myjyotish

6386786122

   whatsapp

6386786122

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Blogs Hindi ›   Beej Mantra: Is there any planetary defect in the horoscope? Avoid chanting these Beej Mantras

Beej Mantra: कुंडली में है कोई ग्रह दोष? करें इन बीज मंत्र के जाप से दूर

Nisha Thapaनिशा थापा Updated 11 Jun 2024 06:11 PM IST
नवग्रह बीज मंत्र
नवग्रह बीज मंत्र - फोटो : My Jyotish

खास बातें

Beej Mantra: यदि आपकी कुंडली में कोई ग्रह अशुभ स्थान पर बैठा है,जिसके कारण जिंदगी में कई नकारात्मक परिवर्तन देखने को मिल रहे हैं, तो आपको अवश्य ही इन बीज मंत्रों का जाप करना चाहिए।
विज्ञापन
विज्ञापन
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जब ग्रह कमजोर होते हैं, तो उसका असर जातक पर प्रत्यक्ष रूप से देखने को मिलता है। वहीं दूसरी तरफ जब ग्रह की स्थिति अच्छी या मजबूत होती है तो जातक को लाभ भी मिलता है। इसी क्रम में ग्रहों को मजबूत बनाने के लिए हमारे ज्योतिषाचार्य ने कुछ बीज मंत्र बताएं हैं, जिनका जाप करने से ग्रह मजबूत होते हैं और शुभ फल देते हैं।

सूर्य ग्रह का बीज मंत्र


सूर्य ग्रह जातक के जीवन में नौकरी, मान सम्मान और समृद्धि लाने का कार्य करता है। वहीं दूसरी तरफ यदि सूर्य कमजोर है, तो इसका विपरीत प्रभाव भी जातक को देखना पड़ सकता है। इसके लिए आपको सूर्य बीज मंत्र का जाप करना चाहिए। ॐ ह्रां ह्रीं ह्रौं सः सूर्याय नमः, इस मंत्र को रविवार के दिन प्रात काल में स्नान के बाद जपना चाहिए।
 

चंद्र ग्रह का बीज मंत्र


यदि चंद्रमा किसी जातक की कुंडली में कमजोर है, तो उसे मानसिक रूप से कई बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है, साथ ही उसे मातृ पक्ष से पी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इसके साथ ही धन की कमी भी हो सकती है। चंद्र ग्रह को मजबूत बनाने के लिए आपको चन्द्र बीज मंत्र का जाप करना चाहिए। ॐ श्रां श्रीं श्रौं स: चन्द्रमसे नम: इस मंत्र को सोमवार के दिन आपको जपना चाहिए। 

बुध ग्रह का बीज मंत्र


यदि किसी जातक की कुंडली में बुध निर्बल या कमजोर है, तो जातक की तरक्की और प्रसिद्धि के द्वारा बंद हो जाते हैं। तो इसकी मजबूती के लिए आपको इस बीच मंत्र का जाप अवश्य ही करना चाहिए। ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं सः बुधाय नमः। इस मंत्र को आप बुधवार के दिन 108 बार
 

बृहस्पति ग्रह का बीज मंत्र


बृहस्पति ग्रह जातक को सुख-सुविधा, धनलाभ, सौभाग्य, लंबी आयु आदि प्रदान करता है, लेकिन यदि आपकी कुंडली में बृहस्पति ग्रह कमजोर है, तो आपको विपरीत परिस्थितियों का सामना भी करना पड़ सकता है। ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं सः गुरुवे नमः। इसके लिए आपको इस बीज मंत्र का जाप करना चाहिए।
 

शुक्र ग्रह का बीज मंत्र


यदि किसी जातक की कुंडली में शुक्र ग्रह मजबूत है, तो उसे धन की कमी नहीं होती है। वहीं दूसरी तरफ शुक्र ग्रह मजबूत न होने पर व्यक्ति निर्धन भी बना सकता है। ॐ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय। आपको शुक्र ग्रह की मजबूती के लिए इस बीज मंत्र का जब शुक्रवार के दिन करना चाहिए। 
 

शनि ग्रह का बीज मंत्र


शनिदेव न्याय के देवता हैं और वह कर्म के अनुसार जातक को फल देते हैं, यदि शनि ग्रह आपकी कुंडली में शुभ नहीं है, तो आपको कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इसकी मजबूती के लिए आपको शनिवार के दिन शनि बीज मंत्र का जाप करना चाहिए। ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः।
 

राहु ग्रह का बीज मंत्र


यदि जाता की कुंडली में राहु ग्रह अशुभ स्थिति में है, तो जातक को तनाव और मानसिक क्षति हो सकती है। तो ग्रहको मजबूत करने के लिए आपको राहु बीज मंत्र का 108 बार रोजाना जब करना चाहिए। ॐ भ्रां भ्रीं भ्रौं सः राहवे नमः।
 

केतु ग्रह का बीज मंत्र


यदि किसी जातक की कुंडली में केतु ग्रह अशुभ स्थिति में है, तो जातक को कई प्रकार की परेशानियां हो सकती हैं। आपको केतु ग्रह की शांति के लिए केतु बीज मंत्र का जाप करना चाहिए। ॐ स्रां स्रीं स्रौं सः केतवे नमः।

तो, इस प्रकार से आप इन बीज मंत्रों के जाप से अपने अशुभ ग्रहों को शांत ककर सकते हैं। यदि आपको पास इससे संबंधित कोई सवाल है, तो हमारे ज्योतिषाचार्यों से संपर्क करें।
  • 100% Authentic
  • Payment Protection
  • Privacy Protection
  • Help & Support
विज्ञापन
विज्ञापन


फ्री टूल्स

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
X