myjyotish

6386786122

   whatsapp

6386786122

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Astrology Services ›   Puja ›  

Navaraatri Par Kanya Poojan Se Hongee Maan Prasann, Karengee Sabhee Manokaamanaen Pooree : 17 April 2024

नवरात्रि पर कन्या पूजन से होंगी मां प्रसन्न, करेंगी सभी मनोकामनाएं पूरी : 17 अप्रैल 2024

By: Myjyotish Expert

Rs. 1,100
Buy Now

पूजा के फायदे :-

  • धन व ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है। 
  • वंश आगे बढ़ता है। 
  • शत्रुओं का नाश होता है। 
  •  दुःख ,रोग व बीमारियों से छुटकारा मिलता है। 
  •  भोग और मोक्ष की प्राप्ति होती है।

नवरात्र में क्यों कराया जाता है कन्या पूजन ?

नवरात्र पर्व के दौरान कन्या पूजन का बड़ा महत्व है. नौ कन्याओं को नौ देवियों के प्रतिबिंब के रूप में पूजने के बाद ही भक्तों का नवरात्र व्रत पूरा होता है। सभी शुभ कार्यों का फल प्राप्त करने के लिए कन्या पूजन किया जाता है। कुमारी पूजन से सम्मान,धन, विद्या और तेज प्राप्त होता है।  इससे विघ्न, भय और शत्रुओं का नाश भी होता है। होम, जप और दान से देवी इतनी प्रसन्न नहीं होतीं जितनी कन्या पूजन से होती है।

नवरात्रि के नौ दिनों तक भक्त पूरी भक्तिभाव से माता की उपासना करते हैं परन्तु नवरात्रि पूजन और व्रत तभी संपन्न माने जाते हैं, जब अंतिम दिन कन्या पूजन किया जाए।नवरात्र के दौरान कन्या पूजन का विशेष महत्व होता है। कन्या पूजन के रूप में देवी दुर्गा के नौ स्वरूपों को नौ कन्याओं के रूप में पूजा जाता है। भक्त अपने सामर्थ अनुसार कन्याओं को भोग लगाकर दक्षिणा प्रदान करते है। कन्या पूजन के बाद ही नवरात्र की पूजा को सफल माना जाता है। कन्या पूजन से माँ दुर्गा अत्यंत प्रसन्न होती है तथा अपने भक्तों के सभी दुःख हर लेती है। नवरात्र के आखरी दो दिन यानि अष्टमी और नवमी  को कन्याओं के नौ रूप मान कर कन्याओं की पूजा की जाती है। मान्यताओं के अनुसार एक बार माता वैष्णों देवी ने अपने परम भक्त पंडित श्रीधर की भक्ति से प्रसन्न होकर उनकी न सिर्फ लाज बचाई थी बल्कि पूरी सृष्टि को अपने होने का अस्तित्व भी दिया है।

हमारी सेवाएं :- अष्टमी व नवमी में से इच्छानुसार आप किसी भी एक दिन कन्या पूजन  करवा सकते है। पूजा में आपकी ओर से सात कन्याओं को हलवा पूरी का भोग खिलाया जाएगा तथा उन्हें

एक प्रसाद का पैकेट भी दिया जाएगा जिसमें होगा  :-

1.सेब

2.केला 

3.नमकीन का पैकेट 

4.बिस्कुट का पैकेट 

5.एक 10 रुपया का नोट 

इस पूजन की तस्वीर आपके साथ  व्हाट्सप्प पर साझा की जाएगी।

जानिये हमारे पंडित जी के बारे में

FAQ

नवरात्रि कन्या पूजन कैसे करें?
कन्या पूजन एक पवित्र अनुष्ठान है जो अश्विन और चैत्र नवरात्रि दोनों के आठवें और नौवें दिन हिंदुओं द्वारा किया जाता है। इस पूजन में नौ कन्याओं की पूजा होती है। नौ लड़कियां मां दुर्गा के नौ अलग-अलग रूपों का प्रतिनिधित्व करती हैं। यह अनुष्ठान अक्सर घर में सभी लड़कियों का स्वागत करके शुरू किया जाता है, और फिर उनके पैर धोने का रिवाज होता है। पैर धोने के बाद लड़कियों को भोग भोजन और उपहार दिए जाते हैं। कन्या पूजन छोटी लड़कियों में निहित स्त्री शक्ति को मनाने के लिए किया जाता है।

