myjyotish

9818015458

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Astrology Services ›   Puja ›  

Samuhik Durga Saptashati Ka Vishesh Paath

इस नवरात्रि, सर्व सुख समृद्धि के लिए कामाख्या देवी शक्ति पीठ में करवाएं दुर्गा सप्तशती का विशेष पाठ - Durga Saptashati Path Online

By: माई ज्योतिष विशेषज्ञ

Rs. 2,100
Buy Now

देवी की पूजा के लाभ

  •  होगी सुख समृद्धि की प्राप्ति   
  •  क्रोध, लोभ और ईर्ष्या से छुटकारा पाएं। 
  •  सारी बीमारियों का होगा सर्वनाश 
  •   शीघ्र मनोवांछित फलों की होती है प्राप्ति  
  •   अपने व्यक्तिगत और व्यावसायिक संबंधों में सुधार करें।
  •    अपने जीवन की सभी बाधाओं को दूर करें।

दुर्गा सप्तशती शक्ति, भक्ति और समृद्धि की देवी से जुड़ा अत्यंत पावन धार्मिक ग्रंथ है। मान्यता है कि जब कोई इस पाठ का जप पूरे समर्पण के साथ करता है, तो उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं और शत्रुओं का नाश होता है। 

असम की राजधानी दिसपुर की पहाड़ियों में स्थित कामाख्या देवी का मंदिर सती के 51 शक्तिपीठों में से एक है । इस शक्तिपीठ का तांत्रिक महत्व भी बहुत है । ऐसा कहा जाता है कि यह जगह पूरे ब्रह्मांड का केंद्र बिंदु है । इस मंदिर में कामाख्या देवी की सभी दस महाविद्दाओं में पूजा की जाती है । 9 दिनों की नवरात्रि शक्ति की उपासना के लिए शुभ मानी जाती है इसलिए नवरात्रि के समय यहां पर पूजा कराना विशेष शुभफलदायक होता है । इसलिए इस नवरात्रि शुभफल प्राप्ति के लिए कराएं दुर्गा सप्तशती का विशेष पा

यह पूजा कैसे की जाएगी?

पूजा ऑर्डर करने के पश्चात, एक दिन पहले हमारे द्वारा आपको फोन पर सारी जानकारी दी जाएगी व पूजा के दिन पंडित जी द्वारा फोन पर आपका संकल्प कराया जाएगा ।

प्रसाद: 

  • लाल कपड़ा
  • पंचमेवा
  • माता की मौली
  • कामाख्या देवी की फोटो

जानिये हमारे पंडित जी के बारे में

Benefits of Durga Saptashati Path Online

Durga saptashati is a religious Hindu text which is also known as Devi Mahatmyam or chandipath. This text tells us that Goddess Durga is the creator of universe and she is the supreme power. The form of durga we know today has been mainly shaped by these written texts. Durga saptashati path is arranged in 13 chapters which contains 700 verses. 

The series is divided into three parts: 

Part I – this part contains a brief summary of Saptashati’s Narrative

Part II – these are major lessons learnt from durga Saptashati that can be used in contemporary world. 

Part III – this part re-define the meaning of Kanyapujan

This text marks victory of good over evil. This is a story in which maa durga kills demn mahishasur for his evil deeds. Navratri is the best time to do durga saptashati path. People believe that reading this text during navratri have added benefits and also earns faster results. Shardiya navratri 2020 will start from 17th October’2020 that is Saturday. 

Maa durga saptashati path is very auspicious text and is believed to eliminate all the problems and obstacles from life. Married couple facing marital issues should do this path. Reciting this text tends to give strength and power during difficult times. This text outlines the fact that females are the ultimate reality and creator of Universe. 

Durga Saptashati is as important as Bhagwad Gita. Benevolent form of Durga is called Vindhyavasi and it is also known as adi Aparshakti. It is located in vindhyachal, in Mirzapur district of Uttar Pradesh. She is known as Vindhyavasini as she resides in Vindhyachal mountains. It is believed that Goddess Durga herself lives here in this Shaktipeeth. People in large quantity visit this place to seek blessings of Maa durga.

Kamakhya devi is one of the oldest shaktipeeth. Kamakhya devi shaktpeeth is situated in Nilachal hill in Assam. It is an important pilgrimage centre for hindus and people from all over the country visit this temple during navratri.

