंगा दशहरा - फोटो : myjyotish

खास बातें

Ganga Dussehra Puja : गंगा दशहरा का समय विशेष शुभ फलों को देने वाला होता है। इस वर्ष गंगा दशहरा पर बनेगा त्रिग्रही योग जो होगा बेहद विशेष। गंगा पूजा 2024 के साथ गंगा दशहरा 2024 के दिन स्नान दान के साथ गंगा दशहरा व्रत पूजा करना जीवन में सुखों को प्रदान करता है।
विज्ञापन
विज्ञापन
Ganga Dussehra Puja : गंगा दशहरा का समय विशेष शुभ फलों को देने वाला होता है। इस वर्ष गंगा दशहरा पर बनेगा त्रिग्रही योग जो होगा बेहद विशेष। गंगा पूजन के साथ गंगा दशहरा के दिन स्नान दान के साथ गंगा दशहरा व्रत पूजा करना जीवन में सुखों को प्रदान करता है। जानें इस दिन त्रिग्रह योग, गंगा दशहरा उपाय,  गंगा दशहरा ग्रह प्रभाव 

Ganga Dussehra 2024 Daan: गंगा दशहर अदान के साथ यदि राशि अनुसार त्रिग्रही योग पर दान कार्य करने से नव ग्रह शुभ होते हैं। गंगा दशमी पूजन के दिन अपनी राशि अनुसार करें इन चीजों का दान, जिससे मां लक्ष्मी की कृपा के साथ मिलेगी नव ग्रहों की कृपा। 

गंगा दशहरा पर हरिद्वार गंगा घाट पर कराएँ 10 महादान- पाएँ 10 पापों से मुक्ति 16 जून 2024

हिंदू धर्म में गंगा दशहरा का विशेष महत्व है और इस दिन किए जाने वाले धार्मिक कार्यों का भी। धार्मिक शास्त्रों के अनुसार, ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को गंगा माता पृथ्वी पर आती हैं, इसलिए इस दिन गंगा दशहरा का त्योहार मनाया जाता है। इसके साथ ही, मान्यता है कि इस दिन मां गंगा ब्रह्मा के कमंडल से उतरकर भगवान शिव की जटाओं से धरती पर उतरती हैं। इस दिन देशभर में मेले लगते हैं, धार्मिक नगरों में लोग उत्साहपूर्वक भाग लेकर इस दिन को मनाते हैं।


गंगा दशहरा त्रिग्रही योग 

भारतीय संस्कृति में गंगा नदी सिर्फ एक नदी नहीं बल्कि मां का एक रूप है जो जीवनदायी जल प्रदान करती है और पापों का नाश करती है। गंगा माता की पूजा द्वारा भक्त जीवन के अवांछित कष्टों से छुटकारा पाता है, गंगा दशहरा पर भक्तगण गंगा माता की कृपा और आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए विभिन्न तरीकों से माता की पूजा करते हैं।

गंगा माता की भक्ति भक्तों को गंगा माता की महिमा और उनके दिव्य गुणों को प्रदान करने वाली होती, यह भक्तों को जीवन में शुभ कर्मों को करने के लिए प्रेरित करता है और उन्हें आध्यात्मिक शांति और मोक्ष प्रदान करता है। गंगा दशहरा के दिन गंगा माता की पूजा करने से भक्तों को गंगा माता की कृपा प्राप्त होती है, जिसके परिणामस्वरूप उन्हें जीवन में सुख, समृद्धि और सफलता मिलती है।

बटुक भैरव जयंती के शुभ दिन प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात - 16 जून 2024

गंगा दशहरा पर पूजा-पाठ तथा स्नान-दान के लिए 16 जून का समय श्रेष्ठ रहेगा क्योंकि माना जाता है कि त्रिग्रही योग में गंगा दशहरा होने पर पवित्र नदियों में स्नान करना और दान करना बहुत पुण्यदायी माना जाता है। इस समय के दौरान मिथुन राशि में सूर्य, बुध और शुक्र का होना त्रिग्रही योग का फल देता है। इस कारण से बुधादित्य नामक शुभ योग के साथ शुक्रादित्य योग एवं लक्ष्मी विष्णु योग का निर्माण होता है। लक्ष्मी नारायण योग के शुभ फल मिलने से गंगा दशहरा पर राशियों को मिलेगी ग्रहों की शुभता। 


त्रिग्रही योग और गंगा दशहरा पूजन 

रविवार, 16 जून 2024 को गंगा दशहरा मनाया जाएगा। गंगा दशहरा के लिए ज्येष्ठ मास की दशमी तिथि 16 जून 2024 को सुबह 02:32 बजे शुरू होगी। इसके अलावा दशमी तिथि 17 जून 2024 को सुबह 04:43 बजे समाप्त होगी। गंगा दशहरा के दिन हस्त नक्षत्र रहेगा। हस्त नक्षत्र का आरंभ समय 15 जून 2024 को प्रातः 08:14 बजे से होगा तथा यह हस्त नक्षत्र 16 जून 2024 को प्रातः 11:13 बजे समाप्त होगा। गंगा दशहरा पर पूजा-पाठ तथा स्नान-दान के लिए 16 जून का समय श्रेष्ठ रहेगा। माना जाता है कि त्रिग्रही योग में गंगा दशहरा होने पर पवित्र नदियों में स्नान करना और दान करना बहुत पुण्यदायी माना जाता है। 
 

गंगा दशहरा पर गंगा स्नान के साथ दान का महत्व

गंगा दशहरा एक ऐसा शुभ समय है जब कई शुभ योग अपना प्रभाव देते हैं। इसी प्रकार इस वर्ष इस शुभ दिन पर कई विशेष योग भी बन रहे हैं, जिनका फल पूजा-पाठ, स्नान-दान के कार्यों में अवश्य मिलेगा। इस वर्ष ग्रहों की स्थिति के अनुसार कई राजयोग भी बन रहे हैं। 
  • गंगा दशहरा के दिन सूर्य उपासना अवश्य करें। 
  • इसके साथ गंगा जल में दूध मिलाकर इसका शिव पर अभिषेक करें। 
  • गंगा स्नान करें अथवा जल में गंगा जल डालकर इससे स्नान करें। 
  • गंगा दशहरा के दिन सात प्रकार के अनाज का दान करें। 

ज्योतिषाचार्यों से बात करने के लिए यहां क्लिक करें- https://www.myjyotish.com/talk-to-astrologers 
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support
विज्ञापन
विज्ञापन


फ्री टूल्स

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
X