नवरात्रि में हम क्यों करते हैं कन्या पूजन?
नवरात्रि नौ दिन तक चलने वाला हिंदू त्योहार है। यह हर साल मार्च, अप्रैल और अक्टूबर के महीने में मनाया जाता है जिसे आमतौर पर चैत्र और शारदीय नवरात्रि के रूप में जाना जाता है। नवरात्रि के आठवें और नौवें दिन कन्या पूजन किया जाता है। नवरात्रि बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है। नवरात्रि के नौ दिन पूरी तरह से देवी दुर्गा के नौ अवतारों को समर्पित हैं। कन्या पूजन इसलिए किया जाता है क्योंकि छोटी कन्याओं को माना जाता है कि वह माँ दुर्गा की प्रतिरूप हैं।

हमें कन्या पूजन में क्या देना चाहिए ?
छोटी लड़कियों को देवी दुर्गा की प्रतिकृति माना जाता है। नौ लड़कियां दुर्गा के नौ अवतार का प्रतिनिधित्व करती हैं। कन्या पूजन के अवसर पर लड़कियों का देवी की तरह पूजन किया जाता है। लड़कियों को जल चढ़ाया जाता है और फिर उन्हें शुद्ध घी में बनाया गया भोग प्रसाद प्रदान किया जाता है। प्रसाद में आम तौर पर चना पुरी और हलवा होता है। कुछ लोग देवी दुर्गा को प्रभावित करने के लिए पैसे और कुछ अन्य उपहार भी देते हैं।

कन्या कुमारी पूजा / कंजक पूजा क्या है?
हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार हर इंसान के अंदर भगवान होता है। और बच्चे शुद्ध और निर्दोष हैं और इस कारण उन्हें देवी स्वरुप मानकर उनसे प्रार्थना करने से तेजी से परिणाम प्राप्त होते है। यह भी माना जाता है कि कन्या पूजन देवी दुर्गा का आशीर्वाद पाने का एक आसान तरीका है। रिवाज की शुरुआत सभी नौ लड़कियों के पैर धोने से होती है। फिर लोग उनकी आरती करते हैं और तिलक लगाते हैं। फिर लड़कियों को भोजन और पानी दिया जाता है और कुछ लोग उन्हें विदा करने से पहले उपहार और पैसे भी देते हैं।

ऑनलाइन नवरात्रि कन्या पूजा के क्या लाभ हैं?
कन्या पूजन नवरात्रि पूजा का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह जीवन से सभी बाधाओं और कठिनाइयों को दूर करने के लिए जाना जाता है। यह जीवन में सौभाग्य और धन की प्रचुरता लाता है। यह बुरी ऊर्जाओं को भी नष्ट करता है, इसलिए पूजा की सही विधि का पालन करना बहुत महत्वपूर्ण होता है। ऑनलाइन मार्गदर्शन आपको अनुष्ठानों के लाभों को अधिकतम करने में मदद करता है। आपको विशेषज्ञों की निगरानी मिलती है और वह पूरी प्रक्रिया के माध्यम से आपका मार्गदर्शन प्रदान कर सकते हैं।


ये भी पढ़ें



Ratings and Feedbacks


अस्वीकरण : myjyotish.com न तो मंदिर प्राधिकरण और उससे जुड़े ट्रस्ट का प्रतिनिधित्व करता है और न ही प्रसाद उत्पादों का निर्माता/विक्रेता है। यह केवल एक ऐसा मंच है, जो आपको कुछ ऐसे व्यक्तियों से जोड़ता है, जो आपकी ओर से पूजा और दान जैसी सेवाएं देंगे।

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X