ऑनलाइन दुर्गा सप्तशती पाठ के लाभ

दुर्गा सप्तशती एक धार्मिक हिंदू पाठ है जिसे देवी महात्म्यम या चंडीपाठ के नाम से भी जाना जाता है। यह पाठ हमें बताता है कि देवी दुर्गा ब्रह्मांड की निर्माता हैं और वे सर्वोच्च शक्ति हैं। आज हम जिस दुर्गा के रूप को जानते हैं, वह मुख्य रूप से इन लिखित ग्रंथों द्वारा निर्मित है। दुर्गा सप्तशती पाठ को 13 अध्यायों में व्यवस्थित किया गया है जिसमें 700 श्लोक हैं।

श्रृंखला को तीन भागों में बांटा गया है:

भाग I - इस भाग में सप्तशती की कथा का संक्षिप्त सारांश है। 

भाग II -  यह दुर्गा सप्तशती से सीखे गए प्रमुख सबक हैं जिनका उपयोग समकालीन दुनिया में किया जा सकता है।

भाग III - यह भाग कन्या पूजन के अर्थ को फिर से परिभाषित करता है। 

यह पाठ बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है। यह एक कहानी है जिसमें माँ दुर्गा अपने बुरे कर्मों के लिए राक्षस महिषासुर का वध करती हैं। नवरात्रि दुर्गा सप्तशती पाठ करने के लिए सबसे अच्छा समय है। लोगों का मानना है कि नवरात्रि के दौरान इस पाठ को पढ़ने से अधिकतम लाभ मिलता है और इससे अच्छे परिणाम प्राप्त होते हैं। शारदीय नवरात्रि 2020 17 अक्टूबर से शुरू होगी। 

माँ दुर्गा सप्तशती पाठ बहुत ही शुभ पाठ है और माना जाता है कि यह जीवन से सभी समस्याओं और बाधाओं को समाप्त करता है। वैवाहिक मुद्दों का सामना कर रहे विवाहित जोड़े को यह रास्ता अपनाना चाहिए। इस पाठ को याद करने से कठिन समय के दौरान शक्ति मिलती है। यह पाठ इस तथ्य को रेखांकित करता है कि महिलाएं ब्रह्मांड की अंतिम वास्तविकता और निर्माता हैं। दुर्गा सप्तशती भागवद् गीता जितनी महत्वपूर्ण है।

दुर्गा के परोपकारी रूप को विंध्यवासिनी कहा जाता है और इसे आदि अपशक्ति के रूप में भी जाना जाता है। यह उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिले में विंध्याचल में स्थित है। उन्हें विंध्यवासिनी के रूप में जाना जाता है क्योंकि वह विंध्याचल के पहाड़ों में निवास करती है। यह माना जाता है कि देवी दुर्गा स्वयं इस शक्तिपीठ में रहती हैं। बड़ी संख्या में लोग माँ दुर्गा का आशीर्वाद लेने के लिए इस स्थान पर जाते हैं।

कामाख्या देवी सबसे पुराने शक्तिपीठों में से एक है। कामाख्या देवी शक्तपीठ असम में नीलाचल पहाड़ी पर स्थित है। यह हिंदुओं के लिए एक महत्वपूर्ण तीर्थस्थल है और पूरे देश के लोग इस मंदिर में नवरात्रि के दौरान आते हैं।


FAQ

 

When should we do Durga Saptashati Path?
Durga Saptashati is a holy hindi scripture which personifies the glory of Devi Durga. One can pray to devi durga daily. But it is believed navratri is a special time to impress devi and one should chant and read Durga Saptashati Path. On normal days one can do this path on Tuesdays, Fridays and Saturdays.

What are the benefits of Durga Saptashati Path Online?
Durga Saptashati is an auspicious scripture. It reduces life problems and also helps in solving martial problems. If you are facing problems in reading you can easily book Durga Saptashati Path Online. It is an easy way to get maximum benefits. 

How many adhyay are there in Durga Saptashati?
Durga Saptashati Path is also known as Devi Mahatmyam or chandipath. This path contains 700 verses which are accumulated in 13 chapters. This is a story which explains how Goddess Durga fight evil demon Mahishasur. It remarks victory of good over evil. 

Can we read Durga Saptashati daily?
We pray to god daily and reading durga Saptashati is praying to Goddess Durga. So yes you can read it Daily as it has its own benefits. Reading durga Saptashati eliminates all the fears and the reader becomes mentally stronger and it also reduces anxiety. People who read durga Saptashati with dedication receive success in all aspects of life. 

Is Kamakhya Devi a Shaktipeeth?
Yes Kamakhya Devi also known as Kamrup-Kamakhya temple is a Shaktipeeth. It is one the oldest Shaktipeeth situated in Nilachal Hill, Guwahati city in Assam, India. This place have ten different mahashaktis temple where in main temple resides Tripurasundari, Matangi and Kamala and all other devis have separate temples. It is an important worshipping place for hindus.

हमें दुर्गा सप्तशती पाठ कब करना चाहिए?
दुर्गा सप्तशती एक पवित्र हिंदी ग्रंथ है जो देवी दुर्गा की महिमा का वर्णन करता है। कोई भी रोजाना देवी दुर्गा से इस पाठ के माध्यम से प्रार्थना कर सकता है। लेकिन यह माना जाता है कि नवरात्रि देवी दुर्गा को प्रभावित करने का एक विशेष समय है और इस दौरान दुर्गा सप्तशती पाठ जरूर करना चाहिए। सामान्य दिनों में कोई भी व्यक्ति मंगलवार, शुक्रवार और शनिवार को यह पाठ कर सकता है।

दुर्गा सप्तशती पाठ ऑनलाइन के क्या लाभ हैं?
दुर्गा सप्तशती एक शुभ ग्रंथ है। यह जीवन की समस्याओं को कम करता है और समस्याओं को हल करने में भी मदद करता है। अगर आपको पढ़ने में समस्या आ रही है तो आप आसानी से दुर्गा सप्तशती पाठ ऑनलाइन बुक कर सकते हैं। यह अधिकतम लाभ प्राप्त करने का एक आसान तरीका है। इस सुविधा के माध्यम से आप निसंकोच अपनी समस्या से छुटकारा पा सकते है। 

दुर्गा सप्तशती में कितने अध्याय हैं?
दुर्गा सप्तशती पाठ को देवी महात्म्यम या चंडीपाठ के नाम से भी जाना जाता है। इस पाठ में 700 छंद हैं जो 13 अध्यायों में संचित हैं। यह एक कहानी है जो बताती है कि कैसे देवी दुर्गा दुष्ट राक्षस महिषासुर से लड़ती हैं। यह बुराई पर अच्छाई की जीत की विशेषता को जग के समक्ष उजागर करता है। 

क्या हम प्रतिदिन दुर्गा सप्तशती का पाठ कर सकते हैं?
हम प्रतिदिन भगवान से प्रार्थना करते हैं और दुर्गा सप्तशती का पाठ करते हुए देवी दुर्गा से प्रार्थना कर सकते हैं। तो हाँ आप इसे रोज पढ़ सकते हैं क्योंकि इसके अपने फायदे हैं। दुर्गा सप्तशती का पाठ करने से सभी भय समाप्त हो जाते हैं और पाठक मानसिक रूप से मजबूत होता है और यह चिंता को भी कम करता है। जो लोग समर्पण के साथ दुर्गा सप्तशती का पाठ करते हैं उन्हें जीवन के सभी पहलुओं में सफलता मिलती है।

क्या कामाख्या देवी एक शक्तिपीठ है?
हाँ कामाख्या देवी को कामरूप-कामाख्या मंदिर के नाम से भी जाना जाता है, वह एक शक्तिपीठ है। यह भारत में असम, गुवाहाटी शहर में नीलाचल पर्वत पर स्थित सबसे पुराना शक्तिपीठ है। इस स्थान पर दस अलग-अलग महाशक्ति मंदिर हैं जहाँ मुख्य मंदिर में त्रिपुरसुंदरी, मातंगी और कमला निवास करती हैं और अन्य सभी देवी-देवताओं के अलग-अलग मंदिर हैं। यह हिन्दुओं के लिए एक महत्वपूर्ण पूजा स्थल है।


Recent Blogs



Ratings and Feedbacks


अस्वीकरण : myjyotish.com न तो मंदिर प्राधिकरण और उससे जुड़े ट्रस्ट का प्रतिनिधित्व करता है और न ही प्रसाद उत्पादों का निर्माता/विक्रेता है। यह केवल एक ऐसा मंच है, जो आपको कुछ ऐसे व्यक्तियों से जोड़ता है, जो आपकी ओर से पूजा और दान जैसी सेवाएं देंगे।

